Thursday , October 28 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / मेरठ: घोड़े में मिला जानलेवा ग्लेंडर संक्रमण, जानवरों से इंसानों में आसानी से होता है ट्रांसफर

मेरठ: घोड़े में मिला जानलेवा ग्लेंडर संक्रमण, जानवरों से इंसानों में आसानी से होता है ट्रांसफर

मेरठ में शनिवार को ग्लेंडर संक्रमण की पुष्टि हस्तिनापुर के गणेशपुर में एक घोड़े में हुई है। एक लाइलाज संक्रमण मिलने से क्षेत्र में अफरा तफरी मची है। राजकीय पशु चिकित्सा अधिकारी व सीएचसी प्रभारी ने टीम के साथ मौके पर पहुंचकर गांव के पशुओं और उनके संपर्क में आए ग्रामीणों की जांच की। जिसमें दो लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए।

मेरठ के गणेशपुर गांव में एक घोड़े में ग्लेंडर्स फारसी संक्रमण पाया गया। चिकित्सकों के अनुसार यह ऐसा संक्रमण है जो घोड़ों से मनुष्य में भी आसानी से पहुंच जाता है। इसलिए इस बीमारी का इलाज संक्रमित घोड़े की मौत है।

राजकीय पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ राकेश कुमार ने बताया कि यह घोड़ा हस्तिनापुर क्षेत्र के एक भट्टे पर ईट ढुलाई का कार्य करता था। और अब इस घोड़े के संपर्क में आए लोगों की भी जांच की जा रही है। क्योंकि इस घोड़े के संपर्क में आए लोगों में भी संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। यह एक संक्रमण है। जो घोड़े को छूने भर से फैल सकती है ग्लैंडर्स बीमारी घोड़ों में पाई जाने वाली जानलेवा संक्रमण है।

चिकित्सकों के अनुसार इस बीमारी का संक्रमण होने पर घोड़े की नाक बहने लगती है उसे सांस लेने में काफी दिक्कत होती है। घोड़े का शरीर सूखने लगता है और उसके ऊपर शरीर पर गांठे हो जाती है। विशेषज्ञ चिकित्सकों के अनुसार इस बीमारी का कोई इलाज नहीं है और इससे छुटकारा पाने के लिए संक्रमित घोडे या पशु को वैज्ञानिक तरीके से मारना पड़ता है।

इतना ही नहीं यह बीमारी गधों व खच्चरों में भी पाई जाती है। और यह किसी भी पालतू पशुओं में आसानी से पहुंच सकती है। यह बीमारी बकोरिया मेलीरियाई नामक जीवाणु से फैलती है। हस्तिनापुर में पहले ही कोरोना संक्रमण का कहर जारी है। अब स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हुई तो अब इस वायरस के आने से लोग दहशत में आ गए हैं।

10 फ़ीट गहरा दबाया जाता है मृत घोड़ा
पशु चिकित्सक का कहना है कि ग्लेंडर फारसी संक्रमण घोड़ों में बहुत ही खतरनाक बीमारी है। इस बीमारी की पुष्टि होने पर घोड़ा मारना पड़ता है। जिसके बाद जमीन में करीब 10 फुट गहराई तक मिट्टी में दबा दिया जाता है। इस संबंध में रविवार से क्षेत्र के आसपास के इलाके में घोड़ों को लेकर भी एक विशेष अभियान चलाया जाएगा। जिसमें पशु चिकित्सकों की टीम लगाई गई है।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...