Thursday , December 2 2021
Home / ऑफबीट / यत राजा तत प्रजा : ट्रंप बेवकूफाना सलाह दिए, लोग भरोसा किए, 30 जने लायसॉल-डेटॉल पी गए

यत राजा तत प्रजा : ट्रंप बेवकूफाना सलाह दिए, लोग भरोसा किए, 30 जने लायसॉल-डेटॉल पी गए

यत राजा तत प्रजा. जी हां, यही आज के अमेरिका का सच है. जितने बड़े मूर्ख अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हैं, उससे कम मूर्ख उनकी बात पर यकीन करने वाले लोग भी नहीं है. अब देखिए ट्रंप बोले थे कि रोगाणुनाशक या फिर अल्ट्रावायलेट किरणों से कोरोना संक्रमण का इलाज हो सकता है. और उनकी सलाह के 18 घंटे के भीतर ही सिर्फ न्यूयॉर्क में 30 ऐसे मूर्ख मिल गए हैं, जो ब्लीच या फिर घर में साफ़-सफाई के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला डेटॉल या लाइजॉल पी लिये. खास बात तो ये कि इस सबके बाद ट्रंप ने कहा है कि उन्होंने ये सभी बातें सिर्फ मज़ाक में कही थीं.

अमेरिकी मीडिया की खबरों के मुताबिक ट्रंप की सलाह के बाद न्यूयॉर्क में रोगाणुनाशक पीने के 30 से ज्यादा मामले सामने आए हैं. शहर के हेल्थ डिपार्टमेंट के अंतर्गत आने वाले जहर नियंत्रक केंद्र के पास इस तरह की घटनाओं की बीते 18 घंटों में 30 से ज्यादा कॉल्स आई हैं. हालांकि इनमें से किसी की भी न तो मौत हुई है न ही किसी को अस्पताल में एडमिट करने की ज़रूरत पड़ी है. इनमें से ज्यादातर मामले घर की साफ़-सफाई के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले लाइजॉल के सेवन से जुड़े हैं.

इसी कारण डेटॉल और लाइजॉल बनाने वाली कंपनी रेकिट बेनक्सिर ने बयान जारी कर लोगों से कहा है कि ऐसी कोई रिसर्च सामने नहीं आई है जिसमें ये दावा किया गया हो कि उनके प्रोडक्ट कोरोना के इलाज में सहायक है. कंपनी ने लोगों से कहा- ‘कृपया इन्हें न पीयें, ये सेहत के लिए काफी खतरनाक हैं, इनसे मौत भी हो सकती है.’ रेकिट बेनक्सिर ने कहा कि प्रेसिडेंट ट्रंप के बयान के बाद सोशल मीडिया पर भ्रामक ख़बरें फैलाई जा रही हैं, ये सभी गलत हैं.

उधर ट्रंप ने कहा है कि ये सभी गंभीर बातें नहीं थीं वो सिर्फ पत्रकारों के साथ मजाक कर रहे थे. शुक्रवार को जब ट्रंप से उनकी टिप्प्णी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘मैं आप जैसे संवाददाताओं से मजाक में सवाल पूछ रहा था बस यह देखने के लिए कि क्या होता है.’ ट्रंप ने कहा कि वह ऐसे रोगाणुनाशक के बारे में पूछ रहे थे जिसे सुरक्षित तरीके से लोग अपने हाथों पर मल सकें.

loading...

Check Also

क्या 7 दिन बाद MP में हो जाएगा अंधेरा ! रोजाना 68 हजार मीट्रिक टन खपत, सतपुड़ा पावर प्लांट के पास 7 दिन का स्टॉक

मध्य प्रदेश में कोयले का संकट गहराने लगा है. बात करें बैतूल के सतपुड़ा पावर ...