पंजाब के अमृतसर के गुरु नानक अस्पताल में लगी आग, अफरा-तफरी का माहौल

पंजाब के अमृतसर से एक बड़ी खबर आ रही है. यहां के गुरु नानक अस्पताल में आग लग गई है. घटना के बाद से अफरातफरी का माहौल है। मरीज बाहर नहीं आ सके। आग के कारणों का पता नहीं चल सका है। जानकारी के मुताबिक आग इतनी तेज लगी कि कोई बाहर नहीं निकल सका। मरीज दहशत में थे। दमकल की टीम मौके पर पहुंच गई है। बताया जा रहा है कि फायर ब्रिगेड की टीम आग पर काबू पाने की कोशिश कर रही थी।

अस्पताल के पीछे लगे ट्रांसफार्मर में अचानक आग लग गई। एक ट्रांसफार्मर में आग लग गई तो दूसरे में आग का धुंआ पूरे अस्पताल में फैल गया, जिससे मरीजों में दहशत फैल गई और वे अपने परिजनों के साथ सड़क पर उतर आए.

अस्पताल के अलग-अलग वार्डों में बड़ी संख्या में मरीज थे, जिन्हें रेफर कर दिया गया। मरीजों के मुताबिक, आग से निकलने वाले धुएं से उनका सांस लेना मुश्किल हो गया, लेकिन किसी ने उनकी मदद नहीं की और उन्होंने बाहर आकर अपनी जान बचा ली.

650 लोगों को अस्पताल से सुरक्षित निकाल लिया गया

घटना की सूचना मिलते ही दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं। काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। आग में अस्पताल को लाखों का नुकसान हुआ। गनीमत रही कि हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ। समय के साथ, 650 लोगों को अस्पताल से निकाला गया।

विस्फोट के बाद लगी आग

 अस्पताल स्टाफ ने तुरंत मरीजों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। अस्पताल के अधिकारियों ने अस्पताल में विस्फोट की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि ओपीडी में दो बिजली के ट्रांसफार्मर फट गए, जिसमें आग लग गई।

सूचना के बाद दमकल विभाग और कैबिनेट मंत्री हरभजन सिंह पहुंचे। दमकल विभाग की 12 गाड़ियों ने काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। तब तक इमारत पूरी तरह जल चुकी थी। कैबिनेट मंत्री हरभजन सिंह ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है।

Check Also

देश में’गोल्डन ट्रायंगल’ से होती है सबसे ज्यादा ड्रग्स तस्करी

नई दिल्ली, 20 मई (हि.स.)। राजधानी समेत पूरे देश में ‘गोल्डन ट्रायंगल’ से ड्रग्स तस्करी का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। कारोना महामारी के चलते लंबे समय तक ड्रग्स की सप्लाई बाधित रही थी, लेकिन लॉक डाउन खुलने के बाद से गोल्डन ट्रायंगल से ड्रग्स की सप्लाई तेजी से हो रही है। यह खुलासा …