Thursday , May 6 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / कोरोना : मृतकों के संस्कार को नहीं मिल रहे कंधे, ताे इन नंबरों पर कॉल करें

कोरोना : मृतकों के संस्कार को नहीं मिल रहे कंधे, ताे इन नंबरों पर कॉल करें

गाजियाबाद. कोरोना वायरस Corona virus संक्रमित मरीजों की मौत होने के बाद अगर उन्हे अंतिम संस्कार के लिए लोग नहीं मिल रहे तो ऐसे में सिविल डिफेंस की टीम उनका अंतिम संस्कार कराएगी। इसके लिए बाकायदा सिविल डिफेंस Civil Defence ने अपनी टीम के सदस्यों के नंबर भी जारी किए हैं। बस आपको मदद के लिए एक कॉल करनी होगी। इसके बाद सिविल डिफेंस की टीम संस्कार की जिम्मेदारी उठाएगी।

अक्सर यह देखने में आया है कि कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो जाने के बाद पड़ोस के लोगों के अलावा रिश्तेदार भी नहीं पहुंच पा रहे हैं। ऐसे में शव को श्मशान घाट तक पहुंचाने के लिए एम्बुलेंस वाले पांच हजार रुपये तक चार्ज कर रहे हैं। ऐसे में मृतकों के परिजनों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इन सब समस्याओं को देखते हुए सिविल डिफेंस के चीफ वार्डन ललित जायसवाल ने एक विशेष टीम बनाई है जोकि जल्द ही अपना काम शुरू कर देगी। सिविल डिफेंस की इस पहल ने वाकई एक नजीर पेश की है। ऐसे कठिन दौर एवं महामारी काल में भी कुछ लोग मजबूरी का फायदा उठाते हुए लूट खसोट मचाने में लगे हुए हैं वहीं सिविल डिफेंस ने इस कार्य की सराहनीय शुरुआत की है।

सिविल डिफेंस के डिप्टी चीफ वार्डन अनिल अग्रवाल ने बताया कि यह सेवा केवल जरूरतमंदों के लिए शुरू की गई है और यह सेवा पूरी तरह निशुल्क होगी। इस सराहनीय कार्य की शुरुआत सिविल डिफेंस गाजियाबाद और धार्मिक रामलीला समिति कविनगर की ओर से शुरू की गई है। इन दिनों देखा जा रहा है कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मृत्यु के बाद अक्सर लोग दूरी बनाते हैं। कई परिवार में दाह संस्कार के लिए भी कोई सदस्य नहीं पहुंच पाता है।

दुख की इस घड़ी में ललित जायसवाल की विशेष टीम लोगों की मदद के लिए आगे आएगी और जरूरतमंद लोग सिविल डिफेंस के डिप्टी चीफ वार्डन अनिल अग्रवाल, 9910600628 ललित जायसवाल के प्रमुख सहयोगी दिवाकर सिंघल 99971361212,दिव्यांशु सिंघल 9910612063 एवं चीफ वार्डन ललित जायसवाल के 9999114642 पर फोन कर सकते हैं।

loading...
loading...

Check Also

यूपी में कोविड कर्फ्यू: इन 8 क्षेत्रों से जुड़े लोगों को E-pass की जरूरत नहीं, देखें लिस्ट

लखनऊ. Covid curfew in up- E- pass not required for people involved in 8 categories in ...