Friday , July 23 2021
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / चौकन्ना है भारत: नई चाल चला ड्रैगन, गलवान में खून बहाने के ‘मास्टरमाइंड’ को दिया प्रमोशन

चौकन्ना है भारत: नई चाल चला ड्रैगन, गलवान में खून बहाने के ‘मास्टरमाइंड’ को दिया प्रमोशन

नई दिल्ली ;  चीन ने अपने उस अधिकारी को महज सात महीने में ही प्रमोशन दे दिया है जिसकी नियुक्ति के तुरंत बाद ही गलवान घाटी में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच खूनी झड़प हुई थी। उस घटना में 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। उधर, चीनी वेस्टर्न थिएटर कमांड (WTC) के कमांडर को नियुक्ति के सात महीने बाद ही हटा दिया गया है तो भारत यह पता करने में जुट गया है कि आखिर यह कदम सामान्य ट्रांसफर-पोस्टिंग का मामला है या फिर कुछ और। ध्यान रहे कि वेस्टर्न थिएटर कमांड ही भारत से लगी चीन की सीमा की देखरेख करता है।

गलवान के मास्टरमाइंड शू किलिंग का प्रमोशन
वेस्टर्न थिएटर कमांड में अब तक सिर्फ पैदल सेना के कमांडर शू किलिंग (Xu Qiling) को प्रमोशन देकर जनरल बना दिया गया और उन्हें कमांड की सभी सेनाओं का चीफ बना दिया गया। उन्होंने वेस्टर्न थिएटर कमांड के ओवरऑल कमांडर जनरल झांग शुडोंग (Zhang Xudong) की जगह ली। बीते वर्ष अप्रैल-मई से ही लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर जारी तनाव के बीच भारत, चीन के इस कदम की करीब से पड़ताल कर रहा है।

सात महीने में ही कमांडर को हटाने का क्या है संकेत
एक सीनियर ऑफिसर ने कहा, ‘झांग ने पिछले वर्ष दिसंबर में जनरल झाओ जोंगकी (Zhao Zongqi) की जगह ली थी। चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) में इतने बड़े रैंक का कोई सैन्य अधिकारी सात महीने में ही नहीं हटा दिया जाता है। निश्चित रूप से कुछ बात है। भारत के साथ तनाव के वक्त से अब तक वेस्टर्न कमांड के तीन चीफ बदल चुके हैं।’ शू को पीएलए में उभरता सितारा के रूप में देखा जाता रहा है। वो अब सबसे कम उम्र में फुल जनरल का पद पाने वालों की लिस्ट में शामिल हो गए। सोमवार को जिन अन्य तीन सैन्य अधिकारियों को प्रमोशन दिया गया, उनमें साउदर्न थिएटर कमांड के चीफ वांग शिउबिन (Wang Xiubin), पीएलए आर्मी कमांडर लियु झेनली (Liu Zhenli) और पीएलए स्ट्रैटिजिक सपोर्ट (मिसाइल) फोर्स कमांडर जू क्यानशेंग (Ju Qiansheng) शामिल हैं।

बदलाव की कहीं ये वजह तो नहीं
भारतीय अधिकारियों ने कहा कि अभी वेस्टर्न कमांड में बदलाव को लेकर अटकलें लगाना ठीक नहीं होगा। एक अधिकारी ने कहा, ‘चीनी कम्यूनिस्ट पार्टी भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए इस तरह के कदम उठाती रहती है। संभव है कि झांग को भी इसीलिए हटाया गया होगा। यह भी संभव है कि उन्हें हटाने का संबंध भारत के साथ जारी सीमा विवाद से जुड़ा हो। हमें किसी फैसले पर पहुंचने से पहले इंतजार करना चाहिए।’

शी जिनपिंग की हर चाल पर नजर
शी जिनपिंग सेंट्रल मिलिट्री कमिशन (CMC) के चेयरमैन हैं। चीनी सेना पीएलए, सीएमसी के अंदर ही काम करती है। चिनफिंग ने पिछले वर्ष जून महीने में शू को वेस्टर्न थिएटर कमांड की पैदल सेना का कमांडर नियुक्त किया था। उसके कुछ दिनों बाद ही गलवान घाटी में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच खूनी झड़प हो गई थी। अब तो शू को पूरे वेस्टर्न कमांड का ही हेड बना दिया गया है।

12वें दौर की बातचीत से पहले जिनपिंग ने पलटा पासा
भारत के लिए चीनी वेस्टर्न कमांड में बदलाव का महत्व इसलिए भी है क्योंकि जल्द ही सीमा विवाद के समाधान के लिए 12वें दौर की सैन्य वार्ता होने वाली है। भारत और चीन के बीच 9 अप्रैल को 11वें दौर की बातचीत हुई थी। सूत्रों का कहना है कि पीएलए अब पूर्वी लद्दाख के हॉट स्प्रिंग्स-गोगरा-कॉंगका ला एरिया में पेट्रोलिंग पॉइंट्स 15, 17 और 17ए पर दोनों तरफ से डटे सैनिकों को पीछे हटाने की रूपरेखा तय करने के लिए बातचीत करने को तैयार है। चीनी सैनिकों ने रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण देसापंग प्लेन्स का रास्ता रोक रखा है जिससे भारतीय सैनिक पेट्रोलिंग के लिए आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं।

अब तक कोई थिएटर कमांड नहीं बना सका भारत
ध्यान रहे कि भारत के पास अब तक कोई इंटिग्रेटेड कमांड नहीं बना पाया है और चीन से सटी सीमा की रखवाली के लिए इसके चार आर्मी और तीन एयर फोर्स कमांड तैनात हैं। वहीं, लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश तक की कुल 3,488 किमी की एलएसी के लिए चीन ने वेस्टर्न थिएटर कमांड बना रखा है।

loading...

Check Also

आगरा: 8.5 करोड़ की डकैती का मास्टरमाइंड है खानदानी अपराधी, दो भाइयों का हुआ एनकाउंटर, बहन पर भी 8 केस दर्ज

आगरा में मणप्पुरम गोल्ड लोन कंपनी में 8.5 करोड़ रुपए की डकैती का मास्टरमाइंड नरेंद्र ...