Saturday , September 18 2021
Breaking News
Home / क्राइम / मां-बहन को जहर का इंजेक्शन देकर मारने वाली डॉक्टर बोली- मेरे बिना वो कैसे जिंदा रहतीं?

मां-बहन को जहर का इंजेक्शन देकर मारने वाली डॉक्टर बोली- मेरे बिना वो कैसे जिंदा रहतीं?

बाईं ओर से मृतक मां मंजुलाबेन, टीचर बहन फाल्गुनी और दर्शना की फाइल फोटो।

गुजरात में सूरत के कतारगाम इलाके से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां रहने वाली एक महिला डॉक्टर ने छोटी बहन और मां को जहरीला इंजेक्शन देकर मार डाला और खुद नींद की 26 गोलियां खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। रविवार को सुबह भाई वैभव राखी बंधवाने के लिए मुंबई से सूरत आया तो मां और दोनों बहनों को बेहोश देखकर आनन-फानन में अस्पताल ले गया। जहां मां और छोटी बहन को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। जबकि डॉक्टर बहन का इलाज चल रहा है।

इलाज ले रही महिला डॉक्टर ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि वह जीवन से परेशान हो गई थी, इसीलिए उसने आत्महत्या की कोशिश की। लेकिन मां और बहन का मेरे बाद क्या होगा, वह उनसे बहुत प्रेम करती है, यह सोचकर उन्हें भी इंजेक्शन दे दिया, ताकि तीनों की मौत हो जाए। हालांकि मां और बहन की तो मौत हो गई, लेकिन डॉक्टर महिला बच गई। इस मामले में पुलिस ने दोनों शवों का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया है। जहां दोनों शवों का फोरेंसिक पीएम हुआ।

जानकारी के अनुसार कतारगाम धनमोरा इलाके में स्थित सहजानंद सोसाइटी में रहने वाली प्रजापति समाज की मंजुलाबेन कांतिलाल सोडांगर मूल पश्वी, जिला जामनगर की थीं। दो बेटियों में 30 वर्षीय डॉ. दर्शना और 28 वर्षीय टीचर फाल्गुनी के साथ सूरत में रहती थीं। मंजुला के पति कांतिलाल 20 साल से मुंबई में परिवार से अलग रहते हैं। वह रेडीमेड कपड़े का धंधा करते हैं। एक बेटा वैभव भी अपनी पत्नी के साथ मुंबई में रहता है और कैमरा, कंप्यूटर रिपेयरिंग का काम करता है। मंजुला बेटियों के साथ सूरत में रहती थीं।

सोते समय लगाया था इंजेक्शन
बड़ी बेटी डॉ. दर्शना बीएएमएस डॉक्टर है और रमण नगर में एक निजी होम्योपैथिक क्लीनिक चलाती है। छोटी बेटी फाल्गुनी वेड रोड स्थित विवेक विद्यालय में टीचर थी। शनिवार देर रात डॉ. दर्शना ने गहरी नींद में सो रही मां मंजुला और बहन फाल्गुनी को जहर का इंजेक्शन लगा दिया और खुद तड़के नींद की 26 गोलियां खा लीं थीं। प्राथमिक जांच में पता चला है कि दर्शना ने दोनों को मिडाजोलम नामक इंजेक्शन दिया था।

सुसाइड नोट में लिखा- मैं जिंदगी से परेशान हूं
पुलिस को डॉक्टर दर्शना के पास आत्महत्या से पहले लिखा गया सुसाइड नाेट मिला है। इसमें उसने जिक्र है किया है कि इस घटना के पीछे उनके भाई और भाभी जिम्मेदार नहीं हैं। दर्शना ने सुसाइड नोट में लिखा है कि मैं जिंदगी से परेशान हो गई हूं, मेरे पिता हमसे अलग रहते हैं। घर का भरण-पोषण करना मुश्किल हो रहा था। फिलहाल इस पूरे मामले में पुलिस गंभीरता से जांच कर रही है। सुसाइड नोट को कब्जे में लेकर पुलिस ने इसके आधार पर इस मामले की जांच शुरू की है।

डिस्चार्ज होने के बाद करेंगे गिरफ्तार
डॉ. दर्शना के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल उसका इलाज चल रहा है और हालत स्थिर बताई जा रही है। दो से तीन दिन में अस्पताल से छूटने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उसने हाथ-पांव में दर्द के नाम पर मां और बहन को इंजेक्शन दिया था और खुद 26 नींद की गोली खा ली थी।
-एए चौधरी, पुलिस इंस्पेक्टर, चौक बाजार

loading...

Check Also

Petrol Diesel Price: पेट्रोल-डीजल सस्ता हुआ या महंगा, फटाफट चेक करें अपने शहर में आज के नए रेट

यूपी में आज रविवार को पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel Price) के दाम जारी कर दिए गए ...