Saturday , May 15 2021
Breaking News
Home / खबर / मरीज को बिना मास्क के लगा दी ऑक्सीजन, पति की नाक के सामने घंटों पाइप लगाए बैठी रही पत्नी, जिंदगी न बची

मरीज को बिना मास्क के लगा दी ऑक्सीजन, पति की नाक के सामने घंटों पाइप लगाए बैठी रही पत्नी, जिंदगी न बची

पानीपत के इसराना स्थित NC मेडिकल कॉलेज की एक दहला देने वाली तस्वीर सामने आई है। यहां हॉस्पिटल में भर्ती मरीज को ऑक्सीजन तो दी, लेकिन सांस लेने के लिए उस पर मास्क नहीं लगाया। बिना ऑक्सीजन मास्क के पाइप बार-बार हटता रहा। पति को तड़पते देख पत्नी पाइप को पति की नाक के सामने लगाए बैठी रही, लेकिन ऑक्सीजन ठीक से न मिलने के कारण पति ने दम तोड़ दिया। परिजनों ने स्टाफ की लापरवाही का विरोध किया तो उन्होंने डैड बॉडी न देने की धमकी दे दी। सिविल अस्पताल पहुंची पत्नी MC कॉलेज स्टाफ की लापरवाही बताते-बताते रोने लगी।

कोरोना की मार के चलते पानीपत के सरकारी और निजी अस्पतालों में बुरा हाल है। पहले तो मरीजों को बेड नहीं मिल रहे। अब जो मरीज भर्ती हैं, उन्हें सही इलाज नहीं मिल रहा है। संसाधन होते हुए भी सरकारी अस्पताल और मेडिकल कॉलेज का स्टाफ मरीजों की जान बचाने में दिलचस्पी नहीं ले रहा है।

गन्नौर निवासी दुर्गेश ने बताया कि उनका 42 वर्षीय पति ड्राइवर था। दो दिन पहले सांस लेने में दिक्कत हुई तो उन्होंने स्थानीय डॉक्टरों को दिखाया, लेकिन वह बेड नहीं मिला। इसके बाद उन्होंने गुरुवार को पति को इसराना स्थित NC मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। वहां बेड और ऑक्सीजन तो मिल गई, लेकिन स्टाफ ने साथ नहीं दिया।

उनके पति को बिना ऑक्सीजन मास्क के ही ऑक्सीजन लगा दी। ऑक्सीजन का पाइप कभी ठोड़ी पर पहुंच जाता तो कभी गले पर। ऑक्सीजन नाक तक न पहुंचने पर पति तड़पने लगते। वह हाथ जोड़कर स्टाफ से मास्क मांगती रहीं, लेकिन किसी ने नहीं सुनी। आखिर में वह खुद ही पाइप को पति की नाक के सामने पकड़कर बैठ गई। ताकि पति की सांसें चलती रहें, लेकिन कुछ देर बाद उन्होंने दम तोड़ दिया।

स्टाफ ने ऑक्सीजन के 6 सिलेंडर कर दिए लीक
दुर्गेश के बेटे राहुल ने बताया कि उस वार्ड में सभी मरीजों के ऑक्सीजन लगी थी। एक स्टाफ आया उसने झटके से सिलेंडर से पाइप खींच दिये। कुछ देर बाद वहां दूसरा स्टाफ पहुंचा तो उसने पूछा कि यह किसने किया। चेक किए तो छह सिलेंडर लीक मिले।

इलाज के बजाय हंसता रहा स्टाफ, विरोध किया तो मिली धमकी
दुर्गेंश ने बताया कि जब उनके पति सांस लेने के लिए तड़प रहे थे तो पास खड़ा स्टाफ इलाज करने के बजाय हंसता रहा। उन्होंने विरोध किया तो स्टाफ ने चुप रहने और डैड बॉडी न देने की धमकी दी। इसके बाद भी उन्हें बिना डैड बॉडी के सिविल अस्पताल भेज दिया।

loading...
loading...

Check Also

कफनचोर गैंग के सपोर्ट में बोले BJP नेता- ये तो हमारे वोटर हैं.. छोड़ दीजिए योगीजी..

थोड़े ही दिन पहले मानवता को शर्मसार करने वाली खबर आई थी। कुछ लोगों के ...