Sunday , June 13 2021
Breaking News
Home / खबर / ब्लैक फंगस: राजस्थान में तीन गुना हुई रफ्तार, ऐसे बचाएं अपनी जान

ब्लैक फंगस: राजस्थान में तीन गुना हुई रफ्तार, ऐसे बचाएं अपनी जान

जयपुर. राजस्थान में कोरोना वायरस का प्रकोप कम होने के साथ ही अब ब्लैक फंगस चुनौती बन गया है। यहां करीब 2400 से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं। इनमें अकेले 50% केस राजधानी जयपुर में सामने आए हैं। CMHO के मुताबिक जयपुर में अब तक ब्लैक फंगस से संक्रमण के अब तक 1054 मामले सामने आए हैं। इनमें 44 लोगों की जयपुर में मौत भी हो चुकी है। यहां विभिन्न अस्पतालों में करीब 535 लोगों की सर्जरी की गई है। इसके अलावा 426 लोगों को डिस्चार्ज कर दिया गया है।

आंकड़ों के मुताबिक, जयपुर में ब्लैक फंगस का शिकार हुए 104 लोग ऐसे हैं जो कि कोरोना पॉजिटिव हुए थे। कोरोना संक्रमण के उपचार के साथ ही वे ब्लैक फंगस के भी शिकार हो गए। केस स्टडी में सामने आया कि जयपुर में करीब 752 लोग ऐसे हैं जो कोरोना से रिकवर होने के बाद निगेटिव रिपोर्ट आने पर ब्लैक फंगस से संक्रमित हुए।

ब्लैक फंगस के लिए पर्याप्त इंजेक्शन नहीं दे रही केंद्र सरकार
रविवार को कोरोना को लेकर जयपुर कलेक्ट्रेट में हुई कोरोना समीक्षा को लेकर एग्रीकल्चर मंत्री लालचंद कटारिया ने सभी विभागों के अफसरों की मीटिंग ली। इस बैठक में मौजूद परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि राजस्थान में अब ब्लेक फंगस की दिक्कत ज्यादा बड़ी हो गई है। यह बीमारी हमारे प्रदेश के लिए चुनौती बन गई है।

एक-एक मरीज को 60 से 70 इंजेक्शनों की जरूरत पड़ रही है। हम 40 हजार का इंजेक्शन फ्री दे रहे हैं। इलाज फ्री कर रहे हैं। लेकिन इतनी बड़ी तादात में हमारे पास इंजेक्शन नहीं है। इसके लिए राजस्थान सरकार पूरी केंद्र पर निर्भर है। इसलिए केंद्र सरकार से उम्मीद करते हैं कि हमें ज्यादा से ज्यादा इंजेक्शन उपलब्ध करवाए।

loading...
loading...

Check Also

करगिल विजय की कहानी: आज ही मिली थी पहली जीत, तोलोलिंग चोटी पर लहराया तिरंगा

आज से 22 साल पहले करगिल युद्ध लड़ा गया था। करगिल युद्ध में सबसे पहली ...