Thursday , October 28 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / योगी हैं रेडी: डेल्टा+ को लेकर टीम-09 से किए मीटिंग, जानें क्या बना प्लान

योगी हैं रेडी: डेल्टा+ को लेकर टीम-09 से किए मीटिंग, जानें क्या बना प्लान

लखनऊ. कोरोना वायरस पर लगभग काबू पा लिए जाने के बाद अब आशंकित डेल्टा प्लस वायरस काे लेकर प्रदेश में पहले से ही तैयारियां शुरू हाे गई हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( Chief Minister Yogi Adityanath ) ने कोविड-19 प्रबंधन के लिए गठित टीम-9 के साथ मिटिंग की। इस मीटिंग में अब तक की तैयारी और किए गए कार्यों की समीक्षा के साथ-साथ आने वाले खतरे के निपटने की तैयारियाें पर चर्चा हुई। सीएम ने कहा कि प्रदेश में पहले से ही पूर इंतजाम कर लिए जाएं।

मीटिंग ( meeting ) में सामने आया कि, यूपी में जून माह के लिए एक करोड़ वैक्सीन ( vaccine ) का लक्ष्य रखा गया था जिसके सापेक्ष 23 जून तक 97 लाख लोगों को टीका लग चुका है। 21 से 30 जून तक हर दिन न्यूनतम 06 लाख वैक्सीन लगाने का लक्ष्य भी पूरा हो रहा है। अब तक प्रदेश में दो करोड़ 80 लाख से अधिक वैक्सीन डोज लगाई जा चुकी हैं। मीटिंग में सीएम ने कहा कि, अब एक जुलाई से हर दिन न्यूनतम दस लाख लोगों को टीका लगेगा इसकी तैयारी पूरी कर लें।

मीटिंग में दिए गए ये निर्देश

सीएम ने कहा कि 25 करोड़ की आबादी वाले प्रदेश में महामारी पर नियंत्रण, बेहतर टीमवर्क का परिणाम है। वर्तमान में प्रदेश में कुल 3,552 संक्रमित मरीजों का इलाज हो रहा है जबकि महज 2149 लोग होम आइसोलेशन में उपचाराधीन हैं। प्रदेश में कोविड रिकवरी दर 98.5 फीसदी हो गई है। अब तक 05 करोड़ 62 लाख 71 हजार 231 कोविड टेस्ट हुए हैं और 16 लाख 79 हजार से अधिक लोग ठीक हुए हैं।

देश के कई राज्यों में कोविड-19 वायरस के नए वैरिएंट डेल्टा प्लस वैरिएंट (delta plus variant) संक्रमण के मरीज सामने आए हैं। हमें विशेष सतर्कता बरतनी होगी। इसके लिए राज्य स्तरीय स्वास्थ्य विशेषज्ञ परामर्शदाता समिति से संवाद करके आवश्यक रणनीति तय की जाए। प्रदेश की सीमा से लगे प्रदेश में डेल्टा प्लस वैरिएंट ( delta plus variant ) की पुष्टि को देखते हुए निकटस्थ जिलों से सैम्पल लेकर जीनोम सिक्वेंसिंग कराई जाए। जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए केजीएमयू, लखनऊ में आवश्यक सुविधाएं यथाशीघ्र मुहैया कराई जाएं।

कोविड की तीसरी लहर की आशंका देखते हुए सभी जरूरी प्रयास जल्द पूरे कर लिए जाएं। जाए। पीकू/नीकू की स्थापना की कार्यवाही तेज हो। बाइपैक मशीन, पीडियाट्रिक आईसीयू, मोबाइल एक्सरे मशीन सहित सभी जरूरी उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए। स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित किया जाए। पीडियाट्रिक विशेषज्ञ हो, नर्सिंग स्टाफ हो अथवा तकनीशियनों की जरूरत, जिलावार स्थिति का आकलन करते हुए पर्याप्त मानव संसाधन की व्यवस्था कराएं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के परामर्श के अनुसार सभी जरूरी उपयोगी दवाओं की खरीद कर ली जाए। अगले एक पखवारे के भीतर यह सभी कार्य पूरे कर लिए जाएं। बेसिक शिक्षा विभाग में जारी 69,000 शिक्षक पदों में से रिक्त पदों पर नियुक्ति के लिए काउंसिलिंग प्रक्रिया को सुचारु ढंग से पूरा कराएं। काउंसिलिंग शेड्यूल जारी किया जा चुका है। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अभ्यर्थियों की सुविधा का ध्यान रखा जाए।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...