Friday , July 30 2021
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / हलाल डेटिंग एप “Humdum” देगी जन्म दर को बढ़ावा, जानें पूरा मामला!

हलाल डेटिंग एप “Humdum” देगी जन्म दर को बढ़ावा, जानें पूरा मामला!

हलाल अर्थव्यवस्था की बात सुनी थी, पर हलाल डेटिंग एप? जी हाँ, अब ये भी संभव है। ईरान में घटते जन्म दर को बढ़ावा देने के लिए अब हलाल डेटिंग एप ‘हमदम’ को बढ़ावा दिया जा रहा है। यह शरीयत के अनुसार काम करेगी और शादी को बढ़ावा देगी।
हम मज़ाक नहीं कर रहे हैं, ऐसी एप सच में बन रही है, जो हलाल अप्रूव्ड होगी। अल जज़ीरा के रिपोर्ट के अंश अनुसार,

“ईरान के राष्ट्रीय टीवी की ओर से सूचना मिली है कि ईरानी प्रशासन ने एक इस्लामिक एप ‘हमदम’ लॉन्च की है, जो युवाओं में शादी की भावना को बढ़ावा देगी और उससे जुड़ी जानकारियाँ साझा करेंगी। ‘हमदम’ एप के बारे में ईरान के साइबर स्पेस पुलिस प्रमुख कर्नल अली मोहम्मद रजाबी ने कहा है कि ये सरकार द्वारा अधिकृत एकमात्र एप है और इसके अलावा अन्य सभी एप गैर कानूनी अनधिकृत माने जाएंगे”। ‘हमदम’ एप को टेबयान सांस्कृतिक संस्थान ने विकसित किया है, और इसका इस्तेमाल केवल अविवाहित लोग ही कर पाएंगे, जिसके लिए विशेष ‘आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस’ तकनीक विकसित हो रही है।

परंतु आखिर ईरान को ऐसी तकनीक ईजाद करने की जरूरत क्यों आन पड़ी? आखिर ईरान को अपना हलाल ‘टिंडर’ क्यों विकसित करना पड़ा। वजह स्पष्ट है – घटती आबादी। टेबयान संस्थान के प्रमुख कोमेल खोजास्तेह ने एप के अनावरण के दौरान कहा,

“हमारे परिवार अब शैतान के निशाने पर हैं। ईरान के दुश्मन अपने विचार हमारे ऊपर थोपना चाहते हैं। इसका मुकाबला करने के लिए हमें स्वस्थ परिवारों की जरूरत है, जिसके विकास में ‘हमदम’ एप बहुत सहायक रहेगा। हमदम एप के अनुसार यूजर्स को पहले अपनी पहचान सिद्ध करनी होगी और ब्राउज़ करने से पहले एक मनोवैज्ञानिक टेस्ट से गुजरना होगा। जब मैच बन जाएगा, तो यह एप परिवारों को मिलाएगा, जो युगल के साथ चार वर्षों तक रहेंगे, शादी के बाद भी”।

ईरान में घटती जन्म दर चिंता का विषय बन चुकी है। इस विषय पर ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्लाह अली खामनेई ने भी चिंता जताई है। मार्च में तो आबादी बढ़ाने के लिए ईरान की संसद ने एक विशेष बिल भी पारित करवाया था। इसके अंतर्गत सरकार के लिए यह बेहद आवश्यक है कि वह शादियों के लिए लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान करे, और लोगों को गर्भपात कराने से रोकें।

इन कानूनों को ईरान की शरीयत द्वारा स्वीकृत किया गया है। इस समय जहां देश कोरोना की पाँचवीं लहर का सामना करने की तैयारी कर रहा है, तो वहीं दूसरी ओर ईरान के प्रशासक अपने संसाधन इस दिशा में लगा रहे हैं कि कैसे देश की आबादी को और बढ़ाया जाए। इसीलिए ‘हमदम’ नामक हलाल डेटिंग एप को बढ़ावा दिया जा रहे हैं, चाहे ईरान कोरोना की बलि क्यों न चढ़ जाए।

loading...

Check Also

IND vs SL 3rd T20: भारत की शर्मनाक हार में करिश्माई कैच लपके श्रीलंकाई कप्तान, देखें Video

श्रीलंका के खिलाफ तीसरा टी20 मैच भारत की लचर बल्लेबाजी के लिए हमेशा याद किया ...