Saturday , July 24 2021
Breaking News
Home / खबर / MP में अलर्ट: बंगाल की खाड़ी में बन रहा नया सिस्टम, इस दिन से लाएगा जोरदार बारिश

MP में अलर्ट: बंगाल की खाड़ी में बन रहा नया सिस्टम, इस दिन से लाएगा जोरदार बारिश

इंदौर।  प्रदेश में मानसून को दस्तक दिए एक महीना होने को आया है, लेकिन अब तक पूरे प्रदेश में एक जैसी बारिश नहीं हुई है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक इसके मुख्य कारण विंड पैटर्न का सपोर्ट नहीं करना, लो प्रेशर एरिया ठीक से नहीं बन पाना है। जो सिस्टम बने, उनका जल्दी से वीक होना, या फिर उनका मूवमेंट ठीक नहीं होना भी इसकी बड़ी वजह है। मीडिया  ने इस बार टुकड़ों में हो रही बारिश को लेकर जब एक्सपर्ट से बात की, तो उन्होंने इसके कई कारण बताए।

प्रदेश में बारिश की स्थिति ऐसी है कि सिर्फ 8 जिलों में औसत से ज्यादा बारिश हुई है। वहीं, 8 जिले ऐसे हैं, जहां आंकड़ा 50% से भी कम है। कभी पूर्वी तो कभी पश्चिमी मप्र भीगता रहा, लेकिन इतना नहीं कि पूरा प्रदेश पानी-पानी हो जाए। अब भी कई ऐसे जिले हैं, जहां औसत से आधी बारिश भी नहीं हुई है। इस साल ज्यादा बारिश के लिए ग्वालियर-चंबल संभाग के साथ मालवा -निमाड़ भी तरस रहा है।

मौसम एक्सपर्ट डीपी दुबे ने बताया कि कुछ समय पहले एक कम दबाव का क्षेत्र बना, लेकिन हवा की दिशा ठीक नहीं रही और वह बिहार की ओर बढ़ गया। इसके बाद झारखंड में भी एक सिस्टम डेवलप हुआ, लेकिन इसका मूवमेंट इतना तेज था कि यह एक ही दिन में मप्र काे क्रॉस करता हुआ गुजरात पहुंच गया। यही वजह रही कि सिस्टम एक्टिव होने के बाद भी उम्मीद के अनुसार बारिश नहीं हुई।

20 जुलाई के बाद होगी अच्छी बारिश
मौसम एक्सपर्ट दुबे ने बताया कि अभी तो कोई स्ट्रांग सिस्टम एक्टिव नहीं है। जो थे, वे भी अब कमजोर हो चुके हैं। 20 जुलाई के बाद बंगाल की खाड़ी में एक सिस्टम बन रहा है। उससे बारिश की संभावना बन रही है। गुजरात और राजस्थान तरफ अभी मानसून थोड़ा एक्टिव है। इसी से मालवा-निमाड़ में हल्की बारिश होती रहेगी। हालांकि टुकड़ों-टुकड़ों में ही पानी गिरेगा। लोकल वेदर से ही हल्की बारिश होती रहेगी। जुलाई का महीना आधा बीत चुका है। ऐसे में इस बार का कोटा पूरा करने की उम्मीद अब अगस्त से है। हालांकि यदि 10 दिन भी अच्छी बारिश हो गई, तो बारिश का कोटा पूरा हो सकता है। प्रदेश में जुलाई और अगस्त में ही अच्छी बारिश होती है।

अगले 24 घंटे में प्रदेश में बारिश के हाल
मौसम विभाग ने भोपाल, शहडोल, होशंगाबाद, जबलपुर, उज्जैन संभाग के ज्यादातर जिलों में बिजली गिरने की चेतावनी जारी की है। इसके अलावा इंदौर, खंडवा, खरगोन, धार, सागर, छतरपुर और टीकमगढ़ में भी बिजली गिरने की संभावना है। इसके अलावा जबलपुर, शहडोल, सागर, रीवा, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर, चंबल और हाेशंगाबाद संभाग में कुछ जिलों में गरज चमक के साथ बौछारें पड़ने की भी संभावना जताई गई है।

प्रदेश के इन 8 जिलों में सामान्य से ज्यादा बारिश

  • छिंदवाड़ा में अब तक 316 मिमी बारिश, जो सामान्य से 5%ज्यादा।
  • नरसिंहपुर में अब तक 349 मिमी बारिश, जो सामान्य से 21% ज्यादा।
  • रीवा में अब तक 288 मिमी बारिश, जो सामान्य से 12% ज्यादा।
  • शहडोल में अब तक 306 मिमी बारिश, जो सामान्य से 12% ज्यादा।
  • सीधी में अब तक 345 मिमी बारिश, जो सामान्य से 22% ज्यादा।
  • सिंगरौली में अब तक 376 मिमी बारिश, जो सामान्य से 60% ज्यादा।
  • बैतूल में अब तक 278 मिमी बारिश, जो सामान्य से 2% ज्यादा।
  • देवास में अब तक 257 मिमी बारिश, जो सामान्य से 3 %ज्यादा।

(नोट : आंकड़े 1 जून से 15 जुलाई 2021 तक)

1 जून से 15 जुलाई तक बारिश की स्थिति।

गुजरात में बने चक्रवात की वजह से इंदौर-उज्जैन संभाग में हो रही बारिश
गुजरात में बने चक्रवात की वजह से इंदौर-उज्जैन संभाग में बारिश हो रही है। अब तक इंदौर में कुल 115 मिमी (4.5 इंच) पानी बरसा है। गुरुवार अलसुबह कुछ देर तेज बारिश हुई। इसके बाद सुबह से कहीं धूप तो कहीं छांव का दौर चलता रहा। टुकड़ों में हो रही बारिश के कारण तापमान भी कम होने का नाम नहीं ले रहा है। उमस ने लोगों को परेशान कर दिया है। बारिश कभी पूर्वी हिस्से में तो कभी पश्चिमी शहर में होती रही है।

इस सीजन में अब तक शहर में एक जैसी बारिश नजर नहीं आई है। इसी का असर तापमान पर भी पड़ रहा है। इंदौर में अधिकतम तापमान जहां 2.6 डिग्री गिरावट के साथ 30.6 डिग्री दर्ज किया गया, जो सामान्य से 1 डिग्री कम है। वहीं, रात का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री पर पहुंच गया है, जो सामान्य से 2 डिग्री ज्यादा है।

loading...

Check Also

वैक्सीन लगाने को लेकर आपस में भिड़ गईं महिलाएं, जमकर हुई मारपीट, वीडियो वायरल

खरगोन एमपी के खरगोन जिले में वैक्सीन को लेकर जबरदस्त मारामारी (People Crowd For Vaccine) ...