Saturday , November 27 2021
Home / उत्तर प्रदेश / मोदी बताए कि दो गज दूरी है बहुत जरूरी.. लेकिन ये होती है कितनी.. जानिए

मोदी बताए कि दो गज दूरी है बहुत जरूरी.. लेकिन ये होती है कितनी.. जानिए

‘दो गज दूरी, बहुत है जरूरी’, कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह मूलमंत्र है। वह कम से कम तीन मौकों पर यह मंत्र देशवासियों को बता चुके हैं। सोमवार को राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों संग बैठक में भी पीएम ने यह मंत्र दोहराया। उन्‍होंने कहा कि हमारा मकसद तेजी से रेस्‍पांस देने पर होना चाहिए और ‘दो गज दूरी’ के मंत्र को फॉलो करने की जरूरत है। एक दिन पहले, ‘मन की बात’ कार्यक्रम में भी पीएम ने दो गज दूरी की अहम‍ियत समझाई थी।

कितनी होती है दो गज दूरी?
‘गज’ लंबाई नापने का भारतीय पैमाना है। मुगलकाल में गज का प्रयोग शुरू हुआ। 17वीं सदी आते-आते भारत के कई हिस्‍सों में इससे भूमि के टुकड़े नापे जाने लगे। हालांकि तब इसका कोई मानक नहीं था। अलग-अलग राज्‍यों में अलग माप होती थी। 20वीं शताब्दी में अंग्रेजी सिस्टम के हिसाब से एक गज को एक यार्ड के बराबर कर दिया गया था। अब गज को अंग्रेजी में Yard ही कहते हैं। मगर दो गज आखिर कितना होता है? आइए जानते हैं

2 गज = 182.8 सेंटीमीटर (cm)
2 गज = 72 इंच (in)
2 गज = 6 फुट (ft)
2 गज = 1.82 मीटर (mtr)
2 गज = 0.00182 किलोमीटर (km)

बार-बार दोहरा रहे यही मंत्र
पिछले चार दिन में पीएम मोदी तीन बार यह मंत्र दोहरा चुके हैं। शुक्रवार को ग्राम पंचायत प्रमुखों संग मीटिंग में उन्‍होंने कहा था कि सोशल डिस्‍टेंसिंग के लिए गांवों में ‘दो गज दूरी’ का मंत्र बड़ा काम आ रहा है। उन्‍होंने कहा कि ग्रामीण भारत के दिए इस नारे से लोगों की बुद्धिमत्‍ता का पता चलता है। रविवार को ‘मन की बात’ के दौरान भी पीएम ने कहा, “सड़कों, रिहाइशी इलाकों और बाजारों में फिजिकल डिस्‍टेंसिंग मेंटेन करना अब जरूरी है। मैं उन नेताओं के प्रति आभार प्रकट करता हूं जो लोगों को दो गज दूरी मेंटेन करने के लिए जागरूक कर रहे हैं।”

जनता से क्‍या चाहते हैं पीएम
पीएम ने रविवार को कहा था कि ‘देश इस महामारी से लड़ने को प्रेरित है लेकिन इस दिशा में हमें कुछ कुरीतियों का परित्याग करना होगा।’ उन्‍होंने कहा कि ‘अब हमें थूकने की कुसंस्कृति से निजात पाना होगा क्योंकि यह हमेशा से बीमारी फैलाने का कारण रही है।’ पीएम के मुताबिक, असल में जनता कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रही है और इसमें सरकार उसका साथ दे रही है। उन्‍होंने कहा कि ‘भारत में कोरोना के खिलाफ लड़ाई पीपल-ड्रिवेन है।

‘कोरोना से लड़ाई में हर भारतीय एक सैनिक’
प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को कहा, “अपने आस-पास देखें, आप पाएंगे कि कैसे भारत ने कोरोना महामारी के खिलाफ एक जन-अभियान लड़ाई लड़ी है। कोविड-19 संक्रमण के खिलाफ भारत की यह लड़ाई लोगों द्वारा संचालित है। इस लड़ाई में हर भारतीय एक सैनिक है।” उन्‍होंने कहा, “भविष्य में जब भी इसके तौर-तरीकों पर बात की जाएगी, तो मुझे यकीन है कि भारत के लोगों द्वारा लड़ी गई इस लड़ाई पर निश्चित रूप से चर्चा होगी।”

loading...

Check Also

पेट्रोल-डीजल की कमी के बाद अब इस देश में अंडरवियर्स और पजामे की भारी किल्लत

लंदन (ईएमएस)।आपकों जानकार हैरानी होगी कि यूके में इन दिनों अंडरवियर्स और पजामे की भारी ...