Friday , July 30 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / VIDEO: यूपी में ब्लॉक प्रमुख चुनाव से पहले जबरदस्त हिंसा, जान बचाने को भागती दिखी पुलिस

VIDEO: यूपी में ब्लॉक प्रमुख चुनाव से पहले जबरदस्त हिंसा, जान बचाने को भागती दिखी पुलिस

लखनऊ: 

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh Violence) में हो रहे पंचायत चुनावों में गुरुवार को पूरे प्रदेश में जबरदस्त हिंसा, मारपीट और हंगामा हुआ. कई जगह गोलियां और हथगोले भी चले हैं. समाजवादी पार्टी (SP) ने आरोप लगाया है कि तमाम जगह BJP के लोगों ने उनके ब्लॉक प्रमुख उम्मीदवार को नामांकन नहीं करने दिया या उनका नामांकन का पर्चा फाड़ दिया. प्रदेश की राजधानी लखनऊ से 65 किलोमीटर दूर सीतापुर के कसमंडा में ब्लॉक प्रमुख पद की उम्मीदवार मुन्नी देवी पर्चा दाखिल करने जा रही थीं. वहां बीजेपी के विधायक और उनके कार्यकर्ता खड़े थे. वहां गोलियों और हथगोलों के बीच पुलिस खुद अपनी जान बचाती दिखी.

सीतापुर के जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज ने कहा, ‘जो अभी तक सूचना है, हवाई फायरिंग हुई है और जो भी हुआ है तो उसमें एक व्यक्ति घायल है. उनको चोटें हैं सर पर और उनको बेहतर इलाज के लिए यहां से लखनऊ रेफर कर दिया गया है.’

लखीमपुर खीरी के पसगावान में एक औरत के साथ अभद्रता की गई. महिला समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार ऋतु सिंह की प्रस्तावक थी. उसकी साड़ी उतारने की कोशिश की गई. यह सब कैमरे में कैद हो गया. दूसरी ओर ऋतु सिंह की गाड़ी समझकर सपा एमएलसी शशांक यादव की गाड़ी रोक ली गई लेकिन ऋतु इन्हें चकमा देकर पर्चा दाखिल करने पहुंची तो आरोप है कि उनका पर्चा छीन लिया गया.

समाजवादी पार्टी के लखीमपुर खीरी जिले के अध्यक्ष क्रांति कुमार सिंह ने कहा, ‘भाजपा के कम से कम 100-150 कार्यकर्ता नामांकन स्थल के अंदर मौजूद थे. BDO के कमरे में ही उन लोगों ने हाथापाई शुरू की. बाहर जब हम लोग निकलकर आए तो महिला प्रत्याशी हमारी ऋतु सिंह के साथ बदसलूकी की गई. एक महिला की साड़ी उतार दी गई, ब्लाउज फट गया, सिर्फ पर्चा छीनने के लिए.’

लखीमपुर खीरी में एक नेता के अपहरण की भी कोशिश की गई. नामांकन करने जा रहे कांग्रेस समर्थिक ब्लॉक प्रमुख उम्मीदवार राजन यादव को किडनैप करने की कोशिश की गई लेकिन छीना-झपटी में नामांकन केंद्र के अंदर घुस गए. उनको साथ लाए कांग्रेस नेता सैफ अली चिल्लाते ही रह गए.

जौनपुर के जलालपुर ब्लॉक में एक उम्मीदवार के लोगों की गाड़ियों पर हमला कर उन्हें चकनाचूर कर दिया गया. गाड़ी में आए लोगों को पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया गया. यहां झगड़ा बीजेपी के दो विधायकों के समर्थकों के बीच हुआ.

सारे दिन यूपी के अलग-अलग हिस्सों से हिंसा की खबरें आती रहीं. इटावा में बीजेपी प्रत्याशी के समर्थक को गोली लगी. बुलंदशहर में जबरदस्त मारपीट और लाठीचार्ज हुआ. अयोध्या में सपा और बीजेपी समर्थकों में पथराव और मारपीट हुई. हरदोई में दो जगह मारपीट हुई. बीजेपी पर नामांकन से रोकने का आरोप लगा. आजमगढ़ में मारपीट और लाठीचार्ज हुआ. बीजेपी विधायक पर हमले का आरोप है.

बहराइच में बीजेपी पर नामांकन से रोकने का आरोप लगा. सिद्धार्थनगर में सपा सरकार के पूर्व स्पीकर माता प्रसाद की गाड़ी तोड़ी, पर्चा छीना. संभल में सपा समर्थकों और पुलिस में झड़प हो गई. रायबरेली में सपा उम्मीदवार का पर्चा छीना गया. बदायूं में सपा उम्मीदवार का पर्चा फाड़ने का वीडियो वायरल हो रहा है. वहीं मैनपुरी में सपा और बीजेपी के बीच झड़प हो गई. गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई.

गोरखपुर में सपा उम्मीदवारों और पुलिस के बीच जमकर संघर्ष हुआ. पुलिस ने लाठीचार्ज किया. सपा का आरोप है कि उनके उम्मीदवार को नामांकन केंद्र में बंद कर पर्चा नहीं दाखिल करने दिया गया. उधर यूपी के एडीजी प्रशांत कुमार (लॉ एंड ऑर्डर) का कहना है कि गड़बड़ी करने वालों पर कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा, ’14 स्थान हैं जहां पर गड़बड़ी की सूचना मिली और जो घटनाएं हुई हैं, वो मतदान स्थल से दूर हैं, जैसे आपसी मारपीट या पर्चा छीनने की बात हुई है. दो पक्षों के एक-दूसरे के सामने आने के बाद विवाद की बात सामने आई है.’

इस पूरे मामले में पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि सपा ऐसा कर राज्य सरकार की छवि खराब करने की कोशिश कर रही है ताकि वे लोग सुर्खियों में आएं, उन्हें थोड़ी जगह मिल सके. जिसके पास संख्या होगी, वह विजेता घोषित होगा. समाजवादी पार्टी को इसे स्वीकार करना होगा.

loading...

Check Also

बिहार में फिर से कातिल हुआ कोरोना, 5 दिनों बाद सामने आया मौत का आंकड़ा

पटना: बिहार में कोरोना (Corona In Bihar) की दूसरी लहर (second wave of corona) का ...