Saturday , May 15 2021
Breaking News
Home / ऑफबीट / बेकाबू हुए हालात : महाराष्ट्र में अब कोरोना की तीसरी लहर का खतरा, 24 घंटे में 771 मरीजों की मौत

बेकाबू हुए हालात : महाराष्ट्र में अब कोरोना की तीसरी लहर का खतरा, 24 घंटे में 771 मरीजों की मौत

महाराष्ट्र में 15 मई तक फिर लॉकडाउन बढ़ चुका है। इसके बाद भी केस कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। गुरुवार को यहां 66 हजार 159 नए मामले सामने आए और 771 मरीजों की मौत हो गई। इसी दौरान राज्य में 68 हजार 537 मरीज ठीक होकर घर भी गए हैं। राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 45 लाख 39 हजार 553 हो गई।

नए केस के मामले में महाराष्ट्र दुनिया में दूसरे नंबर पर है। यहां से ज्यादा 69 हजार 079 मरीज सिर्फ ब्राजील में मिले हैं। कुल मरीजों के मामले में यह दुनिया के 215 देशों से आगे है। राज्य में मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 67 हजार 985 हो गया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अंदेशा जताया है कि महाराष्ट्र में जुलाई-अगस्त में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। वहीं, मुंबई में आज से 2 मई तक वैक्सीनेशन बंद किया गया है।

मुंबई में वैक्सीन की कमी

वैक्सीन की कमी के कारण अगले तीन दिन मुंबई में कोरोना के टीके नहीं लगाए जा सकेंगे। यहां 2 मई तक वैक्सीनेशन अभियान को रोक दिया गया है। बुधवार देर रात BMC कमिश्नर आईएस चहल ने कहा, ‘हमें कोवीशील्ड वैक्सीन का डोज मिल गया है। गुरुवार को BMC और सरकारी सेंटरों पर टीके लगाए जाएंगे।’ मगर गुरुवार शाम तक उनके इस दावे की हवा निकल गई। BMC ने गुरुवार शाम को घोषणा की, ‘वैक्सीन की कमी के कारण अगले 3 दिन तक मुंबई में वैक्सीनेशन नहीं करेंगे।” इससे पहले मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने गोरेगांव के नेस्को वैक्सीनेशन सेंटर का औचक दौरा किया। सेंटर के बाहर लोगों की लंबी कतारें देखी गईं।

तीसरी लहर का सामना करने के लिए तैयारी शुरू कर दें: उद्धव
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गुरुवार को कहा, ‘जुलाई-अगस्त में कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका है। उसका सामना करने के लिए अभी से तैयारी शुरू कर दें। उस वक्त हम यह नहीं सुनेंगे कि ऑक्सीजन की कमी है या दवाइयां नहीं हैं।’ गुरुवार को मुख्यमंत्री ठाकरे ने स्वास्थ्य विभाग, कलेक्टर, विभागीय आयुक्त और कोविड से लड़ाई लड़ने वाले अधिकारियों के साथ तीन घंटे तक चर्चा की।

सरकार कराएगी कोरोना पॉजिटिव सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग

महाराष्ट्र के हर जिले से कोरोना पॉजिटिव 25 सैंपल की अब जीनोम सीक्वेंसिंग कराई जाएगी। इसके लिए दिल्ली के इंस्टिट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटिग्रेटिव बायोलॉजी (IGIB) में राज्य से तीन महीने लगातार सैंपल भेजे जाएंगे। महाराष्ट्र से पहले केरल ने अपने राज्यों के कोरोना पॉजिटिव सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग कराना शुरू किया था। ताकि कोरोना के DNA में हो रहे बदलाव का सही सही पता लगाया जा सके। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का इंडियन वैरिएंट्स (B.1.617), यूके वैरिएंट्स (B.1.1.7), ब्राजील वैरिएंट्स (P.) और दक्षिण अफ्रीका वैरिएंट्स (B.1.35) सक्रिय हैं।

बिना लक्षण वाले मरीजों के लिए नई गाइडलाइंस जारी की गईं

  • घर पर रेमडेसिविर इंजेक्शन न लगाने की सलाह दी गई है। यह इंजेक्शन सिर्फ हॉस्पिटल में लगाया जाना चाहिए, इसलिए इसे घर पर स्टोर न करें।
  • अगर मामूली लक्षण हैं, तो स्टेरॉयड का इस्तेमाल न करें।
  • अगर सात दिन लगातार लक्षण बने रहते हैं यानी खांसी, बुखार रहता है, तो डॉक्टर की सलाह पर कम डोज का स्टेरॉयड लिया जा सकता है।

मुंबई में कोरोना ग्रोथ रेट कम होकर 0.86% तक पहुंची

मुंबई में 18 अप्रैल को कोरोना की ग्रोथ रेट बढ़कर 1.53 प्रतिशत हो गई थी, जो 29 अप्रैल को घटकर 0.86 प्रतिशत रह गई है। यानी दस दिन पहले जिस तेजी से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही थी, उसमें कमी आई है। BMC स्वास्थ्य विभाग के अनुसार मुंबई के ज्यादातर वॉर्डों में कोरोना की ग्रोथ रेट 1 प्रतिशत से कम पर आ गई है। इसका प्रमुख कारण मरीजों की संख्या में आ रही गिरावट है। पिछले कई दिनों से लगातार 4 हजार व उससे थोड़ा ज्यादा केस मुंबई में सामने आ रहे हैं। मुंबई में रिकवरी रेट में भी सुधार आया है। मुंबई में 29 मई को रिकवरी रेट 88% हो गया है, जो काफी नीचे चला गया था। इसी तरह डबलिंग रेट सुधरकर 79 दिन हो गया है।

महाराष्ट्र दिवस पर नहीं होगा कोई कार्यक्रम

महाराष्ट्र के 61वें स्थापना दिवस पर 1 मई को ध्वजारोहण के अलावा कोई बड़ा कार्यक्रम नहीं होगा। इस संबंध में सामान्य प्रशासन के राजशिष्टाचार विभाग ने निर्देश जारी किया है। राज्य सरकार ने राज्यभर में धारा 144 के साथ-साथ लॉकडाउन की पाबंदियां 15 मई तक लागू की हैं।

महाराष्ट्र दिवस के लिए गाइडलाइन जारी

  • जिला मुख्यालय में केवल एक जगह सुबह आठ बजे ध्वजारोहण किया जाएगा।
  • विभागीय मुख्यालय पुणे, नागपुर, औरंगाबाद, नासिक, अमरावती में भी विभागीय आयुक्तों की मौजूदगी में ध्वजारोहण समारोह की उचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। जिला अधिकारियों से अलग से ध्वजारोहण कार्यक्रम आयोजित नहीं करने को कहा गया है। अन्य सभी जिलों में केवल जिलाधिकारी कार्यालय में ध्वजारोहण करने का निर्देश दिया गया है।
  • उल्लेखित जगहों पर केवल गार्जियन मंत्री, विभागीय आयुक्त मुख्यालय समारोह में विभागीय आयुक्त, महापौर, नगर अध्यक्ष, जिलाधिकारी, पुलिस आयुक्तालयों में पुलिस आयुक्त मौजूद रहेंगे।
  • इसी तरह, महापालिका आयुक्त, जिला पुलिस अधीक्षक व जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, पदाधिकारी भी उपस्थित रहेंगे। किसी को भी कार्यक्रम में आमंत्रित नहीं किया जाएगा।
  • विधानमंडल, उच्च न्यायालय व अन्य संवैधानिक कार्यालयों में कम से कम उपस्थिति में ध्वजारोहण किया जाए। ध्वजारोहण करने वाले पालक मंत्री की अनुपस्थिति में विभागीय आयुक्त मुख्यालय में विभागीय आयुक्त और जिला मुख्यालय में कलेक्टरों को ध्वजारोहण करने की सूचना दी गई है।
जब तक 30 लाख वैक्सीन नहीं मिलेंगी अभियान शुरू नहीं होगा: राजेश टोपे

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने गुरुवार को कहा कि राज्य को कोरोनावायरस रोधी टीके की 25-30 लाख शीशियां जब तक नहीं मिल जाती तब तक 18-44 वर्ष की उम्र के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू नहीं किया जाएगा। टोपे ने कहा कि राज्य की क्षमता रोजाना आठ लाख लोगों को टीका लगाने की है।

भीड़ को देखते हुए मुंबई से चलने वाली ट्रेनों में कोच बढ़े
देश के कुछ भागों के लिए टिकटों की मांग के चलते पश्चिम रेलवे अपनी कुछ ट्रेनों में कोच बढ़ाने जा रही है। ट्रेन नंबर 09021/09022 बांद्रा टर्मिनस-लखनऊ स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच बांद्रा टर्मिनस से 1 मई से 29 मई तक तथा लखनऊ से 2 मई से 30 मई तक जोड़ा जाएगा।

ट्रेन नंबर 02901/02902 बांद्रा टर्मिनस-उदयपुर सिटी स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच बांद्रा टर्मिनस से 4 मई से 29 मई तक तथा उदयपुर सिटी से 5 मई से 30 मई तक जोड़ा जाएगा। ट्रेन नंबर 09019/09020 बांद्रा टर्मिनस-हरिद्वार स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच 1 मई से 31 मई तक तथा हरिद्वार से 2 मई से 1 जून तक जोड़ा जाएगा।

loading...
loading...

Check Also

कफनचोर गैंग के सपोर्ट में बोले BJP नेता- ये तो हमारे वोटर हैं.. छोड़ दीजिए योगीजी..

थोड़े ही दिन पहले मानवता को शर्मसार करने वाली खबर आई थी। कुछ लोगों के ...