फरीदाबाद: कश्मीरी हिन्दुओं को सुरक्षा मुहैया करवाने में सरकार असमर्थ: नवीन जयहिंद

फरीदाबाद, 23 जून (हि.स.)। नवीन जयहिन्द ने कहा है कि गत दिनों कई कश्मीरी हिन्दुओें को टारगेट करके मारा जा चुका हैं जबकि सरकार कश्मीरियो के लिए अनेक कार्य करने का दम भर रही हैं सरकार कश्मीरी हिन्दुओ के नाम पर वोट तो ले लेती हैं लेकिन उन्हें उनकी सुरक्षा के साधन उपलब्ध कराने में असमर्थ हैं। उन्होंने कहा कि समाज की 37 बिरादरी कमजोर नही हैं, इसके लिए 26 जून को दिल्ली जंतर मंतर पर पहुंचकर अपनी ताकत का अहसास सरकार को करवाए। जयहिंद गुरुवार को फरीदाबाद के सेक्टर-16ए स्थित मैगपाई टूरिज्म में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि हर रोज कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा किसी न किसी हिन्दू ओर कश्मीरी पंडितों की हत्या की जा रही हैं और केंद्र की मोदी सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी हुई हैं कश्मीरी पंडितों ओर वहां रह रहे हिन्दुओ के लिए कुछ नही कर रही हैं जिससे कश्मीरी पंडित कश्मीर से पलायन करने को मजबूर हैं। जयहिन्द ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर जवानों को अग्निपथ के तहत चार साल नौकरी करने बाद उन्हें वापिस आने पर सरकारी नौकरी देने की बात कह रहे है। हम मुख्यमंत्री से यह पूछना चाहते है कि जवानों को फौज में ही पक्की अथवा सरकारी नौकरी क्यों नही दी जा सकती।

जयहिन्द बताते है कि मनोहरलाल हमेशा के लिए मुख्यमंत्री नही रहेंगे जो वे चार साल बाद जवानों को नौकरी का वादा कर रहे है। साथ जयहिन्द ने कहा जो मुख्यमंत्री जी ने पहले वादे किए है उन्हें पूरा करके दिखाए। जयहिन्द ने कहा कि अगर अग्निपथ योजना इतनी ही अच्छी है तो सभी नेता व मंत्री अपने-अपने बच्चो को फ़ौज में भर्ती करवाए। चाहे सरकार उनको तीस हजार रुपए तनख्वा की जगह एक लाख रुपए दे पर नेता अपने बच्चों को भर्ती जरूर करवाए।

जयहिन्द ने बताया कि सरकार ने अग्निपथ योजना लाकर युवाओ के भविष्य के साथ भद्दा मजाक किया हैं। युवा केवल पैसों के लिए फ़ौज में नही जाते , बल्कि युवाओ में देश सेवा का जुनून होता हैं। एक युवा फौज में जाने के लिए सुबह 3-4 बजे उठता हैं और सालों साल भर्ती की तैयारी करता हैं और भर्ती होने के लिए खूब पसीना बहाते हैं।