Saturday , May 15 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / महामारी से लखनऊ का हाल बेहाल लेकिन बस अड्डों पर नहीं हो रही कोरोना जांच

महामारी से लखनऊ का हाल बेहाल लेकिन बस अड्डों पर नहीं हो रही कोरोना जांच

लखनऊ। रेलवे प्रशासन यात्रियों की सुविधा के लिए लखनऊ होकर 09175 मुंबई सेंट्रल-भागलपुर स्पेशल ट्रेन का संचालन 28 अप्रैल से करेगा। लखनऊ के चारों बस अड्डों पर कई दिनों से यात्रियों की कोविड जांच नहीं हो रही है। इसलिए संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। रेलवे प्रशासन के मुताबिक, 09175 मुंबई सेंट्रल-भागलपुर स्पेशल ट्रेन का संचालन 28 अप्रैल से लखनऊ होकर किया जाएगा। यह स्पेशल ट्रेन 28 अप्रैल को मुंबई सेंट्रल से सुबह 11ः05 बजे चलकर रतलाम से रात 9ः25 बजे होते हुए 30 अप्रैल को सुबह 11 बजे भागलपुर स्टेशन पहुंचेगी। इसी तरह से 09178 भागलपुर-मुंबई सेंट्रल स्पेशल ट्रेन 01 मई को भागलपुर से सुबह 06 बजे चलकर रतलाम से शाम 5ः35 होते हुए 03 मई को सुबह 5ः15 बजे मुंबई सेंट्रल पहुंचेगी।

इस स्पेशल ट्रेन का ठहराव दोनों दिशाओं में बोरीवली, वापी, सूरत, वडोदरा, गोधरा, रतलाम, कोटा, सवाई माधोपुर, भरतपुर, अछनेरा, मथुरा, कासगंज, फर्रुखाबाद, कानपुर सेंट्रल, ऐशबाग, बाराबंकी, गोंडा, बस्ती, गोरखपुर, पनीअह्वा, बेतिया, बापूधाम मोतीहारी, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, बरौनी जंक्शन, बेगूसराय, मुंगेर एवं सुल्तान गंज स्टेशनों पर किया जाएगा।इस स्पेशल ट्रेन में 02 थर्ड एसी, 10 स्लीपर और 08 सामान्य श्रेणी के कोच लगेंगे। ट्रेन के सभी कोच आरक्षित श्रेणी के होंगे। इसमें कंफर्म टिकट पर ही यात्री सफर कर सकेंगे। यात्रियों के लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य है।

लखनऊ के बस अड्डों पर नहीं हो रही कोविड जांच
राजधानी लखनऊ के बस अड्डों पर अन्य राज्यों से आने वाले श्रमिकों की कोविड जांच बंद हो गई। दिल्ली, हरियाणा, कोटा, उत्तराखंड समेत कई गैर राज्यों से आने वाली बसों के श्रमिक बिना जांच कराए घर जा रहे हैं। बस अड्डे पर बसों से उतरने के बाद कोई रोकने और टोकने वाला भी नहीं है। इससे कोरोना संक्रमणं का खतरा बढ़ गया है। चारबाग, आलमबाग, अवध और कैसरबाग बस अड्डे पर कई दिनों से कोविड जांच टीम नहीं आ रही है। जांच कराने के इच्छुक लोग कोविड हेल्प डेस्क पर आकर लौट जा रहे हैं।

जिला प्रशासन और सीएमओ को भेजी गई सूचना
लखनऊ के चारों बस अड्डों पर कोविड जांच नहीं हो रही है। इस बात की सूचना लखनऊ के क्षेत्रीय प्रबंधक ने सीएमओ और जिला प्रशासन को भेज दी है। इसके बावजूद कोविड जांच की व्यवस्था अभी तक नहीं हो सकी है। पहले लखनऊ के चारों बस अड्डों पर रोजाना एक हजार लोगों की जांच हो रही थी। जिसमें 80 से 120 लोग रोजाना एंटीजन जांच में पॉजिटिव आते थे। राजधानी के बस अड्डों पर कोविड जांच कराने की जिम्मेदारी सीएमओ और जिला प्रशासन की है।

आलमबाग बस स्टेशन पर 10 दिनों से नहीं हो रही कोविड जांच
आलमबाग बस अड्डे पर करीब दस दिनों से कोविड जांच नहीं हो रही है। वहीं चारबाग और अवध बस स्टेशन पर बिना बताएं जांच टीम नहीं आ रही है। जबकि कैसरबाग बस अड्डे पर जांच टीम संक्रमित होने के बाद से नहीं आ रही है।

loading...
loading...

Check Also

कफनचोर गैंग के सपोर्ट में बोले BJP नेता- ये तो हमारे वोटर हैं.. छोड़ दीजिए योगीजी..

थोड़े ही दिन पहले मानवता को शर्मसार करने वाली खबर आई थी। कुछ लोगों के ...