Saturday , October 16 2021
Breaking News
Home / क्राइम / जयपुर पुलिस ने खोल दिया बड़ा राज, दिल्ली का ये नामी डाॅक्टर तो निकला हैवान!

जयपुर पुलिस ने खोल दिया बड़ा राज, दिल्ली का ये नामी डाॅक्टर तो निकला हैवान!

जयपुर ;  कोरोना से मचे मौत के तांडव के बीच एक डाॅक्टर के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। डाॅक्टर ने एक हजार से भी ज्यादा रेमडेसिविर इंजेक्शन नकली बेचे और हर इंजेक्शन की कीमत पच्चीस से पैंतीस हजार रुपए वसूली। डाॅक्टर को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया था लेकिन वह खुद को बेगुनाह बताता रहा। आखिर उसके इंजेक्शन को जांच के लिए भेजा गया और बुधवार शाम जब उसकी रिपोट्स आई तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। डाॅक्टर ने हैवान बनते हुए मरीजों की जान से खिलवाड़ किया। उस पर अब आईपीसी की और धाराएं लगाने की तैयारी की जा रही है।

डीसीपी नॉर्थ परिस देशमुख ने बताया की 21 अप्रैल को कोतवाली थाना पुलिस ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के जुर्म में फिल्म कॉलोनी से रामावतार को गिरफ्तार किया था। रामावतार की निशानदेही पर उसके दो अन्य साथी शंकर दयाल और विक्रम सिंह को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया।

आरोपियों ने रेमडेसिविर इंजेक्शन दिल्ली एनसीआर के एक डॉण् जितेश अरोड़ा से खरीद कर लाने की बात कुबूली थी। पुलिस ने 28 मई को फरीदाबाद से गैंग के सरगना डॉण् जितेश अरोड़ा को गिरफ्तार किया। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि जयपुर में 1000 रेमडेसिविर इंजेक्शन सप्लाई किए गए हैं। गैंग से बरामद किए गए इंजेक्शनों को पुलिस ने जांच के लिए लैब में भेजा। जिसकी रिपोर्ट 16 जून को आई जांच में इंजेक्शन नकली निकले।

आरोपियों ने मजबूरी का फायदा उठाकर नकली इंजेक्शन 25. से 35 हजार रुपये में लोगों के बेचे। इंजेक्शन की शीशी पर ना कोई मानक चिन्ह था और ना ही निर्माण की जगह, तारीख के संबंध में कोई जानकारी लिखी हुई नहीं थी। फिलहाल पुलिस गैंग के सदस्यों से पूछताछ कर जानकारी जुटा रही है।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...