Monday , October 18 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / फिरोजाबाद में डेली 150 डेंगू केस, अधिकारी और डॉक्टर बोले- हालात आउट ऑफ कंट्रोल

फिरोजाबाद में डेली 150 डेंगू केस, अधिकारी और डॉक्टर बोले- हालात आउट ऑफ कंट्रोल

लखनऊ/फिरोजाबाद
यूपी के फिरोजाबाद और उसके आसपास के जिलों में डेंगू के मामले थम नहीं रहे हैं। यह हाल तब है जबकि 10 डॉक्टरों की टीम राजधानी लखनऊ से और केंद्र की स्वास्थ्य विभाग की टीम वहां कैंप किए है। अधिकारी और डॉक्टर हलकान हैं। प्रसार न रुकने की वजह तलाश पाना मुश्किल होता जा रहा है।

डीजी स्वाथ्य डॉ. वेदव्रत सिंह के मुताबिक असल वजह तो वहां से लौटने वाली टीम की रिपोर्ट के बाद ही पता चल सकेगी। हालांकि यह चिंताजनक है कि तमाम प्रयास के बाद भी केस रुक क्यों नहीं रहे हैं।

19 दिन में डेंगू पॉजिटिव हुए 3200
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे के बाद से ही लगातार यहां स्वास्थ्य विभाग की टीम कैंप कर रही है। नियमित स्तर पर फॉगिंग और ऐंटी लार्वा का छिड़काव करवाया जा रहा है। इसके बावजूद डेंगू के मामलों की संख्या थम नहीं रही है। बीते 19 दिन की बात करें तो डेंगू पॉजिटिव पाए गए लोगों की संख्या 3200 तक पहुंच चुकी है।

एक केस मिलने पर पूरे इलाके में हो रहा फॉगिंग
यहां की टीम के साथ गए एक डॉक्टर के मुताबिक जहां कहीं भी एक भी केस मिल रहा है। वहां पूरे इलाके में फॉगिंग करवाई जा रही है। सभी एहतियातन कदम उठाए जा रहे हैं, जिससे कि मच्छरों को पनपने से रोका जा सके। हालांकि यह उपाय कारगर नहीं दिख रहे हैं। मरीजों की संख्या कमोबेश उतनी ही दिख रही है।

पूरी तरह से खत्म नहीं हो रहा बीमारी का सोर्स
डॉ. वेदव्रत सिंह कहते हैं कि ऐसा लग रहा है कि सोर्स को पूरी तरह खत्म नहीं किया जा पा रहा है। मॉनसून का समय है। कहीं न कहीं पानी का डिपॉजिट मिल ही रहा है। मच्छर पनप रहे हैं। लोग कूलर खाली रख रहे हैं, लेकिन तलछटी में कहीं कुछ बचा ही रह जा रहा है। ऐसी ही तमाम वजहें हैं। वह कहते हैं कि अब टीम जब वापस आए वहां से तब ही पता चले कि आखिर यह आउटब्रेक न थमने की वास्तविक वजह क्या रही है।

सरकारी आंकड़ों में डेंगू से बस 4 मौतें
फिरोजाबाद में लगातार लोगों के मौत की जानकारी आ रही है, लेकिन अगर सरकारी आंकड़ों की बात करें तो यह संख्या महज 4 है। यहां पहुंची टीम के एक अधिकारी के मुताबिक जबतक एलाइजा टेस्ट में कोई भी व्यक्ति पॉजिटिव नहीं आता, तब तक उसकी मौत को हम डेंगू से पुष्ट नहीं मानते हैं।

ऐसे में हमारे पास आंकड़ों में इन्हें चार मानने के अलावा विकल्प नहीं है। फिर भी जहां कहीं भी बुखार से मौत हो रही है। वहां हम मच्छरों को समाप्त करने के हर एहतियाती कदम उठा रहे हैं।

अस्पतालों में पूरी तैयारी
फिरोजाबाद के जिला स्वास्थ्य प्रशासन के मुताबिक सीएचसी पर 15 बेड आरक्षित करवाए गए हैं। यहां बुखार से पीड़ित मरीजों को भर्ती किया जा रहा है। सीबीसी टेस्ट में अगर प्लेटलेट्स कम आ रही हैं तो उन्हें डेंगू संदिग्ध मानकर इलाज शुरू किया जा रहा है और एलाइजा टेस्ट के लिए सैंपल भेजे जा रहे हैं।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...