https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-91096054-1">
Tuesday , June 22 2021
Breaking News
Home / खबर / अनलॉक हुई दिल्ली: ऑड-ईवन के फॉर्मूले से खुलेंगी दुकानें, जानें पूरी गाइडलाइंस

अनलॉक हुई दिल्ली: ऑड-ईवन के फॉर्मूले से खुलेंगी दुकानें, जानें पूरी गाइडलाइंस

नई दिल्ली :  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कोविड-19 के मामले कम होने के मद्देनजर अगले हफ्ते से लॉकडाउन (Delhi Unlock 2.0) में और छूट दी गई है। सीएम केजरीवाल ने ऐलान किया है कि 7 जून से ऑड इवन (Shops And Mall Open in Delhi) की तर्ज पर दुकानें और मॉल खोले जाएंगे। केजरीवाल ने ऐलान किया है कि 50 फीसदी क्षमता के साथ मेट्रो शुरू की जाएगी। केजरीवाल ने कहा कि एक्सपर्ट्स ने कोरोना की तीसरी लहर का अनुमान जताया है। हमें इसकी भी तैयारी करनी है।

सीएम केजरीवाल का ऐलान
सीएम केजरीवाल ने ऐलान किया कि निजी दफ़्तर 50% क्षमता के साथ खोले जा सकते हैं। जरूरी सामान की दुकानें रोज खुलेंगी। दिल्ली मेट्रो 50% क्षमता के साथ शुरू की जा रही है। नई गाइडलाइंस के अनुसार सरकारी दफ़्तरों में ग्रुप ए ऑफिसर 100% और बाकी इसके नीचे वाले 50% ऑफिसर काम करेंगे। जरूरी सेवाओं में 100% कर्मचारी काम करेंगे।

अर्थव्यवस्था भी जरूरी
अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर लाना जरूरी है। पिछले हफ्ते फैक्ट्री और कंस्ट्रक्शन एक्टिविटी खोली थी। पिछले 24 घंटे में करीब 400 केस और 0.5 प्रतिशत संक्रमण दर है। सोमवार सुबह 5 बजे से काफी एक्टिविटी में रियायत दे रहे हैं। जितने बाजार, मॉल्स को ऑड-ईवन के आधार पर खुलेंगी। सुबह 10 बजे से शाम 8 बजे तक। दुकान नंबर के हिसाब से खुलेंगी। जितने सरकारी दफ्तर हैं, उनमें ग्रुप ए अधिकारी 100 प्रतिशत काम करेंगे, उसके नीचे वाले 50 प्रतिशत काम करेंगे. जरूरी सेवाओं से जुड़े सरकारी कर्मचारी 100 प्रतिशत काम करेंगे।

तीसरी वेव की तैयारी में दिल्ली सरकार
केजरीवाल ने कहा कि अगर तीसरी वेव आती है तो सरकार इसके लिए तैयार है। कल करीब 6 घंटे तक दो अलग मीटिंग में हिस्सा लिया। एक्सपर्ट के साथ बात की। इस बार कोरोना की जो पीक आई लगभग 28 हजार केस 22 या 23 अप्रैल के आसपास आई। अगली पीक कितनी हो सकती है। अगली पीक 37 हजार हो सकती है। इसे मानकर तैयारी शुरू की. इससे ज्यादा केस आए, उसके लिए भी तैयार हैं। अगर 37 हजार की तैयारी है, तो उससे ज्यादा केस आने पर भी तैयार होंगे।

37 हजार प्रतिदिन केस के हिसाब से तैयारी
सीएम केजरीवाल ने कहा कि 37 हजार की पीक आती है तो कितने आईसीयू, कितने ऑक्सिजन, बेड और दवाइयों की जरूरत पड़ेगी। उस पीरियड की टास्क फोर्स बना रहे हैं। बच्चों पर भी ध्यान रखना है। उन्हें अलग किस्म के मास्क और ऑक्सिजन होंगे। इसके लिए टास्क फोर्स बना दी है, जो अलग से तैयारी कर रिपोर्ट देगी। ऑक्सिजन की काफी कमी हुई, अंत में सुप्रीम कोर्ट के दखल देने से केंद्र सरकार के सहयोग से ऑक्सिजन मिली।

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए दिल्ली सरकार पहले से ही तैयारियों में जुटी हुई है। सीएम केजरीवाल ने कहा कि 420 टन ऑक्सिजन की स्टोरेज कैपेसिटी तैयार करनी है। इंद्रप्रस्थ ऑक्सिजन से कहा है कि 18 महीने में 150 टन ऑक्सिजन बनाने का प्लान बनाएंगे। ऑक्सिजन टैंकर की परेशानी आई। 25 टैंकर खरीदे जा रहे हैं। 64 छोटे ऑक्सिजन प्लांट्स लगाए जा रहे हैं। 1-2 महीनों में यह तैयार हो जाएंगे। 37 हजार केस की पीक के आधार पर तैयार होगा कि कितने ऑक्सिजन सिलिंडर की जरूरत होगी।

loading...
loading...

Check Also

UP हुआ शर्मसार : 2 साल की बच्ची से रेप, मासूम को तड़पता छोड़ भाग खड़ा हुआ दरिंदा, मौत 

उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले से इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई ...