नीदरलैंड के कप्तान पीटर सीलार ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास

0
4

आम्सटलविन, 20 जून (हि.स.)। इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय मैच से बाहर होने के बाद, नीदरलैंड के कप्तान और बल्लेबाज पीटर सीलार ने लगातार पीठ की समस्याओं का हवाला देते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है।

34 वर्षीय सीलार ने 2005 में नीदरलैंड टीम के लिए पदार्पण किया और 2018 में उन्हें पीटर बोरेन की जगह टीम की कप्तान बनाया गया। बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज के रूप में अपने करियर की शुरुआत करने वाले सीलार ने बाद में अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान दिया और परिणामस्वरूप वह टीम में एक स्थापित बल्लेबाज की भूमिका में आ गए।

सीलार ने एक बयान में कहा, “2020 के बाद से मेरी पीठ की समस्याएं इस हद तक बढ़ गई हैं कि जो कुछ मुझसे उम्मीद की जाती है, खेद की बात है कि वह सब कुछ अब मैं नहीं दे पा रहा हूं।”

सीलार ने नीदरलैंड के लिए 57 एकदिवसीय और 77 टी20 मैच खेले, जिसमें दोनों प्रारूपों में 100 से अधिक विकेट लिए हैं।

सीलार उस टीम का हिस्सा थे, जिसने 2009 में टी20 विश्व कप के शुरुआती मैच में लॉर्ड्स में इंग्लैंड के खिलाफ और पांच साल बाद उसी टूर्नामेंट में बांग्लादेश के खिलाफ जीत दर्ज की थी।

सीलार ने दोनों अंतरराष्ट्रीय सफेद गेंद प्रारूपों में चार विकेट लिया है, हालांकि बल्ले के साथ उनकी सर्वश्रेष्ठ उपलब्धि लाल गेंद वाले क्रिकेट में आई, जब उन्होंने आईसीसी इंटरकांटिनेंटल कप में हांगकांग के खिलाफ 138 रन बनाए। सीलार और बेन कूपर ने छठे विकेट के लिए 288 रन जोड़े, जो प्रतियोगिता में रिकॉर्ड साझेदारी थी।

विकेटकीपर-बल्लेबाज स्कॉट एडवर्ड्स, जो दूसरे वनडे के दौरान नीदरलैंड के स्टैंड-इन कप्तान थे, को नए डच कप्तान के रूप में नियुक्त किया गया है।

दूसरे एकदिवसीय मैच की बात करें तो इंग्लैंड ने बारिश से बाधित इस मैच में नीदरलैंड को छह विकेट से हराया। बारिश के कारण मैच को 41-41 ओवरों का किया गया। डच टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 235 रन बनाए।

236 रनों का पीछा करते हुए, इंग्लैंड ने आसानी से केवल 36.1 ओवर में चार विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया।