Saturday , September 18 2021
Breaking News
Home / क्राइम / मॉब लिंचिंग का Video: पशु ले जा रहे लोग गिड़गिड़ाते रहे- चोरी नहीं की; फिर भी पीट-पीटकर मार डाला

मॉब लिंचिंग का Video: पशु ले जा रहे लोग गिड़गिड़ाते रहे- चोरी नहीं की; फिर भी पीट-पीटकर मार डाला

छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM) जिले में पशु तस्करी के शक में मध्य प्रदेश के युवक सूरत बंजारे की हत्या और अन्य से मारपीट का वीडियो सामने आया है। युवक कहते रहे कि उन्होंने चोरी नहीं की, लेकिन भीड़ पीटती रही। सूरत के हाथों को रस्सी से बांध कर पीटा गया। जब वह बेहोश होने लगा तो उसे पेशाब पिलाने का भी प्रयास किया। इस हमले में 5 लोग घायल हैं। वहीं सरपंच सहित 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

युवक से कह रहे हैं कि तस्करी कबूल कर, वो कहता रहा, नहीं की चोरी

वीडियो में दिखाई दे रहा है कि युवक पर ग्रामीण पशु तस्करी करने की बात कबूल करने का दबाव बना रहे हैं। उसका सिर भी फोड़ दिया। जबकि युवक बार-बार कह रहा है कि उसने चोरी और तस्करी नहीं की। वह गरीब आदमी है। उसे मवेशियों को पहुंचाने के लिए अशोक पनिका ने कहा था। वही खरीद कर भी लाया। वह तो गरीब आदमी है, 400 रुपए मिले तो पहुंचाने के लिए तैयार हो गया। वह मवेशियों के मालिक को बुला रहा है।

 

सूरत अधमरा होकर गिर पड़ा तो भी उसे पीटते रहे

एक वीडियो अगले दिन सुबह 27 मई का है। इसमें दिखाई दे रहा है कि सूरत बंजारे के हाथ रस्सियों से पीछे कर बांधे गए हैं। उसे इतना पीटा गया है कि वह अधमरी हालत में है और बेहोश सा होकर जमीन पर गिर रहा है। इसके बाद भी आरोपी उसे गालियां दे रहे हैं और चिल्ला रहे हैं कि इसके मुंह पर पेशाब कर दो। आशंका जताई जा रही है कि ऑर्गन डैमेज होने से सूरत की मौत हुई है। हालांकि अभी तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई है।

अब तक 16 फरार हैं, 7 हिरासत में लिए गए, शिनाख्त परेड जारी

पुलिस ने इस मामले में डाडीबहरा निवासी जनपद सदस्य पति सुखराम भैना, साल्हेघोरी सरपंच पुरुषोत्तम बैगा, पूर्व सरपंच कृष्णा कुमार बैगा, सौरभ कुमार, धरम सिंह बैगा, रामकरण यादव, लालजी, गोविंद बैगा का बेटा, चुंगी बैगा और 16 अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया है। इनके खिलाफ मारपीट, बंधक बनाने और हत्या के आरोप हैं। इनमें 16 फरार हैं। पुलिस ने 7 और लोगों को हिरासत में लिया है। उनकी शिनाख्त परेड कराई जा रही है।

पशु तस्करी के शक में ग्रामीणों ने पीट-पीट कर मार डाला था

पशु तस्करी के शक में ग्रामीणों ने 26 मई की रात लवकेश और विकास को साल्हेखोरी गांव के पास पकड़ा था। इन युवकों को सामुदायिक भवन में बंद कर दो दिन तक लाठी-डंडों से पीटा गया। पता चलने पर जब लवकेश का भाई मुकेश और अमरकंटक के मेड़ाखार निवासी चाचा सूरत बंजारा 27 मई को सामुदायिक भवन पहुंचे। इस दौरान आरोपियों ने इन्हें पकड़ लिया और पिटाई शुरू कर दी। जिसके चलते सूरत बंजारे की मौत हो गई थी।

loading...

Check Also

Petrol Diesel Price: पेट्रोल-डीजल सस्ता हुआ या महंगा, फटाफट चेक करें अपने शहर में आज के नए रेट

यूपी में आज रविवार को पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel Price) के दाम जारी कर दिए गए ...