Friday , July 30 2021
Breaking News
Home / खबर / दिलीप कुमार के लिए पूछे सुदर्शन न्यूज़ के संपादक- ‘जलाया जाएगा या दफनाया जाएगा?’, खूब गालियां मिलीं

दिलीप कुमार के लिए पूछे सुदर्शन न्यूज़ के संपादक- ‘जलाया जाएगा या दफनाया जाएगा?’, खूब गालियां मिलीं

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार का 98 साल की उम्र में बुधवार को निधन हो गया, उन्होंने मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में आखिरी सांस ली। पीएम मोदी, राहुल गांधी सहित कई नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की हैं। अभिनेता के निधन पर हिंदी समाचार चैनल सुदर्शन के संपादक सुरेश चव्हाणके ने ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने सवाल किया कि उन्हें जलाया जाएंगा या दफनाया जाएंगे। अपने इस ट्वीट के बाद चव्हाणके सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए और लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया।

दिलीप कुमार के पारिवारिक मित्र फैजल फारुखी ने बुधवार को अभिनेता के ऑफिशल ट्विटर हैंडल से उनके निधन की जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट में लिखा, बहुत भारी दिल से ये कहना पड़ रहा है कि अब दिलीप साब हमारे बीच नहीं रहे। ये खबर मिलते ही इंडस्ट्री में शोक की लहर है। फिल्म इंडस्ट्री के लोग और उनके फैंस सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि दे रहे हैं।

अभिनेता का असली नाम मोहम्मद युसूफ खान था, लेकिन उन्हें बॉलीवुड में दिलीप कुमार के नाम से पहचान बनाई। उनका जन्म 11 दिसंबर 1922 को हुआ था। दिलीप कुमार ने अपने एक्टिंग की शुरुआत 1944 में फिल्म ज्वार भाटा से की थी, इसे बॉम्बे टॉकीज ने प्रोड्यूस किया था। करीब पांच दशक के एक्टिंग करियर में 65 से ज्यादा फिल्मों में काम किया। उनकी आखिरी फिल्म किला थी जो 1998 में रिलीज हुई।

दिलीप कुमार के निधन पर सुरेश चव्हाणके ने अपने ट्वीट में लिखा, “दिलीप कुमार नाम से प्रसिद्ध अभीनेता मोहम्मद यूसुफ़ खान नहीं रहें।” उन्होंने अपने ट्वीट में आगे लिखा, “जिस दिलीप कुमार नाम से प्रसिद्धी, पैसा और प्रतिष्ठा पायीं उस नाम के अनुसार जलाया जायेगा या यूसुफ़ खान नाम से दफ़नाया जायेगा?”

सुरेश चव्हाणके अपने इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए और लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया। एक यूजर ने अपने ट्वीट में लिखा, “आपको जब फिक्र करनी थी तो किए नहीं दिलीप कुमार के रिश्तेदार बहुत हैं उनको फिक्र करने दीजिए बहती हुई गंगा लाशों का अंबार देखे थे शर्म नहीं आए उस समय आंख में आंसू आया था हिंदू खून खोला था जो यहां ज्ञान बांट रहे हैं।”

एक अन्य यूजर ने उनसे सवाल पूछले हुए लिखा, “क्या आप कब्र खोदने वाले हैं या आप किसी श्मशान घाट के संचालक हैं जिसकी व्यवस्था करना आपके जिम्मे है?” एक अन्य ने लिखा, “गंगा किनारे जो शव मिल रहे हैं उनका किस रीति रिवाज से अंतिम संस्कार किया गया था?”

देखें कुछ ऐसे ही ट्वीट:

 

 

loading...

Check Also

चीनी शख्स ने अपने प्राइवेट पार्ट में घुसेड़ ली 8 इंच लंबी मछली, बड़ी मुश्किल से जान बची

बीजिंग : कब्‍ज की परेशानी से जूझ रहे एक चीनी व्‍यक्ति का अपने रेक्‍टम के ...