Saturday , September 25 2021
Breaking News
Home / क्राइम / जब हथिनी को फांसी पर लटका कर दी गई मौत की सज़ा, यहाँ जाने पूरा सच !

जब हथिनी को फांसी पर लटका कर दी गई मौत की सज़ा, यहाँ जाने पूरा सच !

ये घटना सितंबर 1916 की है । चार्ली स्पार्क नाम का एक सर्कस, अमेरिका के टेनेसी राज्य के किंग्सपोर्ट शहर पहुंचा था। इस सर्कस में मैरी नाम की एक हथिनी भी काम करती थी। शहर में पहुंचने के बाद सर्कस का प्रचार प्रसार करने के लिए शहर की सड़कों पर एक जुलूस निकालना तय किया गया।

मैरी को भी इस परेड में शामिल होना था। मैरी का महावत उस वक्त मौजूद नहीं था और 38 साल के वाल्टर एल्ड्रिज को मैरी को परेड में घुमाने की जिम्मेदारी दी गई। वाल्टर को हाथियों के बारे में ज्यादा मालूम नहीं था लेकिन उसको बताया गया कि जब तक महावत हाथी पर बैठकर उसको अंकुश से डराता रहेगा तब तक सबकुछ ठीक रहेगा।

वाल्टर राजी हो गया, तय वक्त पर परेड की शुरुआत भी हो गई। सर्कस के तमाम कलाकार रोड पर चलते-चलते अपने करतब दिखा रहे थे। मैरी भी पूरी तरह से सजी-धजी परेड में चल रही थी। अचानक रास्ते में उसकी नजर एक तरबूज पर पड़ी, मैरी तरबूज खाने के लिए रुक गई।

मैरी को आगे बढ़ाने के लिए वाल्टर ने कई बार उसके सिर पर अंकुश से वार किए। बार-बार हुए वार से मैरी को गुस्सा आ गया। उसने वाल्टर को सूंड से पकड़कर जमीन पर गिरा दिया और फिर पैरों से उसका सिर कुचल डाला। वाल्टर की मौके पर ही मौत हो गई। सरेराह जिस तरीके से वाल्टर को मैरी ने मारा उसे देखकर लोग गुस्से से भर गए और मैरी को मौत के घाट उतार देने की मांग जोर पकड़ने लगी।

यहां तक की सर्कस में काम करने वाले लोग वाल्टर की मौत से दुखी थे और वो भी मैरी को मौत की सजा देने की मांग कर रहे थे। सर्कस के मालिक स्पार्क पर मैरी को मौत के घाट उतारने का दबाव बढ़ता जा रहा था और उसने लोगों को आश्वासन भी दिया था कि वो जल्द ही मैरी को मौत की सजा देगा। मैरी को किस तरह से मौत की सजा दी जाए इसके बारे में सोचा गया और फिर तय किया गया कि मैरी को फांसी पर लटकाकर मौत के घाट उतारा जाएगा।

इस काम के लिए स्पार्क ने किंग्सटोन के पास के ही शहर इरविन से 100 टन वजन उठाने वाली क्रेन का चुनवा किया । ये क्रेन रेल के डिब्बे उठाने के काम आती थी। स्पार्क ने लोगों से एक सौदा किया उसने शहर के लोगों को कहा कि वो क्रेन का किराया अगर देंगे तो इसके बदले वो लोगों को मैरी की फांसी देखने का मौका देगा।

मैरी को रेलवे यार्ड ले जाया गया उसको एक ट्रेन से बांधा गया और उसके गले में लोहे की चेन डाल दी गई। जैसे ही क्रेन ने मैरी को उठाया अचानक मैरी के चिंघाड़ने की तेज आवाज आई, वजह पता चली कि मैरी का पांव अभी भी ट्रेन से बंधा हुआ था जिसकी वजह से बुरी तरह से उसके पांव में चोट लगी थी। क्रेन ने मैरी को पांच फीट ऊपर ही उठाया था कि उसको उठाने वाली चेन टूट गई।

ऊपर से नीचे गिरने की वजह से मैरी के कूल्हों की हड्डी टूट गई लेकिन तब भी लोगों को मैरी पर दया नहीं आई। लोहे की और मोटी चेन लाई गई और मैरी को फिर से लटकाया गया। मैरी को लटकाने के बाद उसे आधा घंटे के लिए टांग कर छोड़ दिया गया। दम घुटने से मैरी की मौत हो चुकी थी।

जानवरों के डॉक्टर ने मैरी की जांच की और उसे मृत घोषित कर दिया । मैरी को अमेरिका के इरविन शहर में दफनाया गया लेकिन उसकी कब्र के बारे में किसी को पता नहीं है। किसी जानवर को फांसी देने का ये इकलौता ही मामला है।

 

 

loading...

Check Also

पंजाब के नए मुख्यमंत्री का भांगड़ा वाला वीडियो हुआ वायरल तो एक्ट्रेस स्वरा का यूं आया रिएक्शन

नई दिल्ली :  पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का एक वीडियो सोशल मीडिया ...