Monday , October 18 2021
Breaking News
Home / क्रिकेट / टेंशन भगाने का ऐसा तरीका बताए नीरज चोपड़ा, लोग बोले- ‘ये है असली देसी छोरा’

टेंशन भगाने का ऐसा तरीका बताए नीरज चोपड़ा, लोग बोले- ‘ये है असली देसी छोरा’

चंडीगढ़: भारत के लिए ओंलपिक में एथलेटिक्स में पहला गोल्ड मेडल जीतने वाले स्टार जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा (javelin thrower neeraj chopra) आजकल पूरे देश में छाए हुए हैं. एक्टिंग हो या सोशल मीडिया पर उनकी पोस्ट, लोग उन्हें खूब पसंद कर रहे हैं. अब उन्होंने ट्विटर पर एक फोटो डाला है जिसमें उन्होंने टेंशन से छुटकारा (neeraj chopra chai roti tweet) पाने का एक बेहद आसान-सा उपाय बताया है. नीरज चोपड़ा ने सोमवार को अपने ट्विटर (neeraj chopra twitter) अकाउंट पर एक तस्वीर शेयर की है.

इस तस्वीर में स्टार जैवलिन थ्रोअर एक ग्लास चाय और एक रोटी लिए पोज देते हुए नजर आ रहे हैं. नीरज ने तस्वीर के साथ कैप्शन में लिखा है, ‘खाओ रोटी पियो चाय, टेंशन को करो बाय-बाय.’ उनकी ये पोस्ट अब वायरल हो गई है. इस पोस्ट को 1 लाख से भी ज्यादा लोगों ने लाइक किया है, जबकि साढ़े छह हजार से ज्यादा रिट्वीट्स हैं. नीरज चोपड़ा की इस पोस्ट पर लोग लगातार अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. फैंस उनकी सादगी की भी तारीफ कर रहे हैं.

एक यूजर ने कमेंट में लिखा है, ‘असली देसी छोरा सामने आया. टोपी देख कर जरूर गर्मी लग रही है.’ वहीं, एक यूजर ने सलाह देते हुए लिखा है, ‘बहुत शानदार. बस आप रोटी को चाय में डुबोकर ट्राय कीजिए, गजब का टेस्ट आता है.’ एक अन्य यूजर ने लिखा है, ‘यही है देसी बॉयज की सेहत का कमाल. ये देखकर मुझे बचपन के दिन याद आ गए.’ वहीं ज्यादातर फीमेल यूजर्स ने उन्हें क्यूट कहा और कई ने तो आई लव यू भी लिखा.

बता दें कि, नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक में जैवलिन थ्रो इवेंट का गोल्ड मेडल जीता था. उन्होंने 87.58 मीटर का थ्रो करते हुए भारत को पहली बार एथलेटिक्स में गोल्ड मेडल दिलाया. भारत ने टोक्यो ओलंपिक में कुल 7 मेडल जीते थे. सिंगल इवेंट में देश के लिए गोल्ड मेडल जीतने वाले वो शूटर अभिनव बिंद्रा के बाद दूसरे एथलीट हैं. बिंद्रा ने साल 2008 में बीजिंग ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीता था.

 टोक्यो में गोल्ड जीतने से पहले भी नीरज के नाम कई रिकॉर्ड हैं. वो एशियन गेम्स में भी भारत को गोल्ड दिला चुके हैं. नीरज चोपड़ा हरियाणा के पानीपत में गांव खंडरा के एक छोटे से किसान परिवार में पैदा हुए थे और बचपन में उनका वजन काफी था. वजन कम करने ही वो स्टेडियम गए थे जहां से उन्हें खेलने का चस्का लगा और अब उन्होंने ओलंपिक में देश के लिए सोना जीत लिया.

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...