Thursday , October 21 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी विधानसभा चुनाव 2022 : अखिलेश यादव ने एक पूरी पार्टी का ही कराया सपा में विलय

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 : अखिलेश यादव ने एक पूरी पार्टी का ही कराया सपा में विलय

नई दिल्ली  । विधानसभा चुनाव की आहट तेज होने के साथ ही समाजवादी पार्टी में दूसरे दलों के तमाम नेताओं के पार्टी में शामिल होने का सिलसिला भी जोर पकड़ रहा है। छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश व यूपी के कुछ हिस्सों में आदिवासी समुदाय में प्रभाव रखने वाली गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने अगले विधानसभा चुनाव में सपा का साथ देने का ऐलान किया है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजदूगी में कई नेताओं ने सपा की सदस्यता ली। जन परिवर्तन दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी धनगर ने अपनी पार्टी का सपा में विलय का ऐलान किया। बुंदेलखंड से विधायक रह चुके गयादीन अनुरागी व विनोद चतुर्वेदी कांग्रेस छोड़ कर सपा में शामिल हो गए। कांग्रेस की महोबा जिला कमेटी के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी सपा का दामन थाम लिया।

पूर्व सांसद रिजवान जहीर व उनकी बेटी जेबा रिजवान भी सपा में शामिल हो गए। विमुक्त जाति जागरण समिति के प्रदीप वर्मा, जिला अध्यक्ष, पिछड़ा वर्ग मोर्चा, भाजपा हरदोई अरुण कुमार मौर्य ने भी सपा की सदस्यता ले ली। समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि जनता व सपा अब भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए पूरी तरह तैयार है। भाजपा ने जनता को धोखे के अलावा कुछ नहीं दिया है। अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेंस में यह बात कही। अखिलेश यादव ने कहा कि देश में शायद ही भाजपा जितना झूठ कोई नहीं बोलता होगा। सभी को पता है डीजल, पेट्रोल, खाद डीएपी महंगा हो गया है। फसल की कीमत नहीं मिल रही है, लेकिन भाजपा महंगाई की बात स्वीकार नहीं करती है। सरकार द्वारा किए जा रहे उद्घाटन, शिलान्यास सब धोखा है।

इस सरकार में किसानों गरीबों को लगातार अपमानित किया जा रहा है। सपा सरकार आने पर अत्याचार और अन्याय करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। अखिलेश यादव ने कहा कि गोरखपुर की घटना को लेकर यूपी में बहुत नाराजगी है। जो भाषा बीजेपी बोलती है, वही भाषा अधिकारियों की हो गई है। जिस पुलिस पर भरोसा है, उसी ने पीट-पीट कर हत्या कर दी। अखिलेश ने कहा कि चूंकि गोरखपुर के पुलिस कप्तान बीजेपी के रिश्तेदार हैं, इसलिए उन पर कार्रवाई नहीं हो रही है। बीजेपी सरकार ने जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों को फरार करा दिया। पंचायत चुनाव में इन ही अधिकारियों से सरकार ने भाजपा के पक्ष में बेईमानी कराई थी तो अब इन पर कार्रवाई सरकार क्यों करेगी, इसलिए इन्हें फरार करा दिया।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जिस पुलिस पर लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी है, वहीं पुलिस अन्याय, अत्याचार, वसूली और हत्या कर रही है। इसी तरह की एक घटना अमेरिका में हुई थी तो लोग सरकार के खिलाफ खड़े हो गए थे। भाजपा सरकार ने ऐसी स्थिति बना दी है कि आप होटल के कमरे में, घर में सो रहे हों। पुलिस आएगी, दरवाजा खोलेगी और कमरे में घुस कर इतना मारेगी की जान चली जाएगी। जब सरकार ही गलत काम कराएगी तो उनकी गलतियों पर सजा कैसे देगी।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...