Monday , September 20 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी: ‘जबरिया रिटायर्ड´ IPS अमिताभ ठाकुर पर रंगदारी मांगने का आरोप, समझें पूरा मामला

यूपी: ‘जबरिया रिटायर्ड´ IPS अमिताभ ठाकुर पर रंगदारी मांगने का आरोप, समझें पूरा मामला

वाराणसी के अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की कोर्ट में पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर समेत 10 के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए बुधवार को प्रार्थना पत्र दिया गया। शिकायतकर्ता सराय गोबर्धन निवासी विकास सिंह का आरोप है कि उससे 50 लाख रुपए की रंगदारी मांगी गई। रंगदारी नहीं देने पर हत्या कराने की धमकी दी गई है। इसलिए मुकदमा दर्ज कर विवेचना कराए जाने का अदालत से अनुरोध किया गया है। अदालत ने सीआरपीसी की धारा 156-3 के तहत विकास सिंह के अधिवक्ता देशरत्न श्रीवास्तव की तरफ से दिए गए प्रार्थना पत्र पर चेतगंज थाने से 6 अगस्त को रिपोर्ट तलब की है।

पुलिस नहीं सुनी तो कोर्ट की शरण में आया

विकास सिंह के अनुसार वह नीलगिरी इंफ्रासिटी कंपनी का डायरेक्टर है। उसकी कंपनी जमीन के क्रय-विक्रय का कारोबार करती है। रुपए की आवश्यकता पड़ने पर उसने कई लोगों से ब्याज पर पैसा लिया जिसमें से ज्यादातर लोगों का कुछ पैसा वापस कर चुका है। आरोप है पूर्व IPS ने पैसा देने वाले 9 लोगों को अपनी साजिश में लेकर 50 लाख रुपए की मांग की। पैसा नहीं देने पर फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी दी।

ऑफिस में घुसकर तोड़फोड़ करने का भी आरोप

आरोप है कि बीती 26 जुलाई को मलदहिया स्थित उसके ऑफिस में सभी आरोपी घुस गए। 50 लाख की मांग करते हुए तोड़फोड़ की। पैसा न देने पर सभी ने जान से मारने की धमकी दी। ऑफिस के कर्मचारियों द्वारा पुलिस को सूचना देने पर सभी भग गए। रजिस्टर्ड डाक से पुलिस आयुक्त को सूचित किए जाने पर भी जब कार्रवाई नहीं हुई तब उसने अदालत में प्रार्थना पत्र दाखिल किया। प्रार्थना पत्र में अमिताभ ठाकुर के अलावा चंदन चौरसिया, मंजूषा, संजीव कुमार, सत्यप्रकाश, दिनेश चंद्र, अजय प्रसाद सिंह, दयानंद, दीपांशु शर्मा और चेतलाल शाहू को पक्षकार बनाया गया है।

ठाकुर दंपति ने हाल ही में की थी शिकायत

विकास सिंह के खिलाफ बीते महीने में पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी सोशल एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने वाराणसी के पुलिस कमिश्नर से शिकायत की थी। ठाकुर दंपति का आरोप है कि जमीन में निवेश करवाकर मुनाफा कमाने के नाम पर विकास कई लोगों को लाखों की चपत लगा चुका है। जिन्होंने विकास की कंपनी में निवेश किया था अब वो पैसा मांगते हैं तो उनके साथ बदसलूकी और मारपीट की जाती है।

विकास के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अन्य आरोपों में चेतगंज सहित अन्य थानों में मुकदमे भी दर्ज हैं। अदालत में दिए गए प्रार्थना पत्र में विकास ने पूर्व IPS के अलावा जिन अन्य 9 लोगों को आरोपी बनाया है, उनकी तहरीर के आधार पर उसके और उसकी पत्नी ऋतु के खिलाफ बीती 26 जुलाई को चेतगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था।

जो भी ठगे गए हों हमसे संपर्क करें

अमिताभ ठाकुर ने कहा कि वाराणसी पुलिस द्वारा असहाय निवेशकों का मुकदमा दर्ज करने के बाद नीलगिरी कंपनी द्वारा उन पर 50 लाख की रंगदारी मांगने का झूठा आरोप लगाया गया है। साथ ही कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया गया। वह न सिर्फ इन लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे बल्कि कंपनी द्वारा ठगे गए सभी निवेशकों की पूरी सहायता करते हुए उन्हें न्याय भी दिलाएंगे। ताकि उनका पूरा पैसा वापस हो सके। उन्होंने कहा कि जो भी व्यक्ति इस कंपनी द्वारा ठगा गया है, वह उनसे इस संबंध में संपर्क कर सकता है।

loading...

Check Also

टेलीकॉम सेक्टर में सुधार के लिए क्रांतिकारी कदम उठाई मोदी सरकार, जानें पूरा फैसला

मोदी सरकार ने भारत की एक बड़ी चुनौती का समाधान करना शुरू कर दिया है। ...