Saturday , July 24 2021
Breaking News
Home / खबर / छत्तीसगढ़: एक ही गांव में 19 संक्रमित मिलने से हड़कंप, आ गई तीसरी लहर?

छत्तीसगढ़: एक ही गांव में 19 संक्रमित मिलने से हड़कंप, आ गई तीसरी लहर?

छत्तीसगढ़ के एक ही गांव में कोरोना के 19 मरीज मिलने से हड़कंप मच गया है। इसके बाद प्रशासन ने मुंगेली जिले के गांव लमनी को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया और गांव में आवागमन पर रोक भी लगा दी है। कुछ दिन पहले ही 5 मजदूर तमिलनाडु से वापस अपने गांव लौटे हैं। इन्ही में से एक मजदूर पॉजिटिव पाया गया है। आशंका है कि इसी संक्रमित मरीज के संपर्क में आने से 18 अन्य लोग संक्रमित हुए हैं। फिलहाल अन्य संदिग्धों के भी कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं।

एक ही गांव में एक साथ इतने मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग चिंतित है। वनग्राम लमनी में इतनी बड़ी संख्या में कोरोना मरीज मिलने के बाद गांव को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। यहां अब अगले आदेश तक सभी दुकानें बंद रहेंगी। प्रशासन ने गांव के लिए प्रभारी अधिकारी की भी नियुक्ति किया है। जो कि घर पहुंच सेवा के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति उचित दरों पर करेंगे। इसके अलावा यहां सभी प्रकार के आवागमन पूर्ण रूप से बंद रहेंगे।

कोविड-19 अस्पताल में इलाज जारी
लोरमी के ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी डॉ. जीएस दाऊ ने बताया कि लमनी के सभी संदिग्ध मरीजों की जांच की जा रही है। नियमित सैंपल जांच में जो पॉजिटिव पाए जा रहे हैं, उन्हें आगे के उपचार के लिए मुंगेली के सरकारी कोविड-19 अस्पताल में बेहतर इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

टाइगर रिजर्व के कोर जोन में है लमनी
जिस गांव में कोरोना के मरीज मिले हैं, वह अचानकमार टाइगर रिजर्व के कोर एरिया में है। टाइगर रिजर्व के तकरीबन बीच में बसे इस गांव से होकर ही पेंड्रा-गौरेला-मरवाही जिले के लिए सड़क जाती है। इस घने जंगल में बसे गांव में कोरोना के एक साथ मरीज मिलना बड़ी चिंता की बात है। यहां आसपास और गांव है और वहां के आदिवासियों का लमनी रोज आना-जाना होता है। शहर जाने के लिए यहीं से वाहन मिलते हैं। हाट-बाजार और दूसरी सुविधाओं के लिए भी ग्रामीण लमनी आते हैं। ऐसे में अब इस पूरे इलाके के गांवों पर प्रशासन को नजर रखना होगा।

डेल्टा प्लस का खतरा भी
गांव के पांच ग्रामीण तमिलनाडु मजदूरी करने गए थे। कुछ दिन पहले ये वापस गांव लौटे, इसमें से एक मरीज की तबियत खराब हुई। उसमें कोरोना के लक्षण पाए गए। धीरे-धीरे गांव में यह संक्रमण फैल गया। स्वास्थ्य विभाग के लिए अब सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि देश के दूसरे हिस्सों में डेल्टा प्लस वैरिएंट का संक्रमण फैला हुआ है। इन राज्यों में तमिलनाडु भी है। ऐसे में अब यदि मजदूरों में यह वैरिएंट पाया जाता है तो नई मुसीबत खड़ी हो जाएगी, क्योंकि इस वैरिएंट का इलाज अभी तक नहीं मिला है। विभाग के मुताबिक लमनी के सभी संक्रमित के सैंपल डेल्टा प्लस की जांच के लिए भुवनेश्वर AIIMS भेजे जाएंगे।

loading...

Check Also

वैक्सीन लगाने को लेकर आपस में भिड़ गईं महिलाएं, जमकर हुई मारपीट, वीडियो वायरल

खरगोन एमपी के खरगोन जिले में वैक्सीन को लेकर जबरदस्त मारामारी (People Crowd For Vaccine) ...