Sunday , October 24 2021
Breaking News
Home / क्रिकेट / टेस्ट क्रिकेट के वो 10 अनोखे रिकॉर्ड जिनका टूटना नामुमकिन, आप भी जानें

टेस्ट क्रिकेट के वो 10 अनोखे रिकॉर्ड जिनका टूटना नामुमकिन, आप भी जानें

क्रिकेट में रिकॉ़र्ड बनते हैं टूटने के लिए, लेकिन कुछ कमाल के रिकॉर्ड ऐसे होते हैं जिसका टूटना मुश्किल (Record Never Get Broken) ही नहीं बल्कि नामुमकिन होता है. विश्व क्रिकेट में कई ऐसे रिकॉ़र्ड्स बने हैं जिसे काफी समय के बाद तोड़ा गया है लेकिन कुछ रिकॉ़र्ड्स ऐसे भी हैं जिसे आजतक नहींं तोड़ा गया है और उनका टूटना भी मुश्किल है. ऐसे में जानते हैं टेस्ट क्रिकेट के उन 11 रिकॉर्ड (Test Cricket Records That Might Never Get Broken) के बारे में जिसका टूटना मुश्किल है.

जिम लेकर के एक मैच में 19 विकेट 
इंग्लैंड के गेंदबाज जिम लेकर ने साल 1956 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कमाल कर दिया था. लेकर ने दोनों पारियों में घातक गेंदबाजी करते हुए टेस्ट मैच में कुल 18 विकेट निकाले थे. उन्होंने एक पारी में 9 विकेट और दूसरी पारी में 10 विकेट लिए थे. लेकर का यह रिकॉर्ड तोड़ पाना यकीनन मुश्किल है.

एलिस्टेयर कुक टेस्ट में लगातार 159 मैच 
इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक (Alastair Cook) ने अपने टेस्ट करियर में एक कमाल का रिकॉर्ड बनाया है जिसका टूटना मुश्किल है. कुक ने मई 2006 से लेकर सितंबर 2018 तक लगातार 159 टेस्ट मैच खेले, इस समय के दौरान कुक ने एक भी टेस्ट मैच मिस नहीं किया. लगातार 159 टेस्ट मैच खेलने का कुक के द्वारा बनाया गया यह रिकॉर्ड यकीनन कमाल का है, जिसे आजके क्रिकेटर यकीनन नहीं तोड़ पाएंगे. वेसै, ऑस्ट्रेलिया के नाथन लियोन ने लगातार 78 टेस्ट मैच खेले हैं लेकिन कुक के रिकॉर्ड को छूना मुश्किल है. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने अपने टेस्ट करियर में कुल 161 टेस्ट मैच खेले थे.

ग्रीम स्मिथ कप्तान के तौर पर सबसे ज्यादा टेस्ट मैच 
साउथ अफ्रीका के कप्तान रहे ग्रीम स्मिथ ने कप्तान के तौर पर टेस्ट में कुल 109 मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने अपनी टीम को 53 में जीत दिलाई है. इसके अलावा 29 मैच में साउथ अफ्रीका को हार का सामना करना पड़ा था. स्मिथ के द्वारा कप्तान के तौर पर 109 मैच खेलने का रिकॉर्ड दूसरे खिलाड़ी बना पाएंगे या नहीं, यह वर्तमान क्रिकेट में कहना मुश्किल है. वैसे, कप्तान कोहली ने अबतक 60 टेस्ट मैचों में भारत की कप्तानी की है. स्मिथ के रिकॉ़र्ड को तोड़ने के लिए कोहली को और 50 टेस्ट मैचों में कप्तानी करनी होगी.

मुथैया मुरलीधरन के 800 टेस्ट विकेट

मुथैया मुरलीधरन ने टेस्ट में 800 विकेट लिए हैं. उनके इस रिक़ॉर्ड को यकीनन कोई नहीं तोड़ पाएगा. मुरलीधरन का टेस्ट करियर 19 साल का रहा है. इस दौरान टेस्ट में 800, वनडे में 534 विकेट इस श्रीलंकाई स्पिनर ने अपने करियर में लिए हैं. मुरलीधरन ने 132वें टेस्ट मैच में 800 विकेट पूरे किए थे. 22 बार एक टेस्ट मैच में 10 विकेट लेने का रिकॉ़र्ड मुरलीधरन ने बनाया है तो वहीं 67 बार 5 विकेट हॉल करने में सफल रहे हैं. वर्तमान में जेम्स एंडरसन ने टेस्ट में 616 विकेट लिए हैं, लेकिन मुरलीधरन के रिकॉर्ड को वो तोड़ पाना उनके भी वश की बात नहीं है.

टेस्ट में सबसे बड़ा टीम स्कोर 
भारत के खिलाफ 1997 में कोलंबो टेस्ट मैच में श्रीलंका ने 952 का स्कोर खड़ा किया था. उस टेस्ट मैच में जयसूर्या ने 340 रन की पारी खेली थी. 271 ओवर की बल्लेबाजी के बाद श्रीलंका ने 952 रन बनाए थे, जो टेस्ट क्रिकेट में किसी भी टीम के द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा टीम स्कोर है. श्रीलंका के द्वारा बनाए गए इस रिकॉ़र्ड को भी तोड़ना मुश्किल है.

महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा का पार्टनरशिप
साल 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ कोलंबो टेस्ट मैच में श्रीलंका की पहली पारी में महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा ने मिलकर तीसरे विकेट के लिए 624 रन की पार्टनरशिप की थी. टेस्ट क्रिकेट में यह किसी भी विकेट के लिए किया गया सबसे ज्यादा रनों के पार्टनरशिप का रिकॉर्ड है. जयवर्धने और संगकारा के द्वारा बनाए गए इस रिकॉर्ड को तोड़ना आजके समय में मुश्किल है.

मार्क बाउचर का रिकॉर्ड
साउथ अफ्रीका के पूर्व विकेटकीपर मार्क बाउचर ने अपने टेस्ट करियर में बतौर विकेटकीपर 555 शिकार किए जिसमें 532 कैच और 23 स्टंपिंग शामिल रहा है. बाउचर के इस रिक़ॉर्ड को भी तोड़ना मुश्किल है. साउथ अफ्रीका के विकेटकीपर ने यह रिकॉर्ड 147 टेस्ट मैच खेलकर बनाया था.

राहुल द्रविड़ बतौर फील्डर 210 कैच

राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने अपने टेस्ट करियर में 210 कैच लिए हैं, टेस्ट में उनसे ज्यादा कैच अबतक किसी ने नहीं लपका है. वर्तमान क्रिकेटर में रॉस टेलर ने टेस्ट में बतौर फील्डर अबतक कुल 156 कैच ही लपके हैं. यानि द्रविड़ के इस रिकॉर्ड के टूटने की संभावना बेहद ही कम है. राहुल ने अपने टेस्ट करियर में कुल 164 मैच खेले हैं.

रिकी पोंटिंग का यह रिकॉर्ड 

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग (Ricky Ponting) ने 168 टेस्ट मैच खेले हैं. वह अपने टेस्ट करियर में 108 टेस्ट मैच ऐसे खेले जिसमें उनकी टीम को जीत मिली. अबतक उनसे ज्यादा किसी खिलाड़ी ने टेस्ट मैच नहीं जीते हैं. दूसरे नंबर पर शेन वार्न हैं. वॉर्न को उनके टेस्ट करियर में 92 मैचों में जीत मिली थी.

सचिन तेंदुलकर 200 टेस्ट मैच
द ग्रेट सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने अपने टेस्ट करियर में 200 मैच खेले हैं, सचिन के द्वारा बनाया गया टेस्ट में यह रिकॉर्ड टूटना ही नहीं नामुमकिन है. साल 1989 से लेकर 2013 तक तेंदुलकर ने अपने करियर में इंटरनेशनल क्रिकेट खेला. 2013 में उन्होंने क्रिकेट को अलविदा कह दिया था.

loading...

Check Also

प्रधानमंत्री के उपहारों की ई-नीलामी में नीरज चोपड़ा के भाले पर लगी सबसे ज्यादा 1.5 करोड़ की बोली

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को मिले उपहारों और स्मृति चिन्हों की ई-नीलामी में ...