यूक्रेन से जंग के बीच पुतिन का बड़ा बयान- युद्ध खत्म करना चाहते हैं रूसी राष्ट्रपति

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग को 300 दिन से ज्यादा हो गए हैं। दोनों देशों के बीच जारी जंग फिलहाल खत्म होती नहीं दिख रही है। हाल ही में यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की अमेरिका की यात्रा पर गए, जहाँ अमेरिका ने उन्हें 1.85 बिलियन डॉलर की आर्थिक सहायता दी है। हालांकि रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने बड़ा बयान दिया है।

पुतिन ने कहा कि वह यूक्रेन के साथ लंबे समय से चल रहे युद्ध को खत्म करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि उनका लक्ष्य सैन्य संघर्ष को जारी रखना नहीं है बल्कि इसके विपरीत वे युद्ध को समाप्त करना चाहते हैं। पुतिन ने कहा कि वह युद्ध को खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं और कोशिश करते रहेंगे। सशस्त्र युद्ध को केवल कूटनीतिक वार्ताओं के माध्यम से ही समाप्त किया जा सकता है।

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान, पुतिन ने यूक्रेन को अमेरिकी पैट्रियट रक्षा प्रणाली की आपूर्ति के बारे में बात की। उन्होंने कहा कि अमेरिका यूक्रेन को एयर डिफेंस सिस्टम की आपूर्ति कर रहा है। यह अमेरिका का पुराना हथियार तंत्र है और रूस इसका मुकाबला करने में सक्षम है। रूस के पास इसका मुकाबला करने के लिए एस-300 सिस्टम है।

हाल ही में नाटो समूह के प्रमुख और महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने रूस-यूक्रेन युद्ध पर कहा कि नाटो पीछे हटने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि इस युद्ध के शांतिपूर्ण समाधान की संभावनाओं को बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका है कि हम यूक्रेन की मदद करना जारी रखें। रूस का यूक्रेन के ऊर्जा ढांचे पर हमला जारी है।

बता दें कि उसने 24 फरवरी को अपने पड़ोसी देश यूक्रेन पर हमला किया था। इस युद्ध ने पिछले 10 महीनों में हजारों लोगों की जान ले ली है। यूक्रेनी राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने कहा कि रूस को द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से यूरोप के सबसे बड़े संघर्ष को समाप्त करने की दिशा में एक कदम उठाना चाहिए और क्रिसमस से यूक्रेन से अपने सैनिकों को वापस लेना शुरू करना चाहिए। रूस ने सेना की वापसी के ज़ेलेंस्की के आह्वान को खारिज कर दिया है और कीव को नई क्षेत्रीय वास्तविकताओं को स्वीकार करने के लिए तैयार रहने को कहा है।