Saturday , July 24 2021
Breaking News
Home / खबर / कोरोना काल में लूट मचाए है सरकार, स्पेशल के बहाने जेब काट रहा रहा रेलवे

कोरोना काल में लूट मचाए है सरकार, स्पेशल के बहाने जेब काट रहा रहा रेलवे

कोलकाता. कोविड-19 संक्रमण काल में पिछले 14 महीनों से यात्रियों की सुविधा के लिए स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही जिसमें बिना रिजर्वेशन कोई भी सफर नहीं कर सकता। विडंबना ये है कि ट्रेनें तो चल रही पर टिकट विंडो नहीं खुले। जनरल टिकट न मिलने से आम मुसाफिरों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा। कोरोना काल में सामान्य ट्रेनों का संचालन बन्द होने के बाद जारी स्पेशल ट्रेनों ने आम जनता की जेब पर खासा बोझ डाल दियाा है। चाहे छोटे व्यवसायी हों या दिहाड़ी मजदूर सभी पर स्पेशल ट्रेनों का असर पड़ा। जबरन जेबें ढीली करनी पड़ रही।हमारी पड़ताल में अनेक वर्गों से जुड़े लोगों से सवाल-जवाब के दौरान यह कड़वी हकीकत खुलकर सामने आई।

जनरल टिकट न मिल पाने के चलते आरक्षित श्रेणी में यात्रा को मजबूर प्रवासी राजस्थानी व्यापारी कमल जैन पाटनी ने बताया कि पहले जहां 25 रुपए में वर्धमान से कोलकाता आते थे। वहीं अब सुपर फास्ट ट्रेन में 75 रुपए अदा करने पड़ रहे। उसपर भी 4 घंटे पहले रिजर्वेशन लेना जरूरी है।

व्यवसाय के सिलसिले में बिहार से कोलकाता आये व्यवसायी राम बहादुर ने बताया कि उच्च-अमीर वर्ग को स्पेशल ट्रेनों से कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन हम जैसे छोटे और मझले व्यवसायियों को इस बोझ को उठाना भारी पड़ रहा। पहले जहां झोला उठाया और जनरल टिकट ले कर ट्रेन में बैठ जाते थे वहीं अब टिकट आरक्षण की प्रक्रिया पूरी करनी पड़ती है।

श्रमिक कमल महतो ने बताया कि पहले गांव से आने में 150 से 200 रुपए खर्च होता था पर अब 400खर्च करने पड़ रहे हैं। मुसाफिर शम्भू नायक ने कहा सामान्य ट्रेन के स्पेशल की श्रेणी में बदल जाने से अनावश्यक ही आरक्षित टिकट ले कर यात्रा करनी पड़ी जिससे दोगुने पैसे खर्च हुए।

जिम्मेदारों की जुबानी

उधर दक्षिण-पूर्व रेलवे के सीपीआरओ नीरज कुमार ने इस संबंध में कहा कि कोविड-संक्रमण के मद्देनजर फिलहाल रेलवे की ओर से जनरल टिकट देनेेे की कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसा पिछले साल से ही हो रहा। कब से यात्रियों को जनरल टिकट मिलेगा, कब से लोकल ट्रेन चलेगी? यह सब सरकारी स्तर पर ही तय होगा, इसलिए इसके बारे में उनकी ओर से कुछ नहीं कहा जा सकता। वहीं पूर्व रेलवे के सियालदह स्टेशन के सीआईटी एके ठाकुर का कहना है कि अभी जनरल टिकट बंद है। केवल रिजर्व टिकट ही दिए जा रहे।

उत्तर-पश्चिम रेलवे सलाहकार समिति के सदस्य अनिल खटेड ने कहा कि पहले होली, दिवाली जैसे त्योहारों पर स्पेशल ट्रेन चलती थी। कोविड काल में स्पेशल ट्रेनों का संचालन जारी है जिसमें बिना आरक्षण कोई यात्रा नहीं कर सकता। कई ट्रेनों का किराया भी ज्यादा है। इन सबके अलावा सामान्य टिकट खिडक़ी से टिकट नहीं मिल रही। जिस कारण नौकरी पेशा हो अथवा मजदूर सभी दैनिक यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

loading...

Check Also

वैक्सीन लगाने को लेकर आपस में भिड़ गईं महिलाएं, जमकर हुई मारपीट, वीडियो वायरल

खरगोन एमपी के खरगोन जिले में वैक्सीन को लेकर जबरदस्त मारामारी (People Crowd For Vaccine) ...