Sunday , May 16 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / UP में कोरोना हुआ बेकाबू: 24 घंटों में आए 30,317 नए केस, जानें कितने हुए ठीक

UP में कोरोना हुआ बेकाबू: 24 घंटों में आए 30,317 नए केस, जानें कितने हुए ठीक

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 18 साल से ऊपर के लोगों के लिए मुफ्त टीकाकरण अभियान की शुरुआत करने अवंतीबाई अस्पताल पहुंचे । इससे पहले सीएम योगी ने मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध कराने के अभियान की पूरी रात मानिटरिंग करते रहे। बीते शुक्रवार देर शाम अपना स्टेट प्लेन भेज कर हैदराबाद से वैक्सीन की खेप मंगवाई।

वहीं पिछले 24 घंटे में प्रदेश में कोविड के 30,317 नए केस आए, जबकि 38826 लोग स्वस्थ हुए हैं। बीते 24 घंटों में प्रदेश में 2,66,326 कोविड टेस्ट हुए। इसमें 1,14,172 टेस्ट केवल आरटी-पीसीआर के माध्यम हुए हैं। अब तक उत्तर प्रदेश में 4.10 करोड़ टेस्ट हो चुके हैं। यह देश के सभी राज्यों में सर्वश्रेष्ठ है।

7 जिलों के 85 सेंटरों पर जारी है वैक्सीनेशन


सीएम योगी ने कहा कि, शनिवार से 18+ के वैक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू हुआ है। 7 जिलों के 85 सेंटरों पर वैक्सीनेशन शुरू हो गया है, ज्यादा प्रभावित जिलों को पहले चुना। 45+ के लिए तीसरे चरण का कार्यक्रम शुरू, वैक्सीनेशन के कार्यक्रम निशुल्क है, ‘केंद्र-प्रदेश सरकार हर संभव प्रयास कर रही’, इस महामारी में बचाव ही बेहतर उपाय, मेरी अपील है कि अनावश्यक न निकलें, बुजुर्ग-बच्चे घर पर हीं रहें।

सीएम योगी के साथ बैठक में लिए गए निर्णय

  • 1 मई से प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के कोविड टीकाकरण की प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है। वैक्सीन वेस्टेज को न्यूनतम रखने के प्रयासों और नए टीकाकरण सॉफ्टवेयर के ट्रायल के दृष्टिगत अधिक संक्रमण दर वाले सात जनपदों में 85 केंद्रों पर 18-44 आयु वर्ग का टीकाकरण किया जा रहा है। इसे चरणबद्ध रूप से पूरे प्रदेश में लागू किया जाएगा। इसी के साथ-साथ प्रदेश में 2500 केंद्रों पर 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण पूर्ववत जारी है।
  • कोविड से लड़ाई में टीकाकरण अहम है। देश मे सर्वाधिक टीकाकरण उत्तर प्रदेश में हुआ है। निशुल्क टीकाकरण की घोषणा करने वाला उत्तर प्रदेश प्रथम राज्य है। हम सभी नागरिकों के वैक्सीनेशन के लिए नियोजित भाव से कार्य कर रहे हैं।
  • बदलती परिस्थितियों के बीच हमें अस्पतालों में प्रशिक्षित मानव संसाधन की आवश्यकता होगी। ऐसे में, एक्स सर्विस मैन, सेवानिवृत्त चिकित्सक, आर्मी के रिटायर्ड लोग, अनुभवी पैरामेडिकल स्टाफ, मेडिकल/पैरामेडिकल के अन्तिम वर्ष के छात्र/छात्राओं की सेवाएं ली जानी चाहिए। बेहतर हो कि प्रदेश में मैन पावर बैंक जैसा प्रयास किया जाए। जहां जैसी आवश्यकता हो, मानव संसाधन को उपलब्ध कराया जा सकेगा। चिकित्सा शिक्षा मंत्री इस दिशा में कार्रवाई सुनिश्चित कराएं।
  • उत्तर प्रदेश में रेमडेसिविर की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए भारत सरकार द्वारा प्रतिदिन 50,000 वॉयल का नया आवंटन किया गया है। यह नवीन आवंटन प्रदेश में रेमडेसिविर की आपूर्ति सुचारु रखने में बहुत उपयोगी होगी। स्वास्थ्य मंत्री इस जीवनरक्षक दवा की मांग और आपूर्ति के वितरण की स्वयं मॉनिटरिंग करें। मांग, आपूर्ति और वितरण की पूरी प्रक्रिया पारदर्शी ढंग से संपन्न होनी चाहिए।
  • मरीज के परिजनों के साथ संवेदनशील व्यवहार किया जाना अपेक्षित है। हमारा सहयोगपूर्ण रवैया परिजन के लिए इस आपदाकाल में बड़ा सम्बल होगा। हेल्पलाइन में सेवाएं दे रहे कार्मिकों समुचित जानकारी दें। यदि कोई व्यक्ति किसी मरीज के लिए ऑक्सीजन सिलिंडर की रीफिलिंग के लिए जा रहा है तो उसे यथासंभव सहयोग करे, उसे रोका न जाए। अस्पताल में भरती मरीज़ों के परिजनों को दिन में कम से कम एक बार उनके मरीज के स्वास्थ्य की जानकारी जरूर दी जाए। स्वास्थ्य मंत्री इस व्यवस्था को सुनिश्चित कराएं।
loading...
loading...

Check Also

हिसार में हंगामा: कोविड अस्‍पताल का फीता काटने पहुंचे CM खट्टर का विरोध किए किसान, DSP को पीटा

हिसार में रविवार को 500 बिस्तर की क्षमता वाले अस्थायी कोविड अस्पताल का उद्घाटन करने ...