Saturday , July 24 2021
Breaking News
Home / क्राइम / MP में ज्योतिषी की ठग फैमिली गिरफ्तार, डॉक्टर-इंजीनियर, कारोबारी-नेता को लगाए करोड़ों का चूना

MP में ज्योतिषी की ठग फैमिली गिरफ्तार, डॉक्टर-इंजीनियर, कारोबारी-नेता को लगाए करोड़ों का चूना

ग्वालियर . पुलिस ने शहर में करोड़ों की ठगी कर गायब हुए चर्चित ज्योतिषाचार्य मनोज शर्मा, उसके बेटे प्रफुल्ल शर्मा और बेटी साक्षी को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि इन्हें उज्जैन से पकड़ा गया है, लेकिन ग्वालियर पुलिस का दावा है कि इन्हें शहर से ही पकड़ा गया है।

ज्योतिषाचार्य के परिवार ने शहर के कई बड़े कारोबारी, व्यापारी, डॉक्टर, इंजीनियर व भाजपा-कांग्रेस नेताओं को शिकार बनाया है। ये लोग तंत्र मंत्र व ज्योतिषी कला के जरिए बड़े लोगों के घर में पैठ बनाते थे। इसके बाद उनके कारोबार, ठेकेदारी या खदानों के काम की मंदी को ज्योतिषी से दूर करने का झांसा देता था। एक भाजपा नेता को उन्होंने बालाघाट में खदानों में पार्टनर बनाने का झांसा देकर 70 लाख रुपए ठगे हैं। इसी तरह, विदेश से लौटे एक इंजीनियर से 54 लाख रुपए के गहने ठगे थे। फिलहाल पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है।

कौन है यह ठग मनोज शर्मा

तानसेन नगर में रहने वाला ज्योतिषाचार्य मनोज शर्मा बेहद शातिर है। उसके काम में पत्नी वर्षा शर्मा, बेटा प्रफुल्ल शर्मा, बेटी साक्षी शर्मा भी शामिल हैं। उसके यहां शहर के बड़े-बड़े व्यापारी, कारोबारी व नेताओं का आना-जाना रहता था। उस पर पड़ाव थाने में 3 FIR धोखाधड़ी के केस दर्ज हैं। शहर के अन्य थानों में भी मामले दर्ज हैं।

रविवार रात उसे उज्जैन की एक मल्टी से पड़ाव पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने ज्वाइंट ऑपरेशन में पकड़ा है। बेटा और बेटी भी पकड़े गए हैं। पूछताछ में मनोज शर्मा ने बताया कि पत्नी की फरारी के दौरान मौत हो गई है। बेटी पर 10 हजार रुपए, ज्योतिषाचार्य और उसके बेटे पर 5-5 हजार रुपए का इनाम घोषित था। उसने पिछले डेढ़ साल मालवा के उज्जैन, इंदौर में गुजारे हैं।

शातिर ठग को सोमवार को थाने में इस तरह रखा, पूछताछ जारी।

ऐसे करता था ठगी

यह घर से ज्योतिषी का काम करता था। जब लोग उसके पास घर की सुख-शांति, बच्चों की पढ़ाई व व्यवसाय में उतार-चढ़ाव के बारे में पूछने आते थे, तो यह उनको टारगेट करता था। पहले उन्हें साधारण कांच के टुकड़े से बने मोती को 11 कैरेट का मोनोजाइट नग बताकर गंगा में बहाने के लिए कहता था। फिर अपने ही लोगों से कॉल कराकर कुछ अच्छा होने का अहसास कराता था, जिससे लोग उसके जाल में फंस जाते थे।

इसके बाद सभी को यह बालाघाट में अपनी खदान में पार्टनर बनाने का झांसा देकर ठगी करता था। कई लोगों से उनके पुश्तैनी गहनों से घर में दोष बताकर ठग गहने शुद्धिकरण के लिए बुलाकर हड़प लेता था। उसके ठगे गए कई लोग, जिनको उसने 5 से 10 लाख रुपए से ठगा है, वह तो शर्म के चलते FIR दर्ज कराने भी नहीं आए।

पत्नी की मौत की सच्चाई पता करेगी पुलिस

ज्योतिषाचार्य मनोज शर्मा बेहद शातिर है। उसके काम में उसकी पत्नी वर्षा शर्मा भी भागीदार थी। परिवार के चारों सदस्यों में अकेली वही थी, जो पुलिस के सामने जल्दी टूट सकती थी, लेकिन उसे यह बीमारी से मौत होना बता रहा है। पीड़ित भाजपा नेता ने पुलिस को बताया है कि आरोपी मनोज शर्मा खुद अपनी दो बार तेरहवीं कर चुका है। इसलिए पत्नी की मौत हुई है या नहीं पुलिस इसकी पड़ताल करेगी।

इनसे की ठगी

केस-1

  • थाटीपुर के शक्ति विहार निवासी विवेक सिंह तोमर भाजपा नेता हैं। बड़े ठेकेदार भी हैं। कुछ समय के लिए उनका कारोबार ठीक नहीं चल रहा था। इस पर वह ज्योतिषाचार्य मनोज शर्मा से मिले थे। वर्ष 2018 में मनोज ने उनको मोनोजाइट नग दिया, जिसे गंगा में बहाने के लिए कहा। ऐसा करते ही अगले दिन ज्योतिषाचार्य ने उन्हें ऑफर दिया कि वह उसकी बालाघाट की खदान में पार्टनरशिप कर सकता है। उसने बताया कि उसकी वर्षा गंगा मैटलर्स व मिनरल्स प्राइवेट लिमिटेड नाम की दो कंपनी वहां काम कर रही हैं। इसने भाजपा नेता को एक विजिट भी कराई। इसके बाद उनसे 50 लाख रुपए ठग लिए। न खदान मिली न रुपए वापस किए।

केस-2

  • सिरोल की परशुराम कॉलोनी निवासी संजय शर्मा इंजीनियर हैं। वह कुछ समय पहले तक इटली में मल्टी नेशनल कंपनी में बतौर एडवाइजर पदस्थ थे। यहां पत्नी सूक्ष्म व बेटी रहते थे। बेटी को भविष्य में कौनसा सबजेक्ट दिलाया जाए, जिससे वह तरक्की करे, यह जानने इंजीनियर की पत्नी ज्योतिषाचार्य के पास गई थीं। उसने घर में दोष बताया। जब संजय वर्ष 2018 में लौटकर आए, तो वह भी ज्योतिषाचार्य से मिले। ठग ने कांच के बने मोती मोनोजाइट नग बताकर 4 लाख रुपए में 5 मोती दिए। इन्हें गंगा में विसर्जन करने के लिए कहा। इसके बाद संजय को खदान में ऑफर देकर 54 लाख रुपए ठग लिए। 9 लाख रुपए के संजय की पत्नी के गहने शुद्धिकरण के नाम पर ठग लिए।

अभी उससे पूछताछ कर रहे हैं

  • मनोज शर्मा, उसका बेटा प्रफुल्ल शर्मा, बेटी साक्षी शर्मा को गिरफ्तार किया है। इन्होंने फरारी इंदौर, उज्जैन में काटना बताई है। पत्नी वर्षा की मौत होना बता रहा है। अभी इससे पूछताछ की जा रही है।

विवेक अष्ठाना, TI, पड़ाव थाना

loading...

Check Also

वैक्सीन लगाने को लेकर आपस में भिड़ गईं महिलाएं, जमकर हुई मारपीट, वीडियो वायरल

खरगोन एमपी के खरगोन जिले में वैक्सीन को लेकर जबरदस्त मारामारी (People Crowd For Vaccine) ...