द्रौपदी मुर्मू ने हेमंत सोरेन से की बात, राष्ट्रपति चुनाव में झामुमो का समर्थन मांगा

एनडीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने शनिवार को झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के नेता और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से फोन पर बातचीत की और उनसे राष्ट्रपति चुनाव में उनका समर्थन करने की अपील की. सूत्रों ने कहा कि मुर्मू ने व्यक्तिगत रूप से सोरेन से संपर्क किया और उनसे उनकी उम्मीदवारी का समर्थन करने का अनुरोध किया।

मुर्मू ने 18 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार, तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से भी संपर्क किया था। सूत्रों ने बताया कि तीनों नेताओं ने उन्हें बधाई दी है। 

इस बीच आदिवासी पार्टी के नाम से मशहूर झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) ने आगामी राष्ट्रपति चुनाव पर चर्चा के लिए शनिवार को अपने सांसदों और विधायकों की बैठक बुलाई है. झामुमो कांग्रेस के नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) की एक घटक पार्टी है और वर्तमान में झारखंड में यूपीए की गठबंधन सरकार है।

मुर्मू ने शुक्रवार को अपना नामांकन पत्र भरा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ पीठासीन अधिकारी पीसी मोदी को अपना उम्मीदवारी पत्र सौंपा। उनके साथ अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी और कई केंद्रीय मंत्री और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी थे।

द्रौपदी मुर्मू के नामांकन में योगी आदित्यनाथ, शिवराज सिंह चौहान, मनोहर लाल खट्टर, जयराम ठाकुर, पुष्कर सिंह धामी समेत कई भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी मौजूद थे. एनडीए का समर्थन करने वाले वाईएसआर कांग्रेस, बीजद और अन्नाद्रमुक के प्रतिनिधि भी उनके नामांकन में मौजूद थे।