त्योहारों के दौरान बिक्री बढ़ने से इस साल परिधान विक्रेताओं के राजस्व में 21 से 23% की वृद्धि होगी