Sunday , August 1 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / ताजा आंकड़ा: योगी की सख्ती ने किया कमाल, यूपी से कोरोना हुआ एकदम साफ

ताजा आंकड़ा: योगी की सख्ती ने किया कमाल, यूपी से कोरोना हुआ एकदम साफ

लखनऊ: प्रदेश में कोरोना का संक्रमण चार माह पुरानी वाली स्थिति में आ गया है. मरीजों की संख्या में लगातार कमी आ रही है. मौतों में भी गिरावट आ रही है. वहीं तीसरी लहर का भी भय बना हुआ है. ऐसे में सरकारी अस्पतालों में जहां प्लांट जोरों पर लगाये जा रहे हैं. वहीं निजी अस्पतालों में भी व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए अलर्ट जारी कर दिया गया है.प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 2 लाख 28 हजार 444 के करीब टेस्ट किए गए. इस दौरान 120 लोगों में वायरस की पुष्टि हुई. साथ ही तीन मरीजों की वायरस से जान चली गई. मार्च के बाद सबसे कम मरीज मिल रहे हैं. वहीं 62 दिन से लगातार केस कम हो रहे हैं. एक दिन में 195 लोगों ने वायरस को हराने में सफलता पाई. वर्तमान में 2,181 एक्टिव केस रह गए हैं.

0.06 फीसद रही पॉजिटिविटी रेट
मरीजों की कुल पॉजिटिविटी रेट 3 फीसद घटकर 2.89 रह गई है. इसके अलावा 24 घण्टे में राज्य में पॉजिटिविटी रेट 0.06 फीसद है. वहीं मृत्युदर अभी 1 फीसद पर बनी हुई है. जून में प्रदेश में संक्रमण दर का औसत 1 फीसद रहा.

98.5 फीसद पर रिकवरी रेट
30 अप्रैल को यूपी में सर्वाधिक एक्टिव केस 3 लाख 10 हजार 783 रहे. अब यह संख्या घटकर तीन हजार से नीचे आ गई है. वहीं रिकवरी रेट मार्च में जहां 98.2 फीसद थी. अप्रैल में घटकर 76 फीसद तक पहुंच गई. वर्तमान में फिर रिकवरी रेट 98.5 फीसद हो गई है.

35 जनपदों में दस से कम मिले, 38 जिलों में शून्य
राज्य के 38 जिलों में कोरोना के केस शून्य रहे. 35 जनपदों में 10 से कम मरीज रहे. 2 जनपदों में डबल डिजिट में मरीज रिकॉर्ड किए गए. वहीं लखनऊ में 16 व प्रयागराज में 17 केस मिले. वहीं इनमें मरीजों की मौत शून्य रहीं.

50 से अधिक बेड वाले अस्पताल लगवाएं ऑक्सीजन प्लांट
अपर मुख्य सचिव सूचना अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक तीसरी लहर का खतरा बना हुआ है. ऐसे में निजी अस्पतालों को भी ऑक्सीजन व्यवस्था दुरुस्त करनी होगी. इसमें 50 से अधिक बेड वाले निजी अस्पताल ऑक्सीजन जनरेटर प्लांट लगवाएं. वहीं 50 बेड से कम वाले अस्पताल ऑक्सीजन कन्संट्रेटर व ऑक्सीजन सिलिंडर की व्यवस्था कर ऑक्सीजन का स्टॉक मेनटेन रखें.

80 फीसद डेल्टा वैरिएंट मिला
यूपी में 550 सैम्पल की जीन सिक्वेंसिंग कराई गई. इन सैम्पल की जांच आईजीआईबी दिल्ली में हुई. इसमें किसी में डेल्टा प्लस की पुष्टि नहीं हुई. हालांकि 80 फीसद केस डेल्टा वैरिएंट के मिले. यूपी में दूसरी लहर में कोरोना के डेल्टा वैरिएंट का कहर रहा. वहीं डेल्टा प्लस का खतरा बना हुआ है. इसको लेकर अलर्ट जारी किया गया है.

43 हजार 890 में हाईलेवल एन्टीबॉडी
यूपी में सीरो सर्वे के तहत 62,500 सैंपल का टेस्ट कराया गया, जिसमें 43 हजार 890 में हाई लेवल एन्टीबॉडी मिली. इस सर्वे में सैम्पल का रेशियो मानकर चलें तो मार्च 2020 से 2021 तक प्रदेश में करीब 6 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हुए. इसके अलावा अप्रैल 2021 से 29 जून 2021 तक करीब 11 लाख संक्रमित हुए. इसमें से 70 फीसद में हाई लेवल एन्टीबॉडी मिली.

loading...

Check Also

उत्तराखंड में भी कल से खुलेंगे स्कूल, पैरेंट्स पढ़ लें गाइडलाइंस

देहरादून :  कोरोना महामारी के चलते स्कूल काफी समय से बंद हैं। अब राज्य सरकार ...