Sunday , September 26 2021
Breaking News
Home / क्रिकेट / ओलंपिकः बजरंग पूनिया हैं गोल्डन उम्मीद, जानें इनका शानदार रिकॉर्ड

ओलंपिकः बजरंग पूनिया हैं गोल्डन उम्मीद, जानें इनका शानदार रिकॉर्ड

टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में देश के स्टार रेसलर बजरंग पूनिया से सभी को गोल्ड की उम्मीद है. वह पहली बार ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. 65 किलोग्राम वर्ग में देश का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. टोक्यो ओलंपिक में कुश्ती में रवि दाहिया ने देश को सिल्वर जीताया है. वहीं, अब बजरंग पूनिया से गोल्ड जीतने की उम्मीद की जा रही है. क्योंकि अभी तक उन्होंने हर टूर्नामेंट में अपनी छाप छोड़ी है.

हरियाणा के झज्जर जिले के खुदन गांव के रहने वाले बजरंग पूनिया के नाम सात साल की उम्र से कुश्ती खेल रहे हैं और कई अंतरराष्ट्रीय पदक हैं. वर्ल्ड U-23 चैंपियनशिप, कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स, एशियन चैंपियनशिप और वर्ल्ड चैंपियनशिप तक में बजरंग ने पदक जीते हैं.

बजरंग पूनिया के नाम मेडल

– रजत – विश्व कुश्ती चैंपियनशिप, नूर-सुल्तान, 2019 (65 किग्रा)

– रजत – विश्व कुश्ती चैंपियनशिप, बुडापेस्ट, 2018 (65 किग्रा)

– कांस्य – विश्व कुश्ती चैंपियनशिप, हंगरी, 2013 (60 किग्रा)

– रजत – एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप, अल्माटी, 2021 (65 किग्रा)

– रजत – एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप, नई दिल्ली, 2020 (65 किग्रा)

– स्वर्ण – एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप, शीआन, 2019 (65 किग्रा)

– कांस्य – एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप, बिश्केक, 2018 (65 किग्रा)

– स्वर्ण – एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप, नई दिल्ली, 2017 (65 किग्रा)

– रजत – एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप, अस्ताना, 2014 (61 किग्रा)

– कांस्य – एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप, नई दिल्ली, 2013 (60 किग्रा)

– स्वर्ण – कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड कोस्ट, 2018 (65 किग्रा)

– रजत – कॉमनवेल्थ गेम्स ग्लासगो, 2014 (61 किग्रा)

– स्वर्ण – एशियन गेम्स, जकार्ता, 2018 (65 किग्रा)

– रजत – एशियन गेम्स, इंचियोन, 2014 (61 किग्रा)

loading...

Check Also

कानपुर : आपसे लक्ष्मी माता है नाराज, शिक्षिका से लाखों रुपए की टप्पेबाजी कर फरार हुए शातिर

तीन थानों की पुलिस फोर्स संग मौके पर पहुंचे एडीसीपी कानपुर  । शहर के सीसामाऊ ...