Thursday , December 2 2021
Home / ऑफबीट / ब्रेकिंग LIVE : असम में सामने आया नया वायरस, पहले हमले में मारे 1950 सुअर

ब्रेकिंग LIVE : असम में सामने आया नया वायरस, पहले हमले में मारे 1950 सुअर

डेमो

पूरे देश में कोरोना वायरस का खौफ छाया है. इस महामारी के चलते लॉकडाउन के बाद लोग घरों में हैं. इस वायरस से पूरा देश लड़ रहा है. इसी बीच असम के छह जिलों में एक रहस्यमय वायरस से 1950 से अधिक सुअरों की मौत हो गई है. ये सुअर एक हफ्ते के अंदर किसी विदेशी वायरस से मरे हैं. राज्य सरकार ने शनिवार को सुअर और उनके मीट खरीद पर प्रतिबंध लगा दिया है. कृषि मंत्री अतुल बोरा ने बताया कि आदेश जारी किया है कि जो लोग सुअरों के व्यवसाय में हैं, वो एक स्थान से दूसरे स्थान नहीं जा सकते हैं.

जांच के बाद स्पष्ट नहीं मौत का कारण
कृषि मंत्री ने बताया, ‘जैसे ही हम लोगों को इन अप्राकृतिक मौतों के बारे में सूचना मिली हम लोगों ने हर प्रभावित जिले में टीमें भेजी हैं. मरने वाले सुअरों का सैंपल लिया जा रहा है. नॉर्थ ईस्टर्न रीजनल डिजीज डायग्नॉस्टिक लैबोरैटरी और बायोसेफ्टी लेवल-3 लैबोरैटरी ने सुअरों के सैंपल लिए हैं. जो रिपोर्ट आई है उससे सुअरों की मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो पा रहा है. हमें शक है कि यह कोई अनजान विदेशी वायरस है.’

अब जांच के लिए भोपाल भेजे गए सैंपल
अतुल बोरा ने बताया कि राज्य में सभी बूचड़खाने भी बंद कर दिए गए हैं. लोगों को भी सुअरों के फार्म हाउस से दूर रहने को कहा गया है. सैंपलों को नैशनल इंस्टिटियूट ऑफ हाई सिक्यॉरिटी ऐनिमल डिसीज भोपाल भी जांच के लिए भेजा गया है. मंत्री ने कहा कि भोपाल से रिपोर्ट आने के बाद अगले कदम उठाए जाएंगे.

पशुओं का हुआ है टीकाकरण
कृषि मंत्री ने कहा कि यह असम में यह सुअरों को फ्लू होने का मौसम है. राज्य में हमने पशुओं को टीका लगाया है. कई सुअर स्वस्थ हैं. सिवसागर, धेमाजी, लखीमपुर, डिब्रूगढ़, जोरहाट और बिश्वनाथ में 1964 सुअरों की मौत हुई है. इसमें से सिवसागर जिले में 1128, धेमाजी में 616 और डिब्रूगढ़ में 107 सुअरों की मौत हुई है. बाकी सुअर अन्य जिलों में मरे हैं. इन अप्राकृतिक मौतों के सही कारणों की पहचान नहीं हो पाई है.

छह जिलों में कंटेनमेंट जोन घोषित
अतुल बोरा ने बताया, ‘हम नहीं चाहते हैं कि यह बीमारी फैले, इसलिए इन छह जिलों को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है और सूअरों के संपर्क में रहने वाले लोगों को उनके ठहरने की जगह से बाहर जाने पर रोक लगा दी गई है.’

loading...

Check Also

पेट्रोल-डीजल की कमी के बाद अब इस देश में अंडरवियर्स और पजामे की भारी किल्लत

लंदन (ईएमएस)।आपकों जानकार हैरानी होगी कि यूके में इन दिनों अंडरवियर्स और पजामे की भारी ...