Wednesday , May 12 2021
Breaking News
Home / खबर / ‘जमात और रिया-सुशांत करने की जगह 2020 में ICU बेड पर ध्यान देते, तो 2021 में न गिननी पड़ती लाशें’

‘जमात और रिया-सुशांत करने की जगह 2020 में ICU बेड पर ध्यान देते, तो 2021 में न गिननी पड़ती लाशें’

भारत में आई कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। देश में कोरोना संक्रमण को कंट्रोल करने की जगह सरकार द्वारा चुनावी और धार्मिक कार्यकर्मों का आयोजन किया जा रहा था।

आज स्थिति यह है कि देश में हर दिन तीन लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। स्वास्थ्य व्यवस्था ठप होने की वजह से डॉक्टर लोगों को बचा पाने में नाकामयाब हो रहे हैं।

बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के बाद अब पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले देखने को मिल रहे हैं। दरअसल कल ही राज्य में आठवें चरण के चुनाव के लिए मतदान संपन्न हुआ है।

इस मामले में पत्रकार दिलीप मंडल ने मोदी सरकार और देश के पक्षपाती मीडिया पर निशाना साधा है।

उन्होंने लिखा है कि “काश टीवी चैनलों ने पिछले एक साल तबलीगी जमात, मोहम्मद साद, रिया चक्रवर्ती, सुशांत, बॉलीवुड ड्रग स्कैंडल, हिंदू-मुसलमान-पाकिस्तान पर फ़ोकस करने की जगह देश में अस्पताल, बेड और ऑक्सीजन प्लांट के अभाव आदि पर सैकड़ों शो किए होते, तो मुमकिन है आज यूँ लाश गिनने की नौबत न आती!”

भारत में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए विदेशी नेताओं और मीडिया ने भी चिंता जाहिर की है।

भारत में चरमरा चुकी स्वास्थ्य व्यवस्था की वजह से मौतों के आंकड़े बढ़ रहे हैं। जिसके चलते दुनिया भर के कई देशों ने भारत की आर्थिक मदद करने का ऐलान भी कर दिया है।

गौरतलब है कि मोदी समर्थक मीडिया अक्सर भारत को सबसे मजबूत और विश्वगुरु दिखाने की कोशिश करता रहा है।

लेकिन आज भारत अपने लोगों की जान बचाने के लिए दुनिया भर के देशों से मदद मांगने का मोहताज हो चुका है।

loading...
loading...

Check Also

कोरोना मरीज का ऑक्सीजन मास्क हटाकर महिलाएं करने लगीं पूजा, फिर हुआ कुछ ऐसा!

यूपी के कानपुर से एक हैरान कर देने वाला वीडियो वायरल हुआ है. जहां पर ...