Friday , July 30 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी ब्लॉक प्रमुख चुनाव: कोर्ट ने घोषित किया अयोग्य, बीजेपी ने फिर भी बनाया उम्मीदवार

यूपी ब्लॉक प्रमुख चुनाव: कोर्ट ने घोषित किया अयोग्य, बीजेपी ने फिर भी बनाया उम्मीदवार

भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के 16 ब्लॉकों में से 14 ब्लॉक प्रमुख उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है। इसमें कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही के बेटे को पथरदेवा और राज्य मंत्री जयप्रकाश निषाद की बहू को गौरी बाजार विकासखंड से प्रमुख का प्रत्याशी बनाया गया है। सूची में दलबदलुओं को भी खासी तरजीह दी गई है जबकि कोर्ट से अयोग्य घोषित एक उम्मीदवार को भी बीजेपी ने अपना प्रत्याशी तय किया है। खास बात यह है कि भावी ब्लॉक प्रमुख उम्मीदवार का स्टीकर लगा कर चलने वाले अधिकांश नेता टिकट की सूची से बाहर हो गए हैं।

दलबदलुओं पर भी पार्टी ने लगाया दांव
ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही अपने बेटे सुब्रत शाही को पथरदेवा विकासखंड से ब्लाक प्रमुख का टिकट दिलवाने में सफल हो गए हैं। सुब्रत शाही पिछली बार भी पथरदेवा से ब्लॉक प्रमुख चुने गए थे। राज्यमंत्री जय प्रकाश निषाद की बहू अनीता निषाद को गौरी बाजार ब्लॉक प्रमुख का उम्मीदवार बनाया गया है। हाल ही में दूसरे दलों से बीजेपी में आए नेताओं पर भी पार्टी ने दांव लगाया है। इसके चलते पार्टी के कैडर बेस कार्यकर्ताओं में अंदरूनी नाराजगी शुरू हो गई है। पार्टी को इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

ऐन वक्त पर वापस ले ली दावेदारी
सूची में तरकुलवा विकास खंड से रामाशीष गुप्ता, देसही देवरिया से प्रज्ञा तिवारी, बैतालपुर से चंदा देवी, बनकटा से बिंदा कुशवाहा, बरहज से सीमा देवी, भलुअनी से मुन्नी देवी, भागलपुर से मुन्नीलाल, भाटपाररानी से नीपू देवी, रुद्रपुर से उषा पासवान, रामपुर कारखाना से उषा त्रिपाठी, लार से डॉ. विभा सिंह तथा सलेमपुर से सीमा सिंह को प्रत्याशी घोषित किया गया है। देवरिया ब्लॉक में दावेदारों की संख्या और एक हियुवा नेता के एक उम्मीदवार के पक्ष में प्रेस्टीज लगा दिए जाने के चलते अभी किसी को प्रत्याशी नहीं बनाया गया है।

योगी के खास माने जाने वाले भटनी ब्लॉक प्रमुख के दावेदार मानवेंद्र तिवारी ने ऐन वक्त पर चुनाव लड़ने से ही मना कर दिया है। इसके चलते पार्टी के सामने मुश्किलें खड़ी हो गई हैं। अब वहां दूसरा उम्मीदवार तलाशा जा रहा है।

न्यायालय द्वारा अयोग्य घोषित करने के बाद भी बना दिया प्रत्याशी
भलुअनी ब्लॉक से बीजेपी उम्मीदवार मुन्नी देवी को जिला जज की अदालत ने चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य घोषित कर दिया है। इसके बावजूद भी बीजेपी ने मुन्नी को भलुअनी ब्लॉक से अपना उम्मीदवार बनाया है। अब देखना यह है कि कोर्ट द्वारा अयोग्य घोषित किए जाने के बाद वह चुनाव लड़ पाती हैं या उनका नामांकन पत्र रद्द हो जाता है। वैसे मुन्नी के मामले की 13 जुलाई को सुनवाई होनी है और चुनाव उसके पहले ही है।

loading...

Check Also

सहारनपुर: 10 साल बाद फिर नितिन बना अली हसन, बोला- सुंदर लड़कियों से शादी का था लालच

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में धर्म परिवर्तन का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। ...