Sunday , October 24 2021
Breaking News
Home / खबर / चीन ने बनाया कोरोना: वुहान लैब में कैद कर रखे थे जिंदा चमगादड़, पहली बार सामने आया Video

चीन ने बनाया कोरोना: वुहान लैब में कैद कर रखे थे जिंदा चमगादड़, पहली बार सामने आया Video

दुनियाभर में कोरोना महामारी फैलाने को लेकर आरोपों से घिरे चीन की वुहान लैब में पिंजरे के अंदर चमगादड़ों को रखा जाता था। वुहान लैब से पहली बार सामने आई तस्‍वीरों में यह खुलासा हुआ है। वुहान लैब की इन तस्‍वीरों ने विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) के उस दावे खारिज कर दिया है जिसमें उसने कोरोना के वुहान लैब से निकलने के संदेह को ‘षडयंत्र’ करार दिया था।

चाइना अकादमी ऑफ साइंस के मई 2017 के आधिकारिक वीडियो में चमगादड़ों को पिंजड़े में कैद करके रखा दिखाया गया था। इस वीडियो को वुहान लैब में नए बॉयोसेफ्टी लेवल 4 के हिसाब से सुरक्षा शुरू होने पर जारी किया गया था। इसमें हादसा होने की सूरत में सुरक्षा मानकों को लेकर बताया गया था। इसमें लैब के निर्माण को लेकर फ्रांसीसी सरकार के साथ काफी विवाद के बारे में भी बताया गया था।

चमगादड़ों को कीड़े खिलाते नजर आ रहे वैज्ञानिक
वीडियो में यह भी नजर आ रहा है कि वैज्ञानिक चमगादड़ों को कीड़े खिलाते नजर आ रहे हैं। इस 10 मिनट के वीडियो को पूरी तरह से वुहान लैब के निर्माण पर केंद्र‍ित किया गया है। इसमें कई वैज्ञानिकों के साक्षात्‍कार भी दिखाए गए हैं। इससे पहले डब्‍ल्‍यूएचओ ने अपनी कोरोना की उत्‍पत्ति की जांच रिपोर्ट में यह नहीं बताया था कि वुहान लैब में चमगादड़ों को रखा जाता था। जांच रिपोर्ट में सिर्फ इतना ही कहा था कि पशुओं को वुहान लैब में रखा जाता था।

डब्‍ल्‍यूएचओ के एक विशेषज्ञ पीटर दास्‍जाक ने तो यहां तक कह दिया था कि वुहान लैब में चमगादड़ रखे जाने का दावा एक साजिश है। चाइना अकादमी ऑफ साइंस के इस वीडियो की खोज शोधकर्ताओं के एक ऐसे दल ने खोज निकाला है जो खुद को DRASTIC बुलाते हैं। ये शोधकर्ता कोरोना वायरस के उत्‍पत्ति का पता लगाने के लिए काम कर रहे हैं। इससे पहले कई शोधकर्ताओं ने दावा किया था कि वुहान लैब में चमगादड़ रखे जाते हैं।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...