Thursday , October 28 2021
Breaking News
Home / खबर / जानिए क्यों फेसबुक इंस्टा और वॉट्सऐप हो गए थे डाउन, जिससे परेशान हुई आधी दुनिया

जानिए क्यों फेसबुक इंस्टा और वॉट्सऐप हो गए थे डाउन, जिससे परेशान हुई आधी दुनिया

नई दिल्ली । वॉट्सऐप के अलावा सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म फेसबुक और इंस्टाग्राम रात अचानक से डाउन हो गए। दुनियाभर के करोड़ों यूजर्स को इनके डाउन होने से काफी परेशानी हुई। वॉट्सऐप यूजर्स न तो मेसेज भेज पा रहे थे और न ही रिसीव कर पा रहे थे। इसी तरह फेसबुक पर यूजर्स को पुराने कॉन्टेंट ही दिख रहे थे। इस दिक्कत के कारण इंस्टाग्राम यूजर्स को भी स्टोरी और रील्स को ऐक्सेस करने में परेशानी हो रही थी। हालांकि, करीब 6 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद ये सभी सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म ने फिर से काम करना शुरू कर दिया।

तो आइए जानते हैं दुनिया भर के यूजर्स के लिए वॉट्सऐप, फेसबुक और इंस्टा अचानक क्यों डाउन हो गए दुनियाभर के साइबरक्राइम स्पेशलिस्ट्स और रिसर्चर्स ने इस तरह के ग्लोबल आउटेज की असल वजह जानने की कोशिश की। ब्रायन क्रेब्स नाम के एक साइबरक्राइम रिपोर्टर के अनुसार इन प्लैटफॉर्म्स के डाउन होने का कारण बीजीपी यानी बॉर्डर गेटवे प्रोटोकॉल में आने वाली गड़बड़ी है। बीजीपी के कारण ही इंटरनेट सही तरह से काम कर पाता है। इंटरनेट बहुत सारे नेटवर्क्स का नेटवर्क है और बीजीपी का काम इन नेटवर्क्स को एक साथ जोड़े रखना है। अगर बीजीपी में खामी आती है या यह किसी वजह से काम करना बंद कर देता है, तो इंटरनेट राउटर्स को समझ नहीं आता कि वे क्या करें और इससे इंटरनेट काम करना बंद कर देता है। बड़े राउटर्स अपने रूट्स को अपडेट करते रहते हैं, ताकि आखिरी सोर्स तक नेटवर्क पैकेट्स को पहुंचाया जा सके। फेसबुक के मामले में यही गड़बड़ी हुई। फेसबुक के प्लैटफॉर्म आखिरी डेस्टिनेशन थे और बीजीपी में आई गड़बड़ी के कारण फेसबुक दूसरे नेटवर्क्स को यह बता नहीं पा रहा था कि वह इंटरनेट पर है।

फेसबुक, वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम में आई गड़बड़ी के पीछे डीएनएस को भी जिम्मेदार माना जा रहा है। डीएनएस यानी डोमेन नेम सिस्टम इंटरनेट का बेहद जरूरी हिस्सा होता है। यह एक तरह से इंटरनेट के लिए फोनबुक है। यह वह टूल है, जो डोमेन नेम जैसे फेसबुक को असल इंटरनेट प्रोटोकॉल में कन्वर्ट करता है। डीएनएस में आई गड़बड़ी के कारण ही यूजर के ब्राउजर या स्मार्टफोन ऐप फेसबुक की सर्विसेज तक नहीं पहुंच पा रहे थे। ग्लोबल आउटेज के बारे में फेसबुक ने कन्फर्म कर दिया है कि यह कोई साइबर अटैक नहीं था। कंपनी ने कहा कि इस आउटेज का मुख्य कारण गलत कॉन्फिगरेशन चेंज था। फेसबुक ने यह भी कहा कि इस गड़बड़ी के कारण कंपनी के 3.5 अरब यूजर्स को सोशल मीडिया और मेसेजिंग सर्विसेज को ऐक्सेस करने में परेशानी हुई। कंपनी ने आगे यह भी कहा कि उनके पास अभी ऐसा कोई सबूत मौजूद नहीं है, जिससे यह पता चले की इस आउटेज में यूजर्स के डेटा के साथ कोई छेड़छाड़ हुई है।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...