Saturday , May 15 2021
Breaking News
Home / खबर / बचा लीजिए मामा! : MP के अस्पताल में भर्ती कोरोना पेशेंट की गुहार का Video वायरल

बचा लीजिए मामा! : MP के अस्पताल में भर्ती कोरोना पेशेंट की गुहार का Video वायरल

मध्यप्रदेश में अस्पताल से एक कोरोना मरीज का वीडियो वायरल हुआ है। उज्जैन जिले के नागदा के रहने वाले अनिल साहनी देवास के अमलतास अस्पताल में भर्ती हैं। अपने वीडियो में उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को संबोधित करते हुए कहा, ‘मेरा क्या होगा पता नहीं, लेकिन मेरी बहन का भी मुझे ही ध्यान रखना है। इसलिए प्लीज मामाजी मेरी मदद कीजिए।’

अनिल (32) पिछले 6 दिन से अस्पताल के ICU में भर्ती हैं। उनके माता-पिता की पहले ही मौत हो चुकी है। 20 साल की बहन है, जिसकी दोनों किडनी खराब है। पिछले ढाई साल से उसका डायलिसिस हो रहा है।वीडियो में अनिल ने CM शिवराज से कहा, ‘ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा हूं, कोई ध्यान देने वाला नहीं है। मेरा आखिरी सहारा आप ही हैं। प्लीज मेरी मदद कीजिए मामाजी… मुझे नई जिंदगी दे दो, कम से कम मेरी बहन को अनाथ होने से बचा लो।’

वीडियो में कहा- प्रशासन मदद को तैयार नहीं
वीडियो में अनिल ने कहा, ‘कोई सुविधा नहीं है मेरे पास, मुझे मेरी बहन को देखना है। स्वस्थ रहना है मुझे, मेरी हेल्प करें, यहां कोई प्रशासन मेरी मदद के लिए तैयार नहीं है, कोई व्यवस्था नहीं है। यहां पर मेरा पता नहीं क्या होगा मामाजी। मुझे कोई देखने वाला भी यहां नहीं है। जैसे-तैसे यहां सब जिंदा है। मेरा पता नहीं क्या होगा मामाजी। मेरी बहन को भी आपको ही देखना है। प्लीज मेरी मदद करना।’ रोते हुए यह वीडियो बनाकर अनिल ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है।

अस्पताल में न बाइपेप मशीन, न ऑक्सीजन फ्लो
इंदौर में कपड़ों के कारोबारी सौरभ मिश्रा अनिल साहनी के दोस्त हैं। वही उनकी देखभाल कर रहे हैं। मिश्रा ने बताया कि ऑक्सीजन लेवल गिरने पर उन्हें 25 अप्रैल को अमलतास अस्पताल में भर्ती कराया था। CT स्कैन में अनिल को लंग्स में 90% इन्फेक्शन का पता चला। हालात संभालने के लिए अस्पताल में न तो बाइपेप मशीन है और न ऑक्सीजन का फ्लो। अस्पताल ने पहले ही हाथ खड़े कर दिए हैं। अनिल की बहन भी लाचार है। जब कोई सुनने वाला नहीं मिला, तो अनिल ने CM शिवराज सिंह को वीडियो मैसेज भेजा।

अपने साथ छोड़ रहे हैं, तब दोस्त काम आया
कोरोना के दौर में जब अपने साथ छोड़ रहे हैं, ऐसे में अनिल का दोस्त सौरभ मिश्रा ही उसके काम आया। सौरभ कोरोना कर्फ्यू के दौरान नागदा आ गया था, लेकिन अनिल की हालत बिगड़ते देख वह उसे अमलतास अस्पताल ले गया। अब वही अपने दोस्त अनिल साहनी का ध्यान रख रहा है। सौरभ ने कहा कि रेमडेसिविर के डोज पूरे नहीं हुए है। बाइपेप मशीन नहीं मिल रही है। ऑक्सीजन का लेवल भी 74 पर बना हुआ है, जिसके कारण अनिल बेहद डरा हुआ है।

loading...
loading...

Check Also

कफनचोर गैंग के सपोर्ट में बोले BJP नेता- ये तो हमारे वोटर हैं.. छोड़ दीजिए योगीजी..

थोड़े ही दिन पहले मानवता को शर्मसार करने वाली खबर आई थी। कुछ लोगों के ...