Thursday , October 28 2021
Breaking News
Home / खबर / चुनाव से पहले मानी हार! BJP नेता बोले-किसानों के मुद्दे हल नहीं हुए तो 2022 में बड़ा नुकसान

चुनाव से पहले मानी हार! BJP नेता बोले-किसानों के मुद्दे हल नहीं हुए तो 2022 में बड़ा नुकसान

मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के हो रहे विरोध का सामना पंजाब और हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को करना पड़ रहा है। खासतौर पर पंजाब के नेताओं के कार्यक्रमों का बहिष्कार किया जा रहा है। जिसे देखते हुए अब कई भाजपा नेता भी मोदी सरकार के खिलाफ आवाज उठाने लगे हैं। इस संदर्भ में भाजपा नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री अनिल जोशी ने भी अपनी ही पार्टी के खिलाफ सवाल खड़े किए हैं।

अनिल जोशी ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान हमारे भाई है। यह सब हमारे अपने लोग हैं। इसलिए हम इनके साथ बुरा नहीं कर सकते। कोरोना महामारी के नियमों का उल्लंघन करने से किसानों को रोक पाने में भी सरकार असमर्थ साबित हो रही है। तो फिर इसका हल क्यों नहीं निकाला जा रहा ?

वो बोले कि दुनिया में ऐसा कोई मुद्दा नहीं है। जिसका हल नहीं निकाला जा सकता। कई बड़े-बड़े मसलों का हल बातचीत के जरिए निकाला जाता है। सरकार और किसान प्रदर्शनकारियों के बीच मध्यस्थ के जरिये इस मुद्दे को सुलझाना जरूरी है।

दरअसल पंजाब के भारतीय जनता पार्टी के कई नेताओं का ऐसा ही मानना है कि हमें किसानों की आवाज को उठाना चाहिए। दिल्ली में सत्तारूढ़ मोदी सरकार सिर्फ भाजपा की सरकार नहीं है। यह सब की सरकार है। भाजपा नेता का कहना है कि हमें पंजाब के लोगों की भावनाओं को समझते हुए इस लड़ाई को लड़ना चाहिए।

इसके साथ ही भाजपा नेता ने यह भी कहा है कि साल 2022 में होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को भारी नुकसान हो सकता है। इसलिए समय आ गया है कि भाजपा को इस मुद्दे का हल जल्द से जल्द निकालने की जरूरत है।

गौरतलब है कि बीते साल केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर किसान धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। लगभग 6 महीने गुजर जाने के बाद भी सरकार और किसान संगठनों के बीच कोई हल नहीं निकल पाया है।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...