Friday , July 23 2021
Breaking News
Home / क्राइम / कानून के रखवाले निकले करप्ट, घूस लेते यूं धरे गए थानाधिकारी और उसकी रीडर

कानून के रखवाले निकले करप्ट, घूस लेते यूं धरे गए थानाधिकारी और उसकी रीडर

अलवर ACB ने भरतपुर जिले के गोपालगढ़ थानाधिकारी सुरेंद्र सिंह और उसकी रीडर सोनिया को सोमवार शाम एक लाख 50 हज़ार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ़्तार किया। थानाधिकारी सुरेंद्र ने परिवादी से किसी मामले में उसके परिजनों के नाम निकलवाने के लिए रिश्वत मांगी थी। इसकी शिकायत परिवादी ने अलवर ACB में की।

5 दिन से चल रहा था सत्यापन

ACB लगातार 5 दिनों से सत्यापन करवाने में लगी हुई थी। सत्यापन के समय पहले परिवादी से 10 लाख रुपए की मांग की गई। उसके बाद 5 लाख की डिमांड की गई। उसके बाद एक लाख 50 हज़ार रुपए में पूरा मामला तय किया गया। इस दौरान ACB ने 3 बार घूसखोर पुलिस कर्मियों का सत्यापन कराया। SHO की रीडर सोनिया परिवादी से 5 लाख रुपए लेने पर अड़ी रही।

परिवादी और पुलिसकर्मियो में डेढ़ लाख रुपए में सौदा तय हुआ। परिवादी सोमवार को डेढ़ लाख रुपए लेकर गोपालगढ़ थाने पहुंचा और ACB ने दोनों पुलिसकर्मियो को घूस लेते पकड़ लिया। SHO सुरेंद्र ने अपनी मौजूदगी में रीडर सोनिया को रिश्वत की राशि दिलाई थी।

गोपालगढ़ थाने में रिपोर्ट दर्ज

अलवर ACB के एडिशनल एसपी विजय सिंह ने सोमवार को गोपालगढ़ थानाधिकारी सुरेंद्र सिंह और उसकी रीडर सोनिया को डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। परिवादी ने बताया की उसके और उसके परिवार के खिलाफ गोपालगढ़ थाने में एक मामला दर्ज है। इसमें SHO उसके परिजनों के नाम निकालने के लिए 10 लाख रुपए की रिश्वत मांग रहा है।दूसरी तरफ परिवादी ने अपना नाम गुप्त रखने का अनुरोध किया है।

एडिशनल एसपी का कहना है की जब भी सत्यापन करवाया गया तो घूसखोर पुलिसकर्मियों ने पैसे की डिमांड रखी, लेकिन परिवादी एक साथ पैसे देने की बात कह कर उन्हें टहलाता रहा।

loading...

Check Also

आगरा: 8.5 करोड़ की डकैती का मास्टरमाइंड है खानदानी अपराधी, दो भाइयों का हुआ एनकाउंटर, बहन पर भी 8 केस दर्ज

आगरा में मणप्पुरम गोल्ड लोन कंपनी में 8.5 करोड़ रुपए की डकैती का मास्टरमाइंड नरेंद्र ...