मधुमेह: रसोई में उन 4 मसालों के बारे में जानें जो रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित कर सकते हैं

मधुमेह: जब कोई व्यक्ति मधुमेह से जूझ रहा होता है, तो उसके लिए अपने रक्त शर्करा के स्तर को स्वस्थ रखना बहुत जरूरी होता है। अगर ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल से बाहर हो जाए तो यह कई समस्याओं को जन्म दे सकता है। एक स्वस्थ आहार और जीवनशैली टाइप 2 मधुमेह के प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

पोषण विशेषज्ञ भी आहार में कुछ मसालों और दवाओं को शामिल करने की सलाह देते हैं। भारतीय व्यंजन कई तरह की दवाओं और मसालों से भरे पड़े हैं, जो किसी न किसी रूप में आपकी सेहत को फायदा पहुंचाते हैं। तो आइए जानते हैं उन मसालों के बारे में जो मधुमेह रोगियों के लिए बहुत उपयोगी हैं।

ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करते हैं ये 4 मसाले और दवाएं

1. हल्दी

पोषण विशेषज्ञों के अनुसार, हल्दी में करक्यूमिन होता है, जो एक मजबूत एंटीऑक्सीडेंट है और मधुमेह की जटिलताओं का इलाज करने में मदद करता है।

हल्दी कई तरह से सेहत के लिए अच्छी होती है। हल्दी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं।

2. मेथी

कार्बोहाइड्रेट के पाचन और अवशोषण को धीमा करके रक्त शर्करा के स्तर में सुधार करता है। मेथी के बीज आपके दिल के स्वास्थ्य के लिए भी अच्छे होते हैं, क्योंकि ये कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करते हैं और सूजन को कम करते हैं।

3. तुलसी

तुलसी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है और शरीर को मजबूत बनाती है। पोषण विशेषज्ञ इस बात पर भी जोर देते हैं कि तुलसी रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद कर सकती है। तुलसी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट ऑक्सीडेटिव तनाव को कम कर सकते हैं। यह दवा मानसिक स्वास्थ्य में सुधार के लिए भी जानी जाती है।

4. दालचीनी

दालचीनी में एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं। यह एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भी भरपूर होता है। शोध के अनुसार, दालचीनी टाइप 2 मधुमेह के खतरे को कम करने के लिए जानी जाती है।