Friday , July 30 2021
Breaking News
Home / क्राइम / हेरोइन की आदी हुई दिल्ली, राजधानी में इतने लाख लोग हैं इसके नशेड़ी
Junkie man holding drug syringe injection heroin to hand.Social disaster and epidemic of narcotic addiction concept.

हेरोइन की आदी हुई दिल्ली, राजधानी में इतने लाख लोग हैं इसके नशेड़ी

नई दिल्ली: दिल्ली सहित देशभर में बड़ी मात्रा में हेरोइन खपाया जा रहा है. देश में आने वाली करीब 90 फीसदी हेरोइन अकेले अफगानिस्तान से आती है. आपको जानकर हैरानी होगी कि अकेले दिल्ली में करीब 5 लाख लोग हेरोइन का नशा करते हैं. देशभर में जहां 0.7 फीसदी लोग हेरोइन लेते हैं, वहीं दिल्ली में 2.3 फीसदी लोग हेरोइन का नशा करते हैं. विभिन्न एजेंसियां ड्रग्स की खेप को सालभर पकड़ती है, लेकिन इसका कारोबार लगातार बढ़ता ही जा रहा है.

एनसीबी के जोनल डायरेक्टर केपीएस मल्होत्रा ने बताया कि भारत में सबसे ज्यादा हेरोइन अफगानिस्तान से आती है. हेरोइन को बनाने के लिए अफीम का उत्पादन करना होता है. दुनिया में अफगानिस्तान एकमात्र ऐसा देश है, जहां इसका बंपर उत्पादन किया जाता है. अफगानिस्तान में बंपर उत्पादन के चलते हेरोइन बेहद सस्ती होती है, लेकिन भारत सहित अन्य देशों में जाने पर इसकी कीमत कई गुना बढ़ जाती है. अफगानिस्तान के अलावा म्यांमार से भी हेरोइन को भारत में खपाया जाता है. भारत में हेरोइन का कारोबार 1.44 लाख करोड़ रुपये का होता है. भारत में भी हेरोइन बनाई जाती है, लेकिन इसकी मात्रा बहुत कम है.

केपीएस मल्होत्रा ने बताया कि हेरोइन भेजने के लिए 2 मुख्य रूट हैं. हवाई रूट से एक बार में ज्यादा बड़ी खेप नहीं भेजी जा सकती. इसलिए बड़ी खेप के लिए समुद्री रास्ते का इस्तेमाल होता है. अफगानिस्तान से ईरान के रास्ते यह नशे की खेप गुजरात, तमिलनाडु या मुंबई भेजी जाती है. वहां से सड़क के रास्ते अलग-अलग राज्यों में इसे पहुंचाया जाता है. अफगानिस्तान से पाकिस्तान के रास्ते भी हेरोइन आती है, लेकिन बॉर्डर पर सख्ती के चलते इसमें कमी देखने को मिल रही है.

उन्होंने बताया कि इसके अलावा एक रिवर्स रूट भी देखने को मिल रहा है. इसमें अफगानिस्तान से पाकिस्तान होते हुए ड्रग्स को दक्षिण अफ्रीका के मोजाम्बिया में भेजा जाता है. वहां से पार्सल के माध्यम से हेरोइन को भारत में भेजा जाता है.

केपीएस मल्होत्रा ने बताया कि पिछले कुछ समय से देखा गया है कि तस्कर प्योर हेरोइन की जगह कच्ची हेरोइन को भारत भेज रहे हैं. यहां पर उसे प्योर फॉर्म में तब्दील करने के लिए केमिकल उपलब्ध हो जाता है. यह काम किसी जगह को किराए पर लेकर उनकी ओर से भेजे गए केमिकल एक्सपर्ट के जरिए किया जाता है.

भारत में केमिकल का बड़ा कारोबार है, जिसकी वजह से इनके लिए यहां ड्रग्स तैयार करना आसान हो जाता है. हाल के दिनों में ऐसी कई फैक्ट्री का पर्दाफाश दिल्ली पुलिस द्वारा किया गया है.

loading...

Check Also

बिहार में फिर से कातिल हुआ कोरोना, 5 दिनों बाद सामने आया मौत का आंकड़ा

पटना: बिहार में कोरोना (Corona In Bihar) की दूसरी लहर (second wave of corona) का ...