Monday , October 18 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी में कितना रह गया कोरोना? कितने नए मरीज और क्लीन है कौन सा जिला?

यूपी में कितना रह गया कोरोना? कितने नए मरीज और क्लीन है कौन सा जिला?

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस (corona virus) से संक्रमित मरीजों की संख्या के ग्राफ में उठापटक चल रही है. पिछले 24 घंटे में 28 मरीजों में वायरस पाया गया, जबकि गुरुवार को प्रदेश में कोविड (Covid) के महज 11 नए मामले ही सामने आए थे. इस प्रकार से अब 189 एक्टिव केस बचे हैं. जिनका इलाज किया जा रहा है. प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 24 मरीज ठीक होकर घर लौटे हैं. वहीं, शुक्रवार को प्रदेश में सबसे अधिक 10 करोड़ वैक्सीन की डोज लगाने (10 crore people got vaccinated) का रिकॉर्ड बना.

शुक्रवार को एक्टिव केस 189 रह गए. मरीजों का यह आंकड़ा गत मार्च का रहा. वहीं तीसरी लहर से निपटने की तैयारी जारी है. अस्पतालों में 411 ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो गए हैं. इनके संचालन के लिए आईटीआई पास कर्मी तैनात किए जा रहे हैं. वहीं 56 हजार से अधिक आईसोलेशन बेड, 18 हजार आईसीयू बेड, 6700 पीकू-नीकू बेड तैयार हो गए हैं.

30 जिले कोरोना मुक्त

शुक्रवार को प्रदेश के 63 के करीब जिलों के 24 घंटे में कोई केस नहीं मिला. अब 30 जनपद करोना मुक्त हो गए हैं. यह जिले अमरोहा, औरैया, अयोध्या, आजमगढ़ बागपत, बलिया, बांदा, बहराइच, भदोही, बिजनौर, फर्रुखाबाद, गोंडा, हमीरपुर, हापुड़, हाथरस, कानपुर देहात, कासगंज, महोबा, मऊ , मिर्जापुर , मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर, पीलीभीत, रामपुर, सहारनपुर, संत कबीर नगर, शामली, श्रावस्ती, सीतापुर और सुलतानपुर हैं.

जिन राज्यों में साप्ताहिक संक्रमण दर 3 फीसद तक है. वहां से आने वाले लोगों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य है. इसके अलावा यदि वैक्सीन की दोनों डोज का प्रमाणपत्र है तो जांच की जरूरत नहीं है. मगर, बाहर से आने पर सात दिन क्वारन्टीन की सलाह दी गई है. इसमें मेघालय, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, महाराष्ट्र,गोवा, उड़ीसा, आंध्रप्रदेश, मिजोरम और केरल आदि हैं.

मरीजों की कुल पॉजिटीविटी रेट 2.27 रह गई है. इसके अलावा राज्य में दैनिक पॉजिटीविटी रेट 0.01 फीसद से कम हो गई है. वहीं मृत्युदर अभी 1 फीसद पर बनी हुई है. जून में प्रदेश में संक्रमण दर का औसत 1 फीसद रहा, जबकि जुलाई में 0.3 फीसद पॉजिटीविटी रेट की गई. 30 अप्रैल को यूपी में सर्वाधिक एक्टिव केस 3 लाख 10 हजार 783 रहे. अब यह संख्या 191 रह गई. वहीं रिकवरी रेट मार्च में जहां 98.2 फीसद थी. अप्रैल में घटकर 76 फीसद तक पहुंच गई. वर्तमान में फिर रिकवरी रेट 98.7 फीसद हो गई है.

शुक्रवार को प्रदेश में सबसे अधिक 10 करोड़ वैक्सीन की डोज लगाने का रिकॉर्ड बना. ये महाभियान 27 सितम्बर तक चलेगा. इसमें मौके पर ही पंजीकरण कर कोरोना से बचाव का टीका लगाया जाएगा. अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल के मुताबिक, प्रदेश में शुक्रवार को 5 हजार 843 बूथ बनाए गए. इसमें 5,730 सरकारी व 113 प्राइवेट बूथ रहे. इन पर शाम तक 8 लाख से अधिक डोज लगाई गईं. ऐसे में कुल वैक्सीनेशन का ग्राफ 10 करोड़ पार हो गया है. यह देश में सर्वाधिक है.

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...