Tuesday , September 21 2021
Breaking News
Home / खबर / बिहार के लिए चेतावनी: पटना समेत 7 जिलों में ऑरेज अलर्ट, बिजली गिरने की भी आशंका

बिहार के लिए चेतावनी: पटना समेत 7 जिलों में ऑरेज अलर्ट, बिजली गिरने की भी आशंका

मौसम विभाग ने बिहार के पूर्वी और तराई वाले भागों से सटे जिलाें में भारी बारिश के साथ वज्रपात का अलर्ट जारी किया है। इन इलाकों में कई स्थानों पर अति भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। मौसम विभाग ने लोगों से अपील की है कि वह खराब मौसम में घर से बाहर खुले में नहीं निकलें। इस दौरान लगभग एक दर्जन जिलों में तात्कालिक अलर्ट भी किया गया है, जहां मौसम तेजी से बिगड़ने की संभावना है।

सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, सहरसा, मधेपुरा, मधुबनी, दरभंगा, सुपौल जिलों में अगले 2 से तीन घंटों में बारिश होने की संभावना है। साथ ही वज्रपात होने की भी चेतावनी दी गई है।

बारिश को लेकर अलर्ट
मौसम विभाग ने सारण, समस्तीपुर, वैशाली, पटना, भोजपुर, मुंगेर में ऑरेंज अलर्ट किया है। इन जिलों में तेज हवा के साथ बारिश और वज्रपात की संभावना जताई है। जहानाबाद और नालंदा जिले के कुछ भागों में तेज बारिश के साथ वज्रपात की संभावना है। नवादा और लखीसराय में भी मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। इन जिलाें में बारिश के साथ वज्रपात की संभावना है। इसी क्रम में बेगूसराय और शेखपुरा में भी बारिश के साथ वज्रपात की संभावना बनी हुई है। मौसम विभाग ने इन जिलों में सुरक्षा को लेकर अलर्ट पर रहने को कहा है।

3 साल में टूटा रिकॉर्ड, 3% कम रहा जून का तापमान
मौसम विभाग के मुताबिक समय से पहले मानसून आने के कारण तापमान काफी कम रहा है। जून माह में मानसून सीजन के पहले माह में तापमान नहीं बढ़ा है। जून माह के अधिकतम तापमान 2019 में 37.5 डिग्री सेल्सियस और जून 2020 में 33.6 डिग्री सेल्सियस रहा। जबकि 2021 में 33.3 डिग्री सेल्सियस था जो पिछले साल की तुलना में 0.3 डिग्री सेल्सियस कम है। साल 2021 में अधिकतम तापमान न बढ़ने का मुख्य कारण अपने समय से पूर्व मानसून का आगमन रहा है।

पूरे प्रदेश में जून माह में मानक के अनुसार 167.7 एमएम बारिश होनी चाहिए थी जबकि 354.3 एमए हुई है जो 111 प्रतिशत अधिक है। राजधानी पटना में 24 घंटे में सबसे अधिक 146 एमएम बारिश 26 जून को हुई दूसरे जगह 214.6 पश्चिम चंपारण के गोनहा में 30 जून को हुई है।

इसलिए बदल रहा मौसम
मौसम विभाग के मुताबिक मानसून की ट्रफ रेखा समुद्र तल से 0.9 किमी उपर से पश्चिमी उत्तर प्रदेश से पूर्वी उत्तर प्रदेश बिहार होते हुए असम तक फैली है। इसके प्रभाव से पूर्वी एवं तराई वाले भागों के सटे जिलों में वज्रपात के साथ भारी वर्षा एव एक दो स्थानों पर भारी से अति भारी वर्षा की संभावना है। दक्षिण बिहार के जिलों में बादल के साथ एक दो स्थानों पर बूंदाबादी की संभावना है।

loading...

Check Also

RCB vs KKR : कोहली के रडार पर 2 बड़े रिकॉर्ड, एक का बनना तो एकदम पक्का

आईपीएल फेज-2 का आज दूसरा मुकाबला रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच ...