Saturday , July 24 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी और हुआ अनलॉक: सभी सरकारी कर्मियों को जाना होगा ऑफिस, पढ़ें पूरी गाइडलाइन

यूपी और हुआ अनलॉक: सभी सरकारी कर्मियों को जाना होगा ऑफिस, पढ़ें पूरी गाइडलाइन

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सरकारी दफ्तरों को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है। अब सभी सरकारी कार्यालय 100 फीसदी क्षमता के साथ खोले जाएंगे और सभी कर्मचारियों की उपस्थिति अनिवार्य कर दी गई है। राज्य सरकार ने कोरोना से सुधरते हालात को देखते हुए ये फैसला लिया है। मंगलवार को प्रदेश में 174 नए केस सामने आए। जबकि 254 मरीज ठीक हुए। एक्टिव केस भी तीन हजार से कम हो गए हैं। वर्तमान में 2,946 केस एक्टिव यानी इनका इलाज चल रहा है।

कोरोना प्रोटोकॉल का करना होगा पालन, आरोग्य सेतु ऐप अनिवार्य

राज्य सरकार के द्वारा जारी किए गए निर्देश में सभी कार्यालय 100% कर्मचारियों के साथ खुलेंगे। संक्रमण की रोकथाम के लिए कार्यालयों में भीड़-भाड़ ना हो उसका ख्याल रखा जाएगा। प्रत्येक कर्मचारी अपने मोबाइल पर आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड कर उसका उपयोग करेंगे। संक्रमण से प्रभावित क्षेत्रों में कार्यालयों को बंद करने या उसमें उपस्थिति के संबंध में जिला प्रशासन के स्तर पर फैसला लिया जाएगा।

तीसरी लहर से निपटने के लिए बढ़ा रहे संसाधन

यूपी सरकार के द्वारा ऑक्सीजन उपलब्धता में आत्मनिर्भर करते हुए अब तक नए 121 ऑक्सीजन प्लांट लगाए हैं। अब यूपी में कुल 528 प्लांट पर तेजी से काम किया जा रहा है। आबकारी, चीनी उद्योग और गन्ना विकास विभाग ऑक्सीजन जेनरेटर के माध्यम से 15 फीसदी ऑक्सीजन उपलब्ध करा रहा है। 3250 बेडों पर ऑक्‍सीजन की आपूर्ति की जा रही है।

ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों से सटे 80 अस्‍पतालों में लग रहे ऑक्सीजन जेनरेटर्स, एक-एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र या जिला अस्पताल चयनित किया जाए। संभावित तीसरी लहर को देखते हुए मेडिकल कॉलेजों में 5,900 पीडियाट्रिक आईसीयू (पीकू) से अधिक बेड तैयार किए गए हैं।

कुछ बड़ी बातें

  • प्रदेश में RT-PCR की नई 11 लैब जल्द खुलेगी।
  • तीन माह में 30 अन्य जिलों में भी प्रयोगशालाएं लगेगी।
  • 50 लाख से अधिक बच्चों को नि:शुल्क मेडिसिन किट दी जा रही है।
  • 70 हजार से अधिक निगरानी समितियों ने 17,22,79,220 घरों की स्क्रीनिंग की गई हैं।
  • 71 लाख मेडिकल किटें वयस्कों को भी निशुल्क दी जा रही हैं।

कोरोना के नए वैरिएंट डेल्टा प्लस को लेकर यूपी सरकार अलर्ट

यूपी में अभी तक कोरोना के नए वैरिएंट डेल्टा प्लस के किसी केस की पुष्टि नहीं हुई है। हालांकि, हालात पर पैनी निगाह रखी जा रही है। डेल्टा प्लस संक्रमण वाले राज्यों से आने वाले लोगों की निगरानी और टेस्टिंग तेज करने के साथ दूसरे राज्यों से सटे जिलों में जीनोम सिक्वेंसिंग की जा रही हैं। केजीएमयू लखनऊ और वाराणसी बीएचयू में नमूनों की जीनोम सिक्वेंसिंग हो रही है। जल्द ही गौतमबुद्धनगर सहित अन्य जिलों में भी होगी। सबसे पहले कोरोना मुक्त होने वाले और शत प्रतिशत टीका लगवाने वाले जिले पुरस्कृत होंगे। देश में सबसे ज्यादा नमूनों यानी 5,75,86,240 की जांच कर यूपी ने कीर्तिमान बनाया है।

टीकाकरण अभियान और बढ़ाया जाएगा
28 जून तक लोगों को रिकॉर्ड कुल 3,10,04,901 डोज टीके के लगे हैं। दिसम्बर तक 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी प्रदेशवासियों को टीका लगाने की योजना तैयार किया गया है। 28 जून को एक दिन में लोगों को 5,24,511 डोज टीके के लगे हैं। 18 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों को 92,91,310 और 45 आयु वर्ग से अधिक लोगों को 1,84,41,446 डोज टीके की दी गई। गांवों में टीकाकरण पंचायत घरों या स्कूलों में हो रहा, क्लस्टर मॉडल ऑफ वैक्सीनेशन जुलाई से पूरे प्रदेश में लागू है। जुलाई से रोज 10 से 12 लाख और अगस्त में 12 से 20 लाख लोगों को टीका लगाने की तैयारी है।

loading...

Check Also

वैक्सीन लगाने को लेकर आपस में भिड़ गईं महिलाएं, जमकर हुई मारपीट, वीडियो वायरल

खरगोन एमपी के खरगोन जिले में वैक्सीन को लेकर जबरदस्त मारामारी (People Crowd For Vaccine) ...