Monday , October 18 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / अयोध्या: 1.13 करोड़ वाली जमीन 7.35 करोड़ में खरीदा श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट, महंत बोले- मुंह मांगा दाम मिला

अयोध्या: 1.13 करोड़ वाली जमीन 7.35 करोड़ में खरीदा श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट, महंत बोले- मुंह मांगा दाम मिला

अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट जमीन खरीदने को लेकर विवादों में घिरा हुआ है। इस मामले में एक के बाद एक खुलासे हो रहे हैं। ताजा मामला अयोध्या के दशरथ गद्दी के महंत बृजमोहन दास का सामने आया है। ट्रस्ट की तरफ से महंत को भी मुंहमांगी कीमत अदा की गई। इसमें इलाके के सर्किल रेट को दरकिनार कर 7 करोड़ 35 लाख रुपये में कुल 26 बिस्वा जमीन खरीदी गई। लेकिन इसमें रोचक बात यह है कि सर्किल रेट के हिसाब से इस जमीन की कीमत केवल एक करोड़ 13 लाख रुपए ही है। अब सवाल ये है कि ट्रस्ट ने इस जमीन की सात गुनी कीमत क्यों अदा की।

एक ही दिन हुआ दो जमीनों का सौदा

महंत बृजमोहन दास ने अपने मंदिर के पिछले हिस्से में स्थित खेती की जमीन श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को दिया है। उन्होंने गाटा संख्या 131 व 132 की दो जमीन का सौदा ट्रस्ट की तरफ से किया गया। जमीन का पहला सौदा पांच करोड़ में किया गया जो 16 विस्वा जमीन का है और यह सौदा 21 मई को हुआ था।

इसी दिन महंत बृजमोहन दास ने पहली जमीन से सटी दूसरी जमीन जो पांच बिस्वा है, ट्रस्ट को एक करोड़ 75 लाख रुपए में दे दिया। महंत बृजमोहन दास ने खुद स्वीकार किया किया कि उन्हें उनकी जमीन की मुंहमांगी कीमत मिली है और वे संतुष्ट हैं।

यह तस्वीर दशरथ गद्दी के महंत बृजमोहन दास की है जिनसे यह जमीन ट्रस्ट ने खरीदी है।

तहसील प्रशासन पर खुद के साथ धोखा करने का आरोप लगाया
महंत बृजमोहन दास ने अपने कब्जे की एक और जमीन जिसका गाटा संख्या 135 और जिसका क्षेत्रफल 10 बिस्वा है, उसको लेकर तहसील प्रशासन पर खुद के साथ धोखा करने का आरोप लगाया है। उनकी कब्जे की जमीन का पैसा 20 लाख रुपए दशरथ महल के महंत देवेंद्र प्रसादाचार्य को दिया गया जो पूरी तरह अनुचित है।

उन्होंने कहा कि हमें हमारा हक मिलना चाहिए जबकि इस बारे में बात करने पर महंत देवेंद्र प्रसादाचार्य ने बताया कि यह जमीन उनके पूर्वजों के नाम 1865 से ही दर्ज है और और उनका मंदिर अयोध्या के चुनिंदा जमीदारी मंदिरों में शामिल है।

सात गुना अधिक दाम में खरीदी गई जमीन
महंत बृजमोहन दास द्वारा ट्रस्ट को दी गई कुल 26 बिस्वा जमीन का सरकारी मूल्य यानी सर्किल रेट के हिसाब से एक करोड़ 13 लाख रुपए है l कुल मिलाकर ट्रस्ट ने यह संपत्ति सरकारी मूल्य से सात गुना ज्यादा रेट पर खरीदी है l इन जमीनों की महंगी खरीदारी के बाद अन्य विक्रेता अब अपनी जमीनों के भाव 28 लाख बिस्वा से भी ज्यादा मांग रहे हैं जिससे ट्रस्ट पर आर्थिक बोझ और बढ़ेगा।

ट्रस्ट को अभी 38 एकड़ जमीन की जरूरत

  • ट्रस्ट को जरूरत के लिए अभी और 25 एकड़ जमीन खरीदारी की जरूरत है। इसके लिए वह भू स्वामियों से बातचीत कर रहा है।
  • आगामी अक्टूबर माह तक राम मंदिर के नीव का निर्माण पूरा होने से पहले ट्रस्ट को रामजन्म भूमि परिसर के लिए 70 एकड़ भूमि के अलावा 38 एकड़ भूमि हर हाल में खरीदना है।
  • नींव निर्माण होने के बाद मंदिर की सुरक्षा दीवार बनाए जाने का काम समय से हो सके इसके लिए 38 एकड़ में से ट्रस्ट करीब 10 एकड़ भूमि ही क्रय कर पाया है।

मंदिर परिसर के आसपास की जमीनें खरीद रहा ट्रस्ट

  • राम मंदिर ट्रस्ट को 70 एकड़ जमीन केंद्र सरकार की तरफ से मिली थी। ये वो जमीन थी जिसे केंद्र सरकार ने अधिग्रहीत किया था।
  • ट्रस्ट ने मंदिर के विस्तार का प्लान बनाया। इसके लिए अब 108 एकड़ चाहिए। पहले मंदिर परिसर 3 एकड़ में बना था, जिसे अब 5 एकड़ में बनाया जाएगा।
  • हाल ही में ट्रस्ट ने पास के दो मंदिरों को भी 4-4 करोड़ रुपए में खरीदा है।
  • जिन लोगों से ये जमीन ली जा रही है उन्हें दूसरी जगह स्थापित भी कराया जा रहा है। कोर्ट फीस और स्टाम्प पेपर की खरीदारी ऑनलाइन की जा रही है।
loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...